The Lallantop
Advertisement
adda-banner

गुजरात में बीजेपी की "गौरव यात्रा" शुरू हुई, लिस्ट बदलकर हार्दिक पटेल का नाम गायब कर दिया!

यात्रा कार्यक्रम की पहली सूची में हार्दिक पटेल का नाम था. फिर कुछ हुआ और बीजेपी ने दूसरी लिस्ट जारी. अब हार्दिक पटेल का नाम सूची में नहीं था.

Advertisement
bjp gujarat gaurav yatra
गुजरात गौरव यात्रा से जुड़े कार्यक्रम के दौरान जेपी नड्डा और अन्य बीजेपी नेता. (तस्वीर- ट्विटर)
13 अक्तूबर 2022 (Updated: 13 अक्तूबर 2022, 09:24 IST)
Updated: 13 अक्तूबर 2022 09:24 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

भारतीय जनता पार्टी ने गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए बुधवार, 12 अक्टूबर को “गुजरात गौरव यात्रा” की शुरुआत कर दी है. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने मेहसाणा जिले के बहुचारजी (बेचराजी भी कहते हैं) नगर से यात्रा को हरी झंडी दी. इस मौके पर गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल, गुजरात बीजेपी के अध्यक्ष सीआर पाटिल, केंद्रीय मंत्री रावसाहब दानवे और पूर्व उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल भी शामिल रहे.

बताया गया है कि ये यात्रा गुजरात के पांच बड़े इलाकों से गुजरेगी. इस दौरान पार्टी राज्य के 120 विधानसभा क्षेत्रों के मतदाताओं को कवर करेगी. यात्रा की शुरुआत करते हुए जेपी नड्डा ने कहा,

“ये अकेली बीजेपी या गुजरात की यात्रा नहीं है, ये भारत के गौरव की यात्रा है. ये यात्रा उस गौरव यात्रा की गंगोत्री है जिसके तहत भारत (विकास की) एक लंबी छलांग लगा रहा है."

बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि गुजरात का हरेक नागरिक राज्य के विकास पर गर्व महसूस करता है और इस यात्रा के जरिये लोग देश के विकास की यात्रा देखेंगे.

यात्रा कार्यक्रम से हार्दिक पटेल का नाम गायब

इससे पहले भी बीजेपी गुजरात में गौरव यात्रा निकाल चुकी है. इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक साल 2002 और 2017 के विधानसभा चुनावों में सत्तारूढ़ दल ने गुजरात में ऐसी यात्राएं निकाली थीं. पार्टी अब तीसरी बार गौरव यात्रा निकाल रही है.

लेकिन इस यात्रा में शामिल होने वाले नेताओं की सूची में हार्दिक पटेल को शामिल नहीं किया गया है. इंडिया टुडे/आजतक से जुड़ीं गोपी मनियार की रिपोर्ट के मुताबिक यात्रा कार्यक्रम से जुड़ी पहली सूची में नितिन पटेल के साथ हार्दिक पटेल का नाम था. लेकिन कुछ देर बाद एक दूसरी सूची आई जिसमें हार्दिक पटेल के नाम को हटा दिया गया. उनकी जगह ऋषिकेश पटेल और रजनीभाई पटेल के नाम शामिल किए गए.

ये जानकारी फैली तो चर्चा होने लगी कि क्या बीजेपी हार्दिक पटेल को चुनाव में साइडलाइन करने वाली है. इस बीच पार्टी ने साफ किया कि पाटीदार आरक्षण आंदोलन की वजह से जो केस हार्दिक पटेल पर हुए हैं, उनके चलते कोर्ट ने हार्दिक पर मेहसाणा में आने की पाबंदी लगा रखी है. इसलिए उनका नाम हटाया गया है. रिपोर्ट के मुताबिक बीजेपी ने बताया कि यात्रा जब यात्रा विरमगांव पहुंचेगी तो वहां हार्दिक पटेल भी जरूर दिखाई देंगे.

हालांकि बीजेपी के सूत्रों के हवाले से जुड़ी खबर की मानें तो पार्टी ने जैसे ही बुधवार के कार्यक्रम के लिए हार्दिक पटेल का नाम घोषित किया तभी बेचराजी, मेहसाणा, विरमगांव के कार्यकर्ताओं ने हार्दिक को लेकर अपना विरोध जता दिया. इसके बाद पार्टी ने दूसरी लिस्ट जारी कि जिसमें हार्दिक का नाम नहीं था. अब चर्चा चल पड़ी है कि क्या हार्दिक पटेल के साथ बीजेपी में सब ठीक नहीं है.

गुजरात पुलिस ने गरबा के बीच पत्थर चलाने वाले आरोपियों के साथ क्या किया?

thumbnail

इस पोस्ट से जुड़े हुए हैशटैग्स

Advertisement