The Lallantop
Advertisement

कश्मीर के लाल चौक पर लगी श्री राम की तस्वीर? थोड़ा टटोला तो ऐसा फैलाने वाले बेनकाब हो गए

एक वीडियो वायरल है, जिसमें एक घंटाघर पर लेजर लाइट के माध्यम से भगवान राम की तस्वीरें प्रदर्शित की जा रही हैं. दावा किया जा रहा कि ये कश्मीर के लाल चौक का वीडियो है.

Advertisement
Ram photo on Lal chowk Srinagar
वायरल वीडियो में लेजर शो को लाल चौक का बताया जा रहा है. फोटो- सोशल मीडिया
20 जनवरी 2024 (Updated: 20 जनवरी 2024, 17:31 IST)
Updated: 20 जनवरी 2024 17:31 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

दावा :

अयोध्या तैयार है. राम मंदिर के लिए. दो दिन बचे हैं प्राण प्रतिष्ठा में. इस बीच सोशल मीडिया पर भी लोग भगवान राम से जुड़ी तस्वीरें और वीडियो शेयर कर रहे हैं. इन्हीं सबके बीच एक वीडियो वायरल है जहां एक घंटाघर पर लेजर लाइट के माध्यम से भगवान राम की तस्वीरें प्रदर्शित की जा रही हैं. दावा किया जा रहा कि ये कश्मीर के लाल चौक का वीडियो है.

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर बाबा बवंडर नाथ नाम के एक यूजर ने वायरल वीडियो शेयर करके लिखा,

कश्मीर का लाल चौक जहां किसी समय में तिरंगा नहीं फहराने दिया जाता था, आज वहां प्रभु श्री राम की तस्वीर सुशोभित है.

इसी तरह अन्य यूजर्स ने भी वायरल वीडियो को कश्मीर के लाल चौक का बताकर शेयर किया है, जिनके ट्वीट आप नीचे देख सकते हैं.

एक अन्य यूजर ने भी इसी तरह का दावा किया.


पड़ताल: 
क्या भगवान राम की प्रदर्शित की जा रहीं तस्वीरों का यह वीडियो कश्मीर के लाल चौक का है? हमने वायरल वीडियो के एक कीफ्रेम को गूगल रिवर्स सर्च किया. हमें 'एक्स' पर कई ऐसे ट्वीट मिलें जहां इस वीडियो को देहरादून के घंटाघर का बताया गया है.

इससे मदद लेते हुए हमने देहरादून के घंटाघर को गूगलमैप पर देखा. जहां वायरल वीडियो में क्लॉक टॉवर के आसपास दिख रहे शॉप मसलन ‘Smashh गेम पॉइंट’ को देहरादून के घंटाघर के पास देखा जा सकता है.

इसके अलावा हमें ANI का 17 जनवरी को किया गया एक ट्वीट मिला. इसमें बताया गया है कि राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह से पहले देहरादून में घंटाघर पर लेजर लाइट के माध्यम से भगवान राम की तस्वीर प्रदर्शित की गई.

मामले की पुष्टि के लिए हमने इंडिया टुडे के जम्मू कश्मीर के संवाददाता अशरफ वानी से संपर्क किया. उन्होंने भी बताया कि वायरल हो रहा वीडियो कश्मीर के लाल चौक का नहीं है. अशरफ ने कहा, "यह वीडियो कश्मीर का नहीं है. यहां के लाल चौक को 26 जनवरी के मद्देनज़र सजाया गया है. लेकिन जैसा वायरल वीडियो में नज़र आ रहा वैसा कुछ भी नहीं है."

निष्कर्ष:-

कुल मिलाकर, कश्मीर के लाल चौक पर भगवान राम की तस्वीर दिखाए जाने का दावा भ्रामक है. असल में वीडियो देहरादून के घंटाघर का है.

पड़ताल की वॉट्सऐप हेल्पलाइन से जुड़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.
ट्विटर और फेसबुक पर फॉलो करने के लिए ट्विटर लिंक और फेसबुक लिंक पर क्लिक करें.

thumbnail

Advertisement