The Lallantop
Advertisement

लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को एक और झटका, झारखंड से एकमात्र सांसद बीजेपी में चली गईं

26 फरवरी को बीजेपी प्रदेश कार्यालय की चौखट पर पहुंचते ही सांसद गीता कोड़ा ने कांग्रेस पर एक के बाद एक कई आरोप लगाए. आरोप तुष्टिकरण का, आरोप फीडबैक नहीं लेने का और आरोप परिवारवाद का.

Advertisement
congress lone mp in jharkhand geeta koda jons bjp
कांग्रेस छोड़कर गीता कोड़ा बीजेपी में शामिल. (तस्वीर- PTI)
26 फ़रवरी 2024
Updated: 26 फ़रवरी 2024 21:00 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

झारखंड में कांग्रेस की एकमात्र सांसद गीता कोड़ा ने पार्टी छोड़ दी. 26 फरवरी को गीता बीजेपी (Geeta Koda joins bjp) में शामिल हो गईं. बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अमर बाउरी की मौजूदगी में गीता ने पार्टी का दामन थामा. गीता कोड़ा पश्चिमी सिंहभूम जिले की चाईबासा लोकसभा सीट से सांसद हैं. इसके अलावा गीता का एक और परिचय है. वे राज्य के पांचवें मुख्यमंत्री और भ्रष्टाचार के आरोप में जेल जा चुके मधु कोड़ा की पत्नी हैं.

गीता ने पार्टी छोड़ते ही कांग्रेस पर तुष्टिकरण करने का आरोप लगाया. और बीजेपी को जनहित के मुद्दों पर काम करने वाली पार्टी बताया है.

कांग्रेस पर बैक टू बैक कई आरोप लगाए

गीता कोड़ा पहली बार 2019 में कांग्रेस से सांसद बनी थीं. लेकिन 26 फरवरी को बीजेपी प्रदेश कार्यालय की चौखट पर पहुंचते ही उन्होंने कांग्रेस पर एक के बाद एक कई आरोप लगाए. आरोप तुष्टिकरण का, आरोप फीडबैक नहीं लेने का और आरोप परिवारवाद का.

आजतक से बातचीत करते हुए गीता ने कहा कि कांग्रेस के शीर्ष नेताओं से मिलना चुने हुए नेताओं के लिए भी बेहद मुश्किलों से भरा काम है. कोड़ा ने अपनी बात को साफ समझाते हुए कहा,

“अगर कोई सांसद कांग्रेस के शीर्ष नेताओं से मिलने का प्रयास करे तो कई लेवल पर पहले उनका नाम का स्कैन होता है. ऐसे में जनता से जुड़े मुद्दे उठाना कैसे संभव है?”

इसके साथ उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी की तारीफों के पुल भी बांधे. पीएम मोदी को दुनिया का सबसे लोकप्रिय नेता बताते हुए कोड़ा ने कहा, 

“भाजपा देश की सबसे लोकप्रिय पार्टी है. पार्टी के नेता जनता की भलाई का कार्य कर सकते हैं. विश्व में सबसे लोकप्रिय नेता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी महिलाओं से लेकर हर समूह वर्ग का काम करते हैं.”

कोड़ा के बीजेपी में शामिल होने के बाद बाबूलाल मरांडी का मानना है कि पार्टी की स्थिति क्षेत्र में मजबूत होगी. मरांडी ने कहा, 

"गीता के बीजेपी में शामिल होने से कोल्हान में पार्टी की स्थिति मजबूत हुई है. कांग्रेस ने मधु कोड़ा में से मधु निकाल लिया और उन्हें कोड़ा खाने के लिए छोड़ दिया.”

पिछले लोकसभा चुनाव में झारखंड की 14 सीटों में कांग्रेस सिर्फ चाईबासा सीट ही जीत पाई थी. एक सीट जेएमएम के हिस्से आई थी. वहीं बीजेपी गठबंधन को 12 सीटों पर जीत मिली थी.

क्या चाईबासा से बनेंगी उम्मीदवार?

इस सवाल का जवाब तो जनता को आने वाले दिनों में पता चल जाएगा. लेकिन इसकी सुगबुगाहट काफी तेज़ है. आजतक की रिपोर्ट की मानें तो अमित शाह पिछले साल जब जनवरी में चाईबासा आए थे तभी गीता कोड़ा के बीजेपी में आने की चर्चा तेज़ हो गई थी. गीता एक बार सांसद रहने के अलावा दो बार की विधायक भी रह चुकी हैं. उन्हें झारखंड की सबसे कम उम्र की विधायक बनने का भी गौरव प्राप्त है.

वीडियो: पड़ताल: अयोध्या राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा के बाद क्या बुर्ज खलीफ पर राम की तस्वीर बनाई गई?

thumbnail

Advertisement

election-iconचुनाव यात्रा
और देखे

Advertisement

Advertisement