The Lallantop
Advertisement

इस नेता को गुजरात का अमित शाह क्यों कहते हैं लोग? जानिए असली कहानी

भविष्य के अमित शाह कहे जाने पर गुजरात के गृहमंत्री हर्ष सांघवी ने लल्लनटॉप को क्या बताया?

Advertisement
harsh sanghavi amit shah gujarat
हर्ष सांघवी ने इंटरव्यू में अमित शाह के साथ काम करने का अनुभव साझा किया | फोटो: आजतक/दी लल्लनटॉप
29 नवंबर 2022 (Updated: 29 नवंबर 2022, 22:29 IST)
Updated: 29 नवंबर 2022 22:29 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

गुजरात विधानसभा चुनाव (Gujarat Assembly Election 2022) के पहले चरण के लिए प्रचार थम गया है. इस चरण की 89 सीटों के लिए मतदान गुरुवार, 1 दिसंबर को होगा. गुजरात चुनाव में लल्लनटॉप अपने राजनीतिक मंच 'जमघट' के तहत अलग-अलग नेताओं का इंटरव्यू कर रहा है. इसी क्रम में सूबे के सबसे चर्चित मंत्री और राज्य के गृहमंत्री हर्ष सांघवी (Harsh Sanghavi Lallantop Interview) का इंटरव्यू हुआ. उनसे राजनीतिक और जनसरोकार से जुड़े मुद्दों पर सवाल पूछे गए. पार्टी के अंदर की पॉलिटिक्स पर भी खूब चर्चा हुई.

हर्ष सांघवी से एक सवाल ये भी पूछा गया कि कई लोग कहते हैं कि आप गुजरात के भविष्य के अमित शाह हैं. इस तमगे पर आप क्या कहेंगे?

गृहमंत्री हर्ष सांघवी ने इसका जवाब देते हुए कहा,

'देखिए अमित भाई जिस यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर हैं, वहां का मैं एक बहुत छोटा सा स्टूडेंट हूं. मेरे जैसे लाखों कार्यकर्ताओं को उनके पास काम करते हुए सीखने को मिला. मेरी उनसे पहली बार मुलाक़ात 2007 में हुई थी, तब मैं बीजेपी के युवा मोर्चा के लिए काम कर रहा था. मैंने उनके करीब रहकर पार्टी के लिए काफी काम किया. वो अपने संघर्ष और साहस से गुजरात को बहुत आगे ले जाने वाले लोगों में से एक हैं. उनसे बहुत कुछ सीखा जा सकता है.'

हर्ष सांघवी से एक सवाल ये भी किया गया कि कुछ पॉलिटिकल ऑब्जर्वर का मानना है कि भूपेंद्र पटेल की कैबिनेट में उनको अमित शाह ने ही चुना था.

इस पर उन्होंने कहा,

‘मैंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी और अमित शाह जी को बहुत करीब से काम करते हुए देखा है. और मैंने आपको बताया कि ये दोनों व्यक्ति मुझ जैसे लाखों कार्यकर्ताओं के लिए प्रेरणास्रोत हैं. हमने उनसे काम सीखा है. मैं अमित शाह और नरेंद्र मोदी जी के मार्गदर्शन में काम कर रहा हूं.’

वरिष्ठ नेताओं से चिट्ठी क्यों लिखवा ली गई?

'जमघट' में हर्ष सांघवी से एक सवाल ये भी पूछा गया कि पूर्व मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और नितिन पटेल जैसे वरिष्ठ नेता जो सीएम और डिप्टी सीएम के दावेदार थे, उनसे चुनाव से पहले चिट्ठी क्यों लिखवाई गई. जिसमें उन्होंने लिखा कि वे चुनाव नहीं लड़ना चाहते.

इस सवाल पर हर्ष सांघवी का कहना था,

'बीजेपी में ऐसा परिवार भावना के तहत हुआ है. नए लोगों को मौका देने के लिए वो लोग पीछे हटे हैं. विजय भाई रुपाणी पूरे सौराष्ट्र में चुनाव प्रचार में लगे हुए हैं. नितिन भाई पटेल अभी मेरे लिए रैली करके गए हैं, वो पूरे उत्तर गुजरात में प्रचार की कमान संभाले हुए हैं.'

गुजरात के गृहमंत्री के मुताबिक पार्टी में सब कुछ एक परिवार की तरह हो रहा है और किसी बीच कोई नाराजगी नहीं है.

पूरा इंटरव्यू: अमित शाह, मोरबी हादसा और शराबबंदी पर क्या बोले हर्ष संघवी?

thumbnail

Advertisement