The Lallantop
Advertisement

दिल्ली में आप और कांग्रेस के बीच सीट शेयरिंग पर क्या पता चला?

Lok Sabha Election 2024 पर दिल्ली में AAP और Congress के बीच सीट शेयरिंग पर अपडेट आया है. Aam Aadmi Party ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान इस पर बात की.

Advertisement
Arvind Kejriwal and Rahul Gandhi
दिल्ली सीट शेयरिंग पर आप ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की(फोटो: आजतक)
13 फ़रवरी 2024
Updated: 13 फ़रवरी 2024 15:27 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

लोकसभा चुनावों में BJP और पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की सत्ता को चुनौती देने के कांग्रेस की कोशिशों को एक बार फिर झटका लगा है. आम आदमी पार्टी(Aam Admi Party) सांसद संदीप पाठक ने संकेत दिया है कि पार्टी कांग्रेस को एक से ज्यादा सीट नहीं देगी. सिर्फ इतना ही नहीं मीडिया से बातचीत के दौरान आप सांसद ने तो यहां तक कह दिया कि-

'कांग्रेस दिल्ली में एक भी सीट पर चुनाव लड़ने के योग्य नहीं है.'  

कांग्रेस को कितनी सीटें?

न्यूज एजेंसी ANI की रिपोर्ट के मुताबिक, संदीप पाठक ने आगामी 2024 लोकसभा चुनावों को लेकर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इस दौरान उन्होंने गठबंधन के तहत दिल्ली लोकसभा सीटों की शेयरिंग पर बात की. बातचीत के दौरान उन्होंने कहा,

'दिल्ली के चुनाव में आपने देखा होगा कांग्रेस पार्टी की एक भी सीट नहीं है. विधानसभा चुनाव में भी कांग्रेस की एक भी सीट नहीं आई थी. MCD चुनाव में कांग्रेस की 250 में से 9 सीटें आई थी. अगर मेरिट बेसिस पर आंकड़ों को देखें तो कांग्रेस पार्टी की एक भी सीट नहीं बनती है. लेकिन सिर्फ डेटा जरूरी नहीं है. जो गठबंधन का धर्म है, गठबंधन और कांग्रेस पार्टी का मान रखते हुए हम उन्हें एक सीट ऑफर करते हैं. हमारा प्रपोजल ये है कि कांग्रेस पार्टी एक सीट पर चुनाव लड़े और बाकी सीटों पर आम आदमी पार्टी चुनाव लड़ेगी. आज हम प्रत्याशियों की घोषणा नहीं कर रहे हैं. मैं उम्मीद करता हूं कि दिल्ली के परिपेक्ष में बातचीत शुरू हो. और अगर बातचीत का कोई नतीजा नहीं निकलता है तो अगले कुछ दिनों में हम उम्मीदवारों की घोषणा करेंगे.'

पंजाब में सीट शेयरिंग इशारा दिया!

इससे पहले 24 जनवरी को पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने भी इशारा किया था कि आम आदमी पार्टी पंजाब की 13 सीटों पर अकेले चुनाव लड़ सकती है. एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान भगवंत मान ने कहा था कि उन्हें 40 संभावित उम्मीदवारों की सूची मिली थी. इसमें से 13 लोगों के चुने जाने की बात उन्होंने कही थी.

 बताया था कि वो उनका सर्वे कराएंगे और जीतने की योग्यता के मुताबिक टिकट देंगे.

ये भी पढ़ें: भगवंत मान ने 'INDIA' को 'नो' बोल दिया, कहा - 'सभी सीटों पर अकेले लड़ेंगे'

बता दें कि पंजाब में 13 लोकसभा सीटें हैं. छह सांसद कांग्रेस के हैं और AAP का केवल एक सांसद है, जालंधर से सुशील कुमार रिंकू. ये सीट कांग्रेस सांसद संतोख चौधरी के निधन के बाद सीट खाली हुई थी, इसके बाद हुए लोकसभा उपचुनाव में सुशील ने सीट अपने नाम की थी.

वीडियो: दी लल्लनटॉप शो: रेलवे वैकेंसी ALP प्रोटेस्ट, सीटें बढ़ने को लेकर क्यों भड़के छात्र?

thumbnail

Advertisement