The Lallantop
Advertisement

"राष्ट्रपति से माफी मांगूंगा, लेकिन इन पाखंडियों से नहीं" - अधीर रंजन चौधरी का नया बयान

"मैं व्यक्तिगत रूप से उनसे मिलूंगा और माफी मांगूंगा. वे चाहें तो मुझे फांसी दे सकते हैं. लेकिन सोनिया को क्यों घसीटा जा रहा है?"

Advertisement
adhir ranjan chaudhary
दाएं- अधीर रंजन चौधरी, बाएं- द्रौपदी मर्मू (फाइल फोटो- आजतक)
28 जुलाई 2022 (Updated: 28 जुलाई 2022, 15:54 IST)
Updated: 28 जुलाई 2022 15:54 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू (Draupadi Murmu) पर की गई विवादित टिप्पणी पर अब अधीर रंजन चौधरी (Adhir Ranjan Chaudhary) सीधे राष्ट्रपति से माफी मांगने को तैयार हो गए हैं. कांग्रेस के लोकसभा में नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा है कि वे राष्ट्रपति मुर्मू से माफी मांगेंगे लेकिन पाखंडियों से माफी नहीं मांगेंगे. दरअसल अधीर रंजन चौधरी ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को 'राष्ट्रपत्नी' बोल दिया था. उनके बयान को लेकर जमकर विवाद हो रहा है.

अपने बयान पर सफाई देते हुए अधीर रंजन ने कहा,

“मैं राष्ट्रपति का अपमान करने के बारे में सोच भी नहीं सकता. यह सिर्फ एक गलती थी. अगर राष्ट्रपति को बुरा लगा, तो मैं व्यक्तिगत रूप से उनसे मिलूंगा और माफी मांगूंगा. वे चाहें तो मुझे फांसी दे सकते हैं. मैं सजा पाने के लिए तैयार हूं लेकिन सोनिया गांधी को इसमें क्यों घसीटा जा रहा है? मैं बंगाली हूं. मेरी हिंदी अच्छी नहीं है. मुझे संसद में बोलकर स्पष्टीकरण देने दीजिए.” 

अधीर रंजन ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा,

“मैंने राष्ट्रपति से मिलकर माफी मांगने के लिए समय मांगा था. लेकिन बीजेपी सोनिया गांधी पर निशाना क्यों साध रही है? मैं बीजेपी को चुनौती देता हूं कि आगे आकर मुझे लड़े. हमारी नेता, जो महिला हैं, उन्हें टारगेट न करें. मैं फिर कह रहा हूं कि गलती हुई है.”

उन्होंने आगे कहा- 

कुछ कहना है. मुझे भी बोलने का मौका दिया करो. मैं चुनौती दे रहा हूं इन पाखंडियों को. मौडम सोनिया गांधी को लेकर चुनाव में क्या बोला जाता है. शशि थरूर की पत्नी के लिए क्या कहा गया. याद करो एक एक कर के. मैं राष्ट्रपति मुर्मू से माफी मांगूंगा लेकिन इन पाखंडियों से माफी नहीं मांगूंगा. महिला का अपमान करने में ये माहिर हैं. ये आदीवासियों के लिए आंसू बहाते हैं. मोदी जी के राज में सबसे बुरी हालत है आदिवासियों की. 

अधीर रंजन चौधरी ने इसके पहले कहा,

“हिंदुस्तान के राष्ट्रपति हमारे लिए राष्ट्रपति ही हैं. एक बात मुंह से निकल गई. जुबान फिसल गई. लेकिन बीजेपी राई का पहाड़ बना रही है.” 

बता दें गुरूवार, 28 जुलाई को लोकसभा में 12 बजे सदन के स्थगित होने के बाद बीजेपी के सांसद सोनिया गांधी इस्तीफा दो का नारा लगा रहे थे.  इस बीच सोनिया गांधी ने रमा देवी से कहा कि अधीर रंजन चौधरी ने माफी मांग ली है. इसी बीच वहां केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी पहुंच गई और उनकी सोनिया गांधी से बहस हो गई.

स्मृति ईरानी ने संसद में चर्चा के दौरान भी इस मुद्दे को उठाया. उन्होंने कहा-

कांग्रेस आदिवासी, गरीब और महिला विरोधी है. कांग्रेस ने सोनिया गांधी की अध्यक्षता में देश के सर्वोच्च संवैधानिक पद पर आसीन एक आदिवासी और गरीब परिवार की महिला का अनादर और उनकी गरीमा पर प्रहार करके संविधान को चोट पहुंचाने का काम किया है.

उन्होंने इस मामले में सोनिया गांधी से माफी की भी मांग की.

देखें वीडियो- संसद में भड़कीं स्मृति इरानी, अधीर रंजन चौधरी के बयान पर सोनिया गांधी से जवाब मांगा

thumbnail

Advertisement

Advertisement