The Lallantop
Advertisement

राज्यसभा की 10 सीटें खाली हो गई हैं, NDA और INDIA वाले बड़ी जुगाड़ में लग गए हैं!

मंत्रालयों का बंटवारा भी हो गया. और सबने अपने-अपने मंत्रालयों का कार्यभार भी संभाल लिया. लेकिन इन सबके बीच राज्यसभा की 10 सीटें खाली हो गई हैं.

Advertisement
Modi Government
राज्यसभा का गणित अब कैसे बदल जाएगा. (फाइल फोटो)
12 जून 2024
Updated: 12 जून 2024 14:47 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

देश में लोकसभा चुनाव हो गए. NDA ने 293 सीटें जीतकर सरकार भी बना ली. तीसरी बार नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री पद की शपथ ली. उनके अलावा 71 मंत्रियों ने भी शपथ ली. मंत्रालयों का बंटवारा भी हो गया. और सबने अपने-अपने मंत्रालयों का कार्यभार भी संभाल लिया. लेकिन इन सबके बीच राज्यसभा की 10 सीटें (Rajyasabha Seats) खाली हो गई हैं. दरअसल, राज्यसभा के इन 10 सदस्यों ने लोकसभा का चुनाव लड़ा और जीता भी. जिसके चलते अब उनकी राज्यसभा सीटें खाली हो गई हैं.

लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा 69 (2) के तहत यदि कोई व्यक्ति जो पहले से राज्यसभा का सदस्य है और वो लोकसभा का सदस्य निर्वाचित हो जाता है तो राज्यसभा में उस व्यक्ति की सीट सांसद चुने जाने की तारीख से स्वत: खाली हो जाती है.

जिन राज्यों की राज्यसभा सीटें खाली हुई हैं उनमें असम, बिहार और महाराष्ट्र की 2-2 सीटें हैं. जबकि हरियाणा, मध्य प्रदेश, राजस्थान और त्रिपुरा की एक-एक सीटें हैं. वहीं, पार्टी के हिसाब से बात करें तो इनमें से बीजेपी के 7, कांग्रेस के 2 और RJD के एक राज्यसभा सांसद हैं जो अब लोकसभा में चुनकर आए हैं. अब आपको उन 10 राज्यसभा सांसदों के बारे में बताते हैं, जो लोकसभा का चुनाव जीत कर आए हैं.

लिस्ट में पहला नाम है कामाख्या प्रसाद तासा का. असम से बीजेपी के राज्यसभा सांसद थे. इस चुनाव में असम की काजीरंगा सीट से चुनाव लड़े. कांग्रेस की रोजलीना तिर्की को 2,48,947 वोटों के मार्जिन से हराकर संसद पहुंचे हैं.

अगला नाम है सर्बानंद सोनोवाल का. असम से बीजेपी के राज्यसभा सांसद थे. असम की डिब्रूगढ़ सीट से चुनाव लड़े. असम जातीय परिषद के लुरिनज्योति गोगोई को 2,79,321 वोटों के मार्जिन से  हराकर संसद पहुंचे हैं.

तीसरा नाम है मीसा भारती का. बिहार से RJD की राज्यसभा सांसद थीं. बिहार की पाटलिपुत्र सीट से बीजेपी के राम कृपाल यादव को 85, 174 वोटों के मार्जिन हराकर संसद पहुंची हैं.

अगला नाम है विवेक ठाकुर का. बिहार से बीजेपी के राज्यसभा सांसद थे. बिहार की नवादा सीट से RJD के श्रवन कुमार को 67,670 वोटों के मार्जिन से हराकर संसद पहुंचे हैं.

लिस्ट में अगला नाम है छत्रपति उदयनराजे भोसले का. महाराष्ट्र से बीजेपी के राज्यसभा सांसद थे. महाराष्ट्र की सतारा सीट से एनसीपी (शरद पवार) के शशिकांत जयवंतराव शिंदे को 32,771 वोटों के मार्जिन से हराकर संसद पहुंचे हैं.

अगला नाम है पीयूष गोयल का. महाराष्ट्र से बीजेपी के राज्यसभा सांसद थे. महाराष्ट्र की मुंबई-नॉर्थ सीट से कांग्रेस के भूषण पाटिल को 3,57,608 वोटों के मार्जिन से हराकर संसद पहुंचे हैं.

लिस्ट में अगला नाम है दीपेन्द्र हुड्डा का. हरियाणा से कांग्रेस के राज्यसभा सांसद थे. हरियाणा की रोहतक सीट से बीजेपी के डॉ. अरविंद कुमार शर्मा को 3,45,298 वोटों के मार्जिन से हराकर संसद पहुंचे हैं.

ये भी देखें- (48 वोट से जीत, CCTV फुटेज गायब, रिटर्निंग अफसर पर आरोप...NDA की जीती सीट का मामला फंस गया है?)

अगला नाम है ज्योतिरादित्य सिंधिया का. मध्य प्रदेश से बीजेपी के राज्यसभा सांसद थे. मध्य प्रदेश की गुना सीट से कांग्रेस के यादवेन्द्र राव सिंह को 5,40,929 वोटों के मार्जिन से हराकर संसद पहुंचे हैं.

लिस्ट में अगला नाम है केसी वेणुगोपाल का. राजस्थान से कांग्रेस के राज्यसभा सांसद थे. केरल की आलप्पुझा सीट से CPI (M) के एएम आरिफ को 63, 513 वोटों के मार्जिन से हराकर संसद पहुंचे हैं.

लिस्ट में आखिरी नाम है बिप्लव कुमार देव का. त्रिपुरा से बीजेपी के राज्यसभा सांसद थे. त्रिपुरा की त्रिपुरा वेस्ट सीट से कांग्रेस के आशीष कुमार साहा को 6,11, 578  वोटों के मार्जिन से हराकर संसद पहुंचे हैं.

तो ये थे वो 10 राज्यसभा सदस्य जो अब लोकसभा का चुनाव जीत कर संसद पहुंचे हैं, जिसके चलते अब उनकी राज्यसभा सीटें खाली हो गई हैं. अब ये देखना दिलचस्प होगा कि बीजेपी, कांग्रेस और RJD इन सीटों पर अपने किन नेताओं को राज्यसभा में एंट्री कराती हैं. क्या इनमें लोकसभा चुनाव हारे बड़े चेहरे होंगे या किसी नए शख्स को मौका दिया जाएगा? 

आप क्या सोचते हैं, हमें कॉमेंट सेक्शन में जरूर बताएं.

वीडियो: 'देश ने उन्हें बहुमत नहीं दिया...' शरद पवार ने PM मोदी पर हमला कर क्या याद दिलाया?

thumbnail

Advertisement

Advertisement