The Lallantop
Advertisement

लल्लनटॉप पहुंचा मेघालय के विस्लिंग विलेज, जहां नाम में गानों की कहानी अनोखी है.

व्हिस्लिंग गांव के नाम से जाना जाता है. कोंगथोंग (सीटी बजने वाला गांव) के हर ग्रामीण का नाम एक खास धुन पर होता है.

Advertisement
27 फ़रवरी 2023
Updated: 27 फ़रवरी 2023 12:42 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

लल्लनटॉप की चुनाव यात्रा मेघालय के एक ऐसे गांव में पहुंचती है जिसे व्हिस्लिंग गांव के नाम से जाना जाता है. कोंगथोंग (सीटी बजने वाला गांव) के हर ग्रामीण का नाम एक खास धुन पर होता है. इस परंपरा में जब एक महिला बच्चे को जन्म देती है तो वह अपने बच्चे के लिए एक धुन देती है जो बच्चे की पहचान बन जाती है. यह अनोखा और बहुत दिलचस्प होता है. जब हर कोई दूसरों को बुलाने के लिए गाता है. देखिए वीडियो.

thumbnail

Advertisement

election-iconचुनाव यात्रा
और देखे

Advertisement

Advertisement