The Lallantop
Advertisement

फालूदा के ठेले पर गंदी हरकत करने वाले शख्स के मुस्लिम होने के दावे में कितने दम है?

खुलेआम हस्तमैथुन कर अपना सीमन फालूदा में मिलाने वाले आइसक्रीम विक्रेता को लेकर दावा किया जा रहा कि वो मुस्लिम समुदाय से है. लेकिन सच जानकर माथा पीट लेंगे.

Advertisement
is icecream seller arrested doing masturbation belongs to muslim community
अश्लील हरकत करने वाले आइसक्रीम विक्रेता को लेकर अब नया दावा वायरल है. (तस्वीर:सोशल मीडिया)
21 मार्च 2024 (Updated: 21 मार्च 2024, 24:31 IST)
Updated: 21 मार्च 2024 24:31 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share
दावा:

तेलंगाना के एक आइसक्रीम विक्रेता का अश्लील वीडियो सामने आया जिसमें उसे अपने ठेले के पास हस्तमैथुन करते हुए देखा गया. ये वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस हरकत में आई और उसे गिरफ्तार कर लिया गया. लेकिन अब सोशल मीडिया यूजर्स एक थ्योरी लेकर सामने आ गए हैं. दावा उसके धर्म को लेकर किया जा रहा. कहा जा रहा कि हस्तमैथुन कर रहा वो व्यक्ति ‘जिहादी’ है. और इस तरह एक विशेष समुदाय को निशाना बनाया जा रहा. लेकिन क्या है इसकी सच्चाई?

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म X पर भगवा क्रांति नाम के एक यूजर ने वायरल वीडियो पोस्ट करते हुए लिखा, “तेलंगाना में एक ठेलेवाला जिहादी आतंकवादी आइसक्रीम बनाने के दौरान हस्तमैथुन करते और अपना वीर्य आइसक्रीम में मिलाते हुए कैमरे में क़ैद हुआ. और निभाओ भाई चारा. Nekkonda पुलिस ने आईपीसी 294 के तहत इस जिहादी पर मुकदमा दर्ज किया है.”

इसके अलावा कई अन्य यूजर्स ने भी वायरल वीडियो को पोस्ट करते हुए आइसक्रीम विक्रेता को मुस्लिम समुदाय का बताकर शेयर किया है.

पड़ताल

क्या इस मामले में गिरफ्तार हुआ आइसक्रीम विक्रेता मुस्लिम समुदाय से आता है?

हमें कई मीडिया रिपोर्ट मिलीं जिनमें बताया गया है कि यह घटना तेलंगाना के नेक्कोंडा इलाके की है जहां के अम्बेडकर सेंटर के पास यह वीडियो बनाया गया था. आइसक्रीम विक्रेता का नाम कालुराम कुर्बिया है और वो मूलत: राजस्थान का रहने वाला है. वीडियो वायरल होने के बाद एक खाद्य निरीक्षक ने सैंपल इकट्ठा किए और कुर्बिया के खिलाफ आईपीसी की धारा 294 के तहत मामला दर्ज किया गया है. यह धारा सार्वजनिक स्थान पर अश्लील हरकतों के लिए लगाई की जाती है. 

इंडिया टुडे के तेलंगाना के स्थानीय पत्रकार अब्दुल बशीर ने भी पुष्टि की कि घटना में शामिल व्यक्ति मुस्लिम समुदाय से नहीं है.

अधिक जानकारी के लिए हमने नेक्कोंडा थाने में भी संपर्क किया. जहां एसएचओ महेंद्र ने हमें बताया कि आरोपी मुस्लिम समुदाय से नहीं है. उन्होंने बताया,

“गिरफ्तार किया गया आइसक्रीम विक्रेता 27 साल का कालुराम कर्बिया है. उसके पिता का नाम हज़ारे लाल कुर्बिया है. ये राजस्थान के रहने वाले हैं. कालुराम इस इलाके में नया आया है और लगभग 40 दिन पहले से अपनी दुकान लगा रहा है. मामले की जांच जारी है.”

निष्कर्ष

कुल मिलाकर, अश्लील हरकत करने के मामले में गिरफ्तार हुआ आइसक्रीम विक्रेता मुस्लिम समुदाय से नहीं है. सोशल मीडिया पर एक समुदाय को निशाना बनाते हुए भ्रामक दावे के साथ पोस्ट वायरल है.

पड़ताल की वॉट्सऐप हेल्पलाइन से जुड़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें. 
ट्विटर और फेसबुक पर फॉलो करने के लिए ट्विटर लिंक और फेसबुक लिंक पर क्लिक करें.

thumbnail

Advertisement