The Lallantop
Advertisement

अब फेक न्यूज से निपटेगा चुनाव आयोग, अलग प्लेटफॉर्म लॉन्च हुआ

चुनाव आयोग का कहना है कि इस रजिस्टर को लगातार अपडेट किया जाएगा, जिसमें पड़ताल की गई झूठी जानकारियां और नए सवाल-जवाब (FAQ) भी होंगे.

Advertisement
election commission website fake news
'मिथ वर्सेस रियलिटी रजिस्टर' लॉन्च के दौरान मुख्य चुनाव आयुक्त और दूसरे चुनाव आयुक्त. (फोटो- Election Commission)
font-size
Small
Medium
Large
2 अप्रैल 2024
Updated: 2 अप्रैल 2024 20:21 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

लोकसभा चुनाव 2024 से पहले चुनाव आयोग ने फेक न्यूज को रोकने के लिए एक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म को लॉन्च किया है. आयोग का दावा है कि इससे लोकसभा चुनाव के दौरान फर्जी खबरों के प्रसारण को रोकने में मदद मिलेगी. इस नए प्लेटफॉर्म (वेबसाइट) का नाम है- मिथ वर्सेस रियलिटी रजिस्टर'. चुनाव आयोग का कहना है कि इस रजिस्टर को लगातार अपडेट किया जाएगा, जिसमें पड़ताल की गई झूठी जानकारियां और नए सवाल-जवाब (FAQ) भी होंगे.

चुनाव आयोग ने इस रजिस्टर के लॉन्च होने पर एक प्रेस रिलीज जारी किया. इसमें बताया गया कि मुख्य चुनाव आयुक्त (CEC) राजीव कुमार ने पैसे, बाहुबल और आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के साथ गलत सूचना को एक चुनौती के रूप में पहचान किया है. दुनिया भर के कई देशों में गलत जानकारी और फर्जी खबरों का फैलना बढ़ती चिंता का विषय है. इसी को देखते हुए इस रजिस्टर की शुरुआत हुई है ताकि वोटर्स को चुनावी प्रक्रिया के दौरान सटीक और प्रामाणिक जानकारी मिल सके.

किन विषयों की जांच की जाएगी? 

आयोग के मुताबिक, 'मिथ वर्सेस रियलिटी रजिस्टर' चुनाव के दौरान झूठ और गलत जानकारी को दूर करेगा. साथ ही तथ्यात्मक जानकारी उपलब्ध कराएगा. इससे वोटर्स चुनाव से जुड़े निर्णय ले सकेंगे. इसमें EVM/VVPAT, इलेक्टोरल रोल/वोटर सर्विस, चुनाव संचालन और दूसरी चीजों के बारे में फेक न्यूज को शामिल किया गया है.

इस रजिस्टर पर कुछ फर्जी खबरों का फैक्ट चेक भी किया गया है. जैसे एक पेपर क्लिप में लिखा हुआ दिख रहा है कि चुनाव आयोग ने निर्देश दिया कि लोकसभा चुनाव में ईवीएम के बदले बैलट पेपर का इस्तेमाल होगा. आयोग ने इसे गलत और आधारहीन जानकारी बताते हुए कहा कि ऐसा कोई निर्देश नहीं दिया गया है.

आयोग का कहना है कि किसी भी व्यक्ति को अगर किसी चैनल के जरिये संदिग्ध जानकारी मिलती है तो वो इस रजिस्टर के जरिये उसे वेरिफाई कर सकता है. इस प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल फैक्ट चेक करने, गलत जानकारी के प्रसार को रोकने और आम चुनाव 2024 के दौरान प्रमुख मुद्दों के बारे में अपडेट रहने के लिए किया जा सकता है.

वीडियो: 2024 के चुनाव से पहले ही PM Modi ने फ्यूचर प्लान्स पर क्या बताया?

thumbnail

Advertisement

election-iconचुनाव यात्रा
और देखे

Advertisement

Advertisement