Submit your post

Follow Us

पड़ताल टीम

  • दी लल्लनटॉप फैक्ट चेक (पड़ताल), टीवी टुडे नेटवर्क लिमिटेड की पहल है. पड़ताल सेक्शन 'दी लल्लनटॉप वेबसाइट' का हिस्सा है. लेकिन इस सेक्शन का प्रबंधन स्वतंत्र तरीके से पड़ताल की संपादकीय टीम करती है.

  • रजत शर्मा पड़ताल की संपादकीय टीम को लीड करते हैं. वीडियो और टेक्स्ट, दोनों तरीकों से आप तक झूठे दावों का सच पहुंचाते हैं. फैक्ट चेकिंग के साथ-साथ संसद, अर्थव्यवस्था और पर्यावरण से जुड़े मुद्दों में रुचि रखते हैं. पंजाब यूनिवर्सिटी, चंडीगढ़ से बायोफ़िज़िक्स में ग्रेजुएशन (B.Sc H.S) करने के बाद रजत ने IIMC से पत्रकारिता की शुरुआती ट्रेनिंग हासिल की है.

  • अभिषेक कुमार पड़ताल टीम में राइटर हैं. BHU से पॉलिटिकल साइंस में ग्रेजुएशन करने वाले अभिषेक फैक्ट चेकिंग के साथ-साथ करंट अफेयर्स की बारीक जानकारियों पर मज़बूत पकड़ रखते हैं. लल्लनटॉप के साथ शुरुआत बतौर इंटर्न हुई थी. फिर IIMC से पढ़ाई पूरी करने के बाद फुल टाइम लल्लनटॉप टीम का हिस्सा बन गए.

  • आयुष यादव लल्लनटॉप के लिए साइंस से जुड़े मुद्दों की पड़ताल करते हैं. IIT गुवाहाटी से B. Tech करने वाले आयुष लल्लनटॉप से बतौर इंटर्न जुड़े थे. फिर डिग्री पूरी की और अब लल्लनटॉप के लिए साइंसकारी शो बनाते हैं. पड़ताल करते वक्त भी फोकस यही रहता है कि पाठक को सरलतम शब्दों में वैज्ञानिक तथ्यों से रूबरू करवाया जाए.

निष्पक्षता नीति

किसी भी देश का नागरिक होने के नाते वहां की राजनैतिक, आर्थिक या सामाजिक व्यवस्था के बारे में राय होना स्वभाविक है. लेकिन पड़ताल लिखते वक्त हम सुनिश्चित करते हैं कि लिखी गई एक-एक बात तथ्य आधारित हो. निजी विचार, पूर्वाग्रह या विचारधारा से प्रेरित झुकावों को पड़ताल में कतई शामिल नहीं किया जाता. हर फैक्ट चेक स्टोरी को कम से कम दो फैक्ट चेकर्स जांचते हैं. इससे हम सुनिश्चित कर पाते हैं कि पाठक तक पहुंचने वाली जानकारी तथ्यापरक और निष्पक्ष हो. फैक्ट चेक टीम का कोई भी मेंबर टीवी टुडे नेटवर्क लिमिटेड में अपनी सेवाओं के दौरान किसी भी राजनैतिक दल या पैरवी करने वाले समूहों की सदस्यता नहीं ले सकता. ना ही किसी ऐसे चुनाव या चयन प्रक्रिया का हिस्सा हो सकता है जिससे फैक्ट चेक की प्रक्रिया और निजी हितों के बीच टकराव की स्थिति बने. इसके अलावा टीवी टुडे नेटवर्क की सभी सेवा शर्तें पड़ताल टीम के सदस्यों पर लागू होती हैं