The Lallantop
Advertisement

पिता की मौत हुई, अगले दिन था PCS का इंटरव्यू, आनंद ने कैसे दिए सवालों के जवाब? आई 30वीं रैंक

इंटरव्यू के एक दिन पिता की हार्ट अटैक के कारण मौत हो गई, अगले दिन इंटरव्यू देकर आनंद ने परीक्षा में 30वीं रैंक पाई.

Advertisement
uppsc pcs topper anand singh rajput aces exam despite challenges
PSC एग्जाम में सफलता के बाद अपने परिवार के साथ आनंद. (फोटो- इंडिया टुडे)
24 जनवरी 2024 (Updated: 24 जनवरी 2024, 20:24 IST)
Updated: 24 जनवरी 2024 20:24 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

UPPSC यानी उत्तर प्रदेश पब्लिक सर्विस कमीशन ने प्रोविजनल सिविल सर्विसेज 2023 (PCS result) का फाइनल रिजल्ट जारी कर दिया गया है. परीक्षा में UP के देवबंद के रहने वाले सिद्धार्थ गुप्ता (Siddharth Gupta) ने टॉप किया है. वहीं प्रयागराज के प्रेम शंकर पांडेय ने दूसरे स्थान और हरदोई के सात्विक श्रीवास्तव ने तीसरे रैंक हासिल की है. परीक्षा में 30वीं रैंक लाने वाले बांदा के आनंद सिंह राजपूत (Anand Singh Rajput) की कहानी काफी प्रेरणा से भरी है. आनंद ने PCS परीक्षा के इंटरव्यू से एक दिन पहले अपने पिता को खो दिया था.

इंडिया टुडे से जुड़े संवाददाता सिद्धार्थ गुप्ता की रिपोर्ट के अनुसार आनंद सिंह राजपूत के इंटरव्यू के एक दिन पहले उनके पिता की हार्ट अटैक के कारण मौत हो गयी थी. अगले दिन इंटरव्यू देकर आनंद ने परीक्षा में 30वीं रैंक पाई. आनंद की शुरुआती शिक्षा बांदा से ही हुई. यहीं से उन्होंने अपनी ग्रेजुएशन किया. इसके बाद दिल्ली में रहकर तैयारी शुरू कर दी. आनंद ने परीक्षा के दूसरे प्रयास में ये रैंक हासिल की है.

इंडिया टुडे से जुड़े संवाददाता सिद्धार्थ गुप्ता की रिपोर्ट के अनुसार आनंद सिंह राजपूत के इंटरव्यू के एक दिन पहले उनके पिता की हार्ट अटैक के कारण मौत हो गयी थी. अगले दिन इंटरव्यू देकर आनंद ने परीक्षा में 30वीं रैंक पाई. आनंद की शुरुआती शिक्षा बांदा से ही हुई. यहीं से उन्होंने अपना ग्रेजुएशन किया. इसके बाद दिल्ली में रहकर तैयारी शुरू कर दी. आनंद ने परीक्षा के दूसरे प्रयास में ये रैंक हासिल की है.

परीक्षा के बारे में अपना अनुभव साझा करते हुए आनंद ने बताया कि परीक्षा की तैयार कर रहे अभ्यर्थियों को पुराने पेपर जरूर लगाने चाहिए. इसके साथ ही बेसिक्स पर ध्यान देना चाहिए. रिवीज़न सबसे अहम हिस्सा है. आनंद अपनी इस सफलता का श्रेय अपने माता-पिता को देते हैं.

किसान के बेटे से पास की परीक्षा

हरदोई के रहने वाले दीपक सिंह ने PCS परीक्षा में 20वीं रैंक हासिल की है. वो उत्तर प्रदेश पुलिस में कांस्टेबल के पद पर तैनात थे. अब सीधे SDM बनेंगे. दीपक एक किसान के बेटे हैं. उनकी सफलता के पीछे की कहानी समझने के लिए लल्लनटॉप ने उनसे बात की. उन्होंने बताया कि वो उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जिले के रहने वाले हैं. परिवार के पास थोड़े खेत है, उसी में किसानी करते हैं. उन्होंने बाराबंकी के महारानी लक्ष्मी बाई मेमोरियल इंटर कॉलेज से 2014 में दीपक ने बारहवीं पास की. आगे की पढ़ाई के लिए लखनऊ आ गए. साल 2017 में दीपक ने इतिहास और लोक प्रशासन (पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन) जैसे विषयों में लखनऊ यूनिवर्सिटी से BA की डिग्री हासिल की.

2018 में दीपक का चयन उत्तर प्रदेश पुलिस में कॉन्स्टेबल के पद पर हो गया. ट्रेनिंग के बाद जनवरी 2018 में दीपक को हरदोई पुलिस लाइन में तैनाती मिली. ड्यूटी के घंटे 8 होते थे. कभी-कभी किसी त्यौहार या किसी विशेष आयोजन के चलते इससे ज्यादा भी नौकरी करनी पड़ती थी. दीपक बताते हैं कि ड्यूटी के घंटों के बाद भी वो समय निकालकर करीब 5 घंटे रोजाना पढ़ा करते थे.

बता दें कि 23 जनवरी को उत्तर प्रदेश पब्लिक सर्विस कमीशन (UPPSC) ने अधीनस्थ सेवा परीक्षा 2023 (PCS 2023) का फाइनल रिजल्ट जारी किया था. परीक्षा में कुल 251 कैंडिडेट्स का चयन हुआ है. इसमें 167 पुरुष और 84 महिला अभ्यर्थी चयनित हुए हैं.

वीडियो: मेरठ की संजू रानी वर्मा ने शादी से बचने के लिए घर छोड़ा और अब कमाल कर दिया

thumbnail

Advertisement