The Lallantop
Advertisement

अखिलेश-डिंपल ने अतीक अहमद की कब्र को प्रणाम किया? फोटो के सच ने 'घटियापन' की पोल खोल दी

Akhilesh Yadav की एक फोटो वायरल है, जिसमें वो एक कथित कब्र के सामने हाथ जोड़कर खड़े हैं. साथ में उनकी पत्नी Dimple Yadav भी हैं. फोटो को शेयर करके दावा किया जा रहा है कि अखिलेश-डिंपल अतीक अहमद की कब्र को प्रणाम कर रहे हैं.

Advertisement
Akhilesh and dimple yadav paying obeisance at the graves of atiq and ashraf viral image
अखिलेश और डिंपल यादव की एक तस्वीर को अतीक अहमद से जोड़कर शेयर किया गया. (तस्वीर:सोशल मीडिया)
4 मार्च 2024 (Updated: 4 मार्च 2024, 23:25 IST)
Updated: 4 मार्च 2024 23:25 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

दावा:- लोकसभा चुनाव 2024 (Lok Sabha Elections 2024) का औपचारिक ऐलान होने में कुछ दिन बाकी हैं. लेकिन लगभग सभी राजनीतिक दल अपने चुनाव प्रचार में जुट गए हैं. न केवल राजनीतिक पार्टियां बल्कि उनके आईटी सेल भी अपने काम पर लग गए हैं. तस्वीरों और वीडियो के जरिए विरोधी खेमे के नेताओं पर टीका-टिप्पणी की जा रही है. इसी कड़ी में यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) की एक फोटो वायरल है, जिसमें वे एक कथित कब्र के सामने हाथ जोड़कर खड़े हैं. साथ में उनकी पत्नी और मैनपुरी से लोकसभा सांसद डिंपल यादव भी हैं. फोटो को शेयर करके कहा जा रहा है कि अखिलेश अपनी पत्नी संग एनकाउंटर में मारे गए अतीक और अशरफ़ की कब्र को झुककर प्रणाम कर रहे हैं.

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर मनोज श्रीवास्तव नाम के एक यूजर ने वायरल तस्वीर को शेयर करते हुए लिखा, “एनकाउंटर में ढेर हुए अतीक अहमद और अशरफ की कब्र पर उनके बेटे बहू अखिलेश ओर डिंपल यादव.”

इसी तरह के दावे कई अन्य यूजर्स ने भी वायरल तस्वीर को शेयर करके किए हैं.

अखिलेश यादव और डिंपल यादव की फोटो को शेयर किया गया दावा.

पड़ताल

क्या वाकई अखिलेश यादव और डिंपल यादव की वायरल तस्वीर अतीक और अशरफ़ के कब्र की है?

इसकी सच्चाई पता लगाने के लिए हमने वायरल तस्वीर को रिवर्स सर्च किया. जिससे हमें अखिलेश यादव का 14 नवंबर, 2022 का एक ट्वीट मिला. इसमें अखिलेश ने दो तस्वीरें पोस्ट की हैं. उनमें से एक वही तस्वीर है जो अभी वायरल हो रही है. लेकिन इन तस्वीरों का अतीक और अशरफ से कोई लेना-देना नहीं है. ये दोनों तस्वीरें अखिलेश के पिता और पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव से जुड़ी हुई हैं. अखिलेश ने तस्वीरों को पोस्ट करते हुए कैप्शन में लिखा, 

“मैनपुरी उपचुनाव में सपा के प्रत्याशी के रूप में दरअसल नेताजी की समाजवादी आस्थाओं का ही नामांकन हो रहा है. जिस प्रकार दलगत राजनीति से ऊपर उठकर सभी दलों के लोगों और जनमानस ने सैफई आकर नेताजी को श्रद्धांजलि दी है, उसका सच्चा परिणाम ये होगा कि सपा प्रत्याशी की ऐतिहासिक जीत होगी.”

इसका मतलब साफ़ है कि अखिलेश यादव अपनी पत्नी डिंपल के साथ मुलायम सिंह यादव को श्रद्धांजली देने पहुंचे थे. यूपी के तीन बार मुख्यमंत्री रह चुके मुलायम सिंह यादव ने 10 अक्टूबर, 2022 को गुरुग्राम के मेदांता हॉस्पिटल में अंतिम सांस ली थी. जिसके बाद मुलायम सिंह का पार्थिव शरीर उनके पैतृक गांव सैफई ले जाया गया था और वहां राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया था. ये तस्वीर उसके लगभग एक महीने बाद की है.

और जहां तक बात रही अतीक अहमद और अशरफ़ की तो. दोनों भाइयों की अप्रैल, 2023 को प्रयागराज में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. यानी वायरल तस्वीर अतीक और अशरफ़ की मौत से करीब 6 महीने पहले से इंटरनेट पर मौजूद है.

निष्कर्ष

कुल मिलाकर, अखिलेश और डिंपल की मुलायम सिंह यादव को श्रद्धांजलि देने वाली तस्वीर को भ्रामक दावे के साथ शेयर किया गया है. वायरल तस्वीर का अतीक और अशरफ़ से कोई लेना-देना नहीं है. 

पड़ताल की वॉट्सऐप हेल्पलाइन से जुड़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें. 
ट्विटर और फेसबुक पर फॉलो करने के लिए ट्विटर लिंक और फेसबुक लिंक पर क्लिक करें. 

thumbnail

Advertisement