The Lallantop
Advertisement

"नशा करता है, लड़की को मारा"- अतीक की हत्या के आरोपी लवलेश के पिता-भाई ने क्या बताया?

लवलेश के पिता ने कहा कि परिवार का उससे कोई लेना देना नहीं है.

Advertisement
Atique Ahmed Ashraf Murder Lavlesh Tiwari Father Prayagraj Sunny Arun Maurya
लवलेश तिवारी के पिता ने मीडिया को दिया बयान. (फोटो: आजतक)
16 अप्रैल 2023 (Updated: 16 अप्रैल 2023, 09:54 IST)
Updated: 16 अप्रैल 2023 09:54 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

गैंगस्टर अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ (Atique Ahmed Ashraf Murder) की 15 अप्रैल को गोली मारकर हत्या कर दी गई. इस मामले में तीन आरोपियों के नाम सामने आए हैं. लवलेश तिवारी (Lavlesh Tiwari), अरुण मौर्य और सनी. आरोपी लवलेश तिवारी बांदा का रहने वाला है. अब मामले में लवलेश के पिता ‘यज्ञ कुमार’ का बयान आया है.

लवलेश तिवारी के पिता का कहना है कि उनका अपने बेटे से कोई लेना देना नहीं हैं. उन्होंने मीडिया को बताया,  

“घटना के बारे में कल टीवी पर देखकर पता चला. हमें कोई जानकारी नहीं है और ना ही उससे कोई मतलब है. लवलेश घर में नहीं रहता था. वो 5-6 दिन में एक बार घर आता था और सिर्फ नहा धोकर निकल जाता था. घर में उसकी किसी से कोई बात नहीं होती थी.”

लवलेश के पिता ने ये भी बताया कि एक वो एक लड़की को सरेआम थप्पड़ मार चुका है और इसके लिए जेल भी जा चुका है. उन्होंने आगे बताया,

“पूरा मोहल्ला बता सकता है कि हमने सालों से उससे बात नहीं की. जबसे उसने एक लड़की को थप्पड़ को मार दिया था. उसका केस भी चल रहा है. वो जेल भी गया था. साल-डेढ़ साल पहले जमानत पर छूटकर आया था.”

लवलेश के पिता ने ये भी बताया कि उसे नशे की लत है. उन्होंने कहा,

“वो कुछ नहीं करता सिर्फ नशे करता है, इसलिए घर वालों ने त्याग दिया है. हमें उसके प्रयागराज आने-जाने की कोई खबर नहीं थी. वो क्या करता था, किससे मिलता था उन्हें नहीं पता. जब हमारी कोई बात ही नहीं थी तो आपको क्या बता दें.”

इधर लवलेश के छोटे भाई वेद कुमार तिवारी का भी बयान सामने आया है. वेद ने बताया,

“लवलेश मेरे सगे बड़े भाई हैं. वो बांदा में ही रहते थे. लेकिन कब घर आते थे, कब जाते थे हमें कुछ नहीं पता होता था. हम पूछते भी थे तो वो कभी कुछ नहीं बताते थे. पिछली बार हफ्ता भर पहले घर आए थे.”

वेद ने बताया कि लवलेश बजरंग दल से जुड़ा था, हालांकि 6 साल पहले उसने बजरंग दल छोड़ दिया था. 

इससे पहले, 15 अप्रैल की रात लगभग साढ़े 10 बजे गैंगस्टर अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ की सरेआम हत्या कर दी गई. पुलिस दोनों को मेडिकल के बाद ले जा रही थी. हत्या से ठीक पहले दोनों मीडिया से बात कर रहे थे. इसी दौरान लवलेश सहित तीन आरोपियों ने दोनों पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसा दीं. अतीक और अशरफ की मौके पर ही मौत हो गई.  पुलिस ने तीनों आरोपियों को मौके पर ही दबोच लिया. ये आरोपी हत्या के बाद धार्मिक नारे लगा रहे थे. 

वीडियो: अतीक अहमद और अशरफ की हत्या, फिर वारदात वाली जगह पर लगाए जय श्रीराम के नारे

thumbnail

Advertisement

Advertisement

Advertisement