The Lallantop
Advertisement

गेस्ट इन दी न्यूजरूम: रेमन मैग्सेसे से सम्मानित और बीच जंगल रहने वाले प्रकाश और मंदाकिनी आम्टे ने क्या-क्या बताया?

गेस्ट इन दी न्यूजरूम में इस बार के मेहमान थे प्रकाश बाबा आम्टे और मंदाकिनी आम्टे. दोनों को उनके सामाजिक कार्यों के लिए 2008 में रेमन मैग्सेसे पुरस्कार मिल चुका है. उन्होंने कुष्ठ रोगियों के इलाज और देखभाल में व्यापक काम किया है. दोनों 26 साल से जंगल के बीच गढ़चिरौली में आदिवासियों का जीवन सुधार रहे हैं.

Advertisement
29 जून 2024 (Updated: 29 जून 2024, 13:29 IST)
Updated: 29 जून 2024 13:29 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

गेस्ट इन दी न्यूजरूम (GITN) के इस एपिसोड में सामाजिक कार्यकर्ता डॉ. प्रकाश बाबा आम्टे और डॉ. मंदाकिनी आम्टे आए. दोनों ने आदिवासी महिलाओं और बच्चों के स्वास्थ्य और शिक्षा को बेहतर बनाने के लिए काम किया है. गढ़चिरौली के हेमलकसा में उन्होंने एक मल्टी-स्पेशलिटी अस्पताल और एक आवासीय विद्यालय बनाया है. वो अपने घर पर कई जंगली जानवरों को भी रखते हैं और उनकी देखभाल करते हैं. दोनों जंगल के बीच गढ़चिरौली में आदिवासियों का जीवन सुधार रहे हैं. प्रकाश आम्टे और मंदाकिनी आम्टे ने अपने काम को लेकर क्या बताया, जानने के लिए देखिए GITN का ये एपिसोड .

thumbnail

Advertisement

Advertisement