The Lallantop
Advertisement

Chhattisgarh Election Results: भिलाई नगर में कौन जीता? महादेव ऐप वालों का इलाका है

महादेव सट्टेबाजी ऐप वाले विवाद पर BJP ने कांग्रेस को जमकर घेरा था. इस ऐप के मुख्य प्रमोटर भिलाई नगर के ही रहने वाले हैं, जिनके खिलाफ ED जांच चल रही है. जानिए इस सीट पर कांग्रेस जीती या हारी.

Advertisement
Chhattisgarh Assembly Election Bhilai Nagar seat Result
भिलाई नगर से कांग्रेस प्रत्याशी देवेंद्र यादव और BJP प्रत्याशी प्रेम प्रकाश पांडे (फाइल फोटो: चुनाव आयोग)
3 दिसंबर 2023
Updated: 3 दिसंबर 2023 22:31 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव (Chhattisgarh Assembly Election 2023) के नतीजों में सत्ता परिवर्तन स्पष्ट है. 90 विधानसभा सीटों वाले इस राज्य में सरकार बनाने के लिए 46 सीटें चाहिए. ये खबर लिखे जाने तक BJP को 53 सीटों पर जीत मिल चुकी है. यानी वो बहुमत के आंकड़े को पार कर गई है. एक सीट पर पार्टी लीड कर रही है. वहीं कांग्रेस को अब तक 34 सीटों पर जीत मिली है और एक सीट पर पार्टी आगे चल रही है. 

इस बार के चुनाव में एक अहम सीट रही भिलाई नगर (Bhilai Nagar). महादेव सट्टेबाजी ऐप का जो विवाद चल रहा है, उसे शुरू करने वाले सौरभ चंद्राकर और रवि उप्पल भिलाई नगर के ही रहने वाले हैं. रिपोर्ट्स के मुताबिक दोनों अभी संयुक्त अरब अमीरात (UAE) में रहते हैं और वहीं से अपना विवादित ऐप ऑपरेट करते हैं.

ये भी पढ़ें- Chhattisgarh Election Result: भूपेश बघेल के मंत्रियों ने ही कांग्रेस का बेड़ा गर्क कर दिया

भिलाई नगर में कांग्रेस हारी या जीती?

भिलाई नगर सीट पर कांग्रेस ने देवेंद्र यादव और BJP ने प्रेम प्रकाश पांडे को उतारा था. चुनाव आयोग के मुताबिक कांग्रेस उम्मीदवार ने बीजेपी के उम्मीदवार को 1264 वोटों से हरा दिया है. यानी मुकाबला काफी करीबी रहा. जीतने वाले देवेंद्र यादव को कुल 54 हजार 405 लोगों ने वोट किया जबकि प्रेम प्रकाश पांडे को 53 हजार 141 वोट मिले.

महादेव सट्टेबाजी ऐप के मामले में BJP लगातार कांग्रेस को घेरते आई है. यहां तक कि छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल सरकार की मिलीभगत का भी आरोप लगाया. इस पूरे मामले की जांच ED (प्रवर्तन निदेशालय) कर रही है. चुनाव से पहले ED ने प्रेस रिलीज जारी कर दावा किया था कि 'महादेव सट्टेबाजी ऐप के प्रमोटरों की ओर से CM भूपेश बघेल को नियमित भुगतान' किए गए. कहा गया था कि उन्हें 'महादेव ऐप वालों ने 508  करोड़ रुपये' दिए थे. ED ने असीम दास नाम के एक शख्स के बयान के आधार पर ये दावा किया था.

भूपेश बघेल ने इन आरोपों को चुनाव से पहले उनकी छवि खराब करने की कोशिश बताया था. उन्होंने कहा था कि भारतीय जनता पार्टी CBI और ED जैसी एजेंसियों के सहारे छत्तीसगढ़ का चुनाव लड़ना चाहती है. CM बघेल ने कहा था कि एक अनजान व्यक्ति के बयान को आधार बनाकर उन पर 508 करोड़ रुपये लेने का आरोप लगाया गया जिससे ED की नीयत का पता चलता है.

चुनाव के नतीजे से लगता नहीं कि महादेव ऐप मामले का भिलाई नगर के चुनाव पर कोई असर पड़ा है. हालांकि राज्य के चुनाव के नतीजे ने ये सवाल खड़ा कर दिया है कि क्या कांग्रेस की हार के पीछे महादेव ऐप मामले की भी कोई भूमिका है या ये सिर्फ भूपेश बघेल की राजनीतिक हार है.

यहां पढ़ें- 'महादेव ऐप वालों से 508 करोड़ रुपये लिए', ED के दावों पर भूपेश बघेल क्या बोले?

वीडियो: दी लल्लनटॉप शो: रणबीर कपूर महादेव ऐप के लिए क्या करके फंस गए?

thumbnail

Advertisement