The Lallantop
Advertisement

NEET पेपर लीक का मकसद था '300 करोड़ रुपये' की कमाई, इस मास्टरमाइंड की बातों ने चौंकाया

इंडिया टुडे ने पेपर लीक मामलों में मास्टरमाइंड होने के एक आरोपी ब्रजेंद्र गुप्ता से बात की. उसका दावा है कि BPSC टीचर भर्ती और ओडिशा जूनियर इंजीनियर भर्ती से जुड़ा आरोपी NEET Paper Leak का मास्टरमाइंड हो सकता है.

Advertisement
neet ug 2024 paper leak mastermind on paper leak sting operation
मार्च महीने में ब्रजेंद्र गुप्ता का एक वीडियो वायरल हुआ था. जिसमें वो कथित तौर पर NEET परीक्षा का पेपर लीक होने की बात कह रहा था. (फोटो- इंडिया टुडे)
25 जून 2024
Updated: 25 जून 2024 21:10 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

4 जून को NEET UG का रिजल्ट जारी किया गया था. रिजल्ट आने के बाद से पेपर में कथित गड़बड़ी को लेकर कई अपडेट्स सामने आ चुके हैं.मामले की जांच अभी चल रही है. इसी क्रम में एक नया खुलासा सामने आया है. पहले भी कई पेपर लीक के मामलों में गिरफ्तार हो चुके एक आरोपी के मुताबिक BPSC टीचर भर्ती और ओडिशा जूनियर इंजीनियर भर्ती से जुड़ा आरोपी NEET पेपर लीक का मास्टरमाइंड हो सकता है.

ये जानकारी इंडिया टुडे की इन्वेस्टिगेशन टीम ने जुटाई है. टीम ने पेपर लीक मामलों में मास्टरमाइंड होने के एक आरोपी ब्रजेंद्र गुप्ता से बात की. उसे पेपर लीक के अलग-अलग मामलों में दो बार गिरफ्तार किया जा चुका है. रिपोर्ट के मुताबिक ब्रजेंद्र गुप्ता पिछले 24 सालों से पेपर लीक के धंधे में लगा हुआ है. उस पर 2023 ओडिशा स्टाफ सेलेक्शन कमीशन (OSSC), BPSC और MPPSC समेत कई परीक्षाओं के पेपर लीक में शामिल होने का आरोप है.

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार NEET UG 2024 पेपर लीक मामले से पहले मार्च महीने में ब्रजेंद्र गुप्ता का एक वीडियो वायरल हुआ था. इसमें वो कथित तौर पर NEET परीक्षा का पेपर लीक होने की बात कह रहा था. रिपोर्ट के मुताबिक वीडियो में मास्क लगाए गुप्ता ने दावा किया था कि BPSC टीचर भर्ती और ओडिशा जूनियर इंजीनियर भर्ती पेपर लीक मामलों में गिरफ्तार किया गया आरोपी विशाल चौरसिया NEET का पेपर भी लीक करा सकता है.

इंडिया टुडे के स्टिंग ऑपरेशन में ब्रजेंद्र गुप्ता ने बताया कि NEET UG स्कैम का मुख्य आरोपी संजीव मुखिया पकड़ा नहीं जाएगा. गुप्ता ने आगे कहा कि पेपर लीक मामले में लगभग 700 स्टूडेंट्स को टारगेट किया गया है. रैकेट ने 200 से 300 करोड़ रुपये कमाने का टारगेट बनाया था. स्टिंग ऑपरेशन के दौरान ब्रजेंद्र ने ये भी बताया कि कैसे उन बॉक्स को तोड़ा गया, जो पेपर ले जाने के लिए इस्तेमाल किए गए थे. उसने बताया कि पेपर ले जाने वाले बक्सों को रास्ते में थोड़ा गया था.

गुप्ता ने आरोपियों के बारे में कहा,

“जेल जाएंगे, फिर बेल, और फिर शुरू होगा खेल.”

जब गुप्ता से ये पूछा गया कि वीडियो वायरल होने के बाद उसे किसी ने कॉल किया या नहीं, तो उसने कहा कि किसी के पास उसका नंबर नहीं था. उसने आगे कहा,

“जब कुछ गड़बड़ी होती है तभी शोर मचता है. NEET परीक्षा हुई. EOU की जांच सही दिशा में है. NTA भी इस बात को समझ नहीं पा रही है.”

संजीव मुखिया के बारे में गुप्ता ने बताया कि शुरुआत में वो ब्लूटूथ का इस्तेमाल कर छात्रों को आंसर बताता था. उसके मुताबिक,

“संजीव मुखिया 10 साल तक कर्ज में था. उसके ऊपर लगभग 30 करोड़ रुपये का कर्ज था. लेकिन वो कभी भी पेपर लीक रैकेट से दूर नहीं हुआ.”

गुप्ता ने मुखिया के बेटे शिव के बारे में भी जानकारी दी. शिव BPSC टीचर भर्ती के पेपर लीक मामले में गिरफ्तार किया जा चुका है. जेल में सजा काट रहा है. गुप्ता ने बताया कि शिव भी NEET पेपर लीक मामले में शामिल था.

वीडियो: NEET पेपर लीक में सबसे बड़ा खेल तो WhatsApp पर ही हुआ, ATS ने क्या बताया?

thumbnail

Advertisement

Advertisement