The Lallantop
Advertisement

8 साल से लटकी है JSSC CGL परीक्षा, अब सड़क पर उतरे अभ्यर्थियों ने सरकार को दी चेतावनी

JSSC CGL अभ्यर्थियों की सरकार से गुजारिश है कि जून तक परीक्षा की डेट जारी की जाए. अगस्त में एग्जाम कराया जाए.

Advertisement
jharkhand jssc cgl candidates flash march demand from state government
25 जून को झारखंड में होने वाली JSSC CGL परीक्षा से जुड़े अभ्यर्थियों ने राज्य के लगभग हर जिले में फ्लैश मार्च किया. (फोटो- सोर्स)
26 जून 2024 (Updated: 26 जून 2024, 17:02 IST)
Updated: 26 जून 2024 17:02 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

झारखंड स्टाफ सेलेक्शन कमीशन (JSSC) की CGL परीक्षा का मामला एक बार फिर गर्माया हुआ है. परीक्षा से जुड़े छात्रों ने एग्जाम कराने को लेकर राज्य के लगभग हर जिले में विरोध प्रदर्शन किया. CGL परीक्षा के अभ्यर्थियों की मांग है कि सरकार जल्द से जल्द एग्जाम कराए और सेलेक्टेड कैंडिडेट्स को जॉइनिंग दे.

JSSC CGL परीक्षा पर बवाल

25 जून को झारखंड में होने वाली JSSC CGL परीक्षा से जुड़े अभ्यर्थियों ने राज्य के लगभग हर जिले में फ्लैश मार्च किया. प्रसनजीत नाम के अभ्यर्थी की अगुआई में अलग-अलग जगह प्रदर्शन किए गए. झारखंड के युवाओं की परीक्षा से जुड़ी मुख्य दो मांगें हैं. अभ्यर्थियों की सरकार से डिमांड है कि JSSC CGL परीक्षा को अगस्त महीने में कराया जाए. इसके साथ ही अभ्यर्थी ये मांग कर रहे हैं कि अगस्त में परीक्षा के बाद 30 सितंबर से पहले सेलेक्टेड अभ्यर्थियों को जॉइनिंग दी जाए.

दी लल्लनटॉप से बात करते हुए एग्जाम से जुड़े एक अभ्यर्थी ने नाम ना जाहिर करने की शर्त पर बताया,

“सरकार से गुजारिश है कि जून तक परीक्षा की डेट जारी की जाए. अगस्त में एग्जाम कराया जाए. इसके बाद सितंबर महीने तक जॉइनिंग दी जाए. ऐसा नहीं होता है तो आगामी विधानसभा चुनाव में सरकार का जाना तय है. कोई भी युवा सरकार को वोट नहीं देंगे. सरकार का जाना तय हो जाएगा.”

एक अन्य अभ्यर्थी ने बताया,

“JSSC CGL का एग्जाम सरकार मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट (MCC) लागू करने से पहले पूरा कराए. चुनाव शुरू होने से पहले परीक्षा की प्रक्रिया पूरी होनी चाहिए. 11 जून को हम सब आयोग गए थे, जहां हमें विश्वास दिलाया गया था कि एक हफ्ते के अंदर परीक्षा का कैलेंडर जारी होगा. लेकिन 15 दिन बीतने के बाद भी ऐसा नहीं हो पाया है.”

आयोग ने संभावित समय बताया, लेकिन..

अभ्यर्थियों के प्रदर्शन के बाद आयोग ने 26 जून को एग्जाम कैलेंडर जारी किए. लेकिन इससे खुश नहीं हैं. क्योंकि कैलेंडर में JSSC CGL की परीक्षा की संभावित तारीख नहीं बताई गई है. आयोग ने नोटिस में बताया है कि परीक्षा अगस्त के तीसरे हफ्ते में आयोजित कराई जा सकती है. वहीं परीक्षा का रिजल्ट अक्टूबर के तीसरे हफ्ते तक जारी हो सकता है. अभ्यर्थियों का कहना है कि दिसंबर के आसपास राज्य में चुनाव होने हैं. अक्टूबर में आचार संहिता लागू हो जाएगी. ऐसे में परीक्षा का रिजल्ट प्रभावित हो सकता है.

8 साल से लटकी परीक्षा!

बता दें कि JSSC CGL की परीक्षा 8 साल से भी ज्यादा वक्त से लटकी हुई है. 28 जनवरी, 2024 को परीक्षा का आयोजन किया गया था. लेकिन पेपर लीक होने के चलते आयोग ने इसे रद्द करने के आदेश दे दिए. पेपर लीक के विरोध में राज्य के अलग-अलग इलाकों में विरोध प्रदर्शन भी हुए थे.

28 जनवरी को परीक्षा से पहले ही पेपर-3 लीक हो गया था. राज्य के 735 केंद्रों पर आयोजित परीक्षा का प्रश्न पत्र और आंसर-की एक रात पहले ही सोशल मीडिया पर वायरल हो गए. CGL परीक्षा में तीन पेपर हुए. पेपर-1 क्वालिफाइंग था. जिसमें हिंदी व अंग्रेजी के सवाल थे. पेपर-2 रीजनल लैंग्वेज का था. जबकि पेपर-3 में जनरल नॉलेज के प्रश्न पूछे गए थे. पेपर-2 और 3 के नंबर फाइनल मेरिट में जोड़े जाते हैं. पेपर-3 के सवाल लीक हो गए. परीक्षा के बाद सवालों का मिलान किया गया तो ज्यादातर सवाल और जवाब मिल रहे थे. आयोग ने 28 जनवरी को पेपर लीक का खुलासा होने के बाद तीसरे पेपर को रद्द कर दिया. 31 जनवरी को आयोग ने 28 जनवरी की पूरी परीक्षा रद्द कर दी. जिसके बाद 4 फरवरी को प्रस्तावित परीक्षा को भी रद्द कर दिया गया था.

2016 में पहली बार होनी थी!

JSSC सहायक शाखा अधिकारी, ब्लॉक आपूर्ति अधिकारी, ब्लॉक कल्याण अधिकारी, योजना सहायक, ब्लॉक पंचायत राज अधिकारी जैसे विभिन्न पदों के लिए भर्ती आयोजित करता है. 28 जनवरी को लीक हुए पेपर की कहानी 8 साल पहले से शुरू होती है. साल था 2016. प्रदेश में बीजेपी की अगुआई में रघुबर दास की सरकार थी. JSSC की कंबाइन्ड ग्रेजुएट लेवल परीक्षा 21 अगस्त 2016 को प्रस्तावित थी. इसके लिए 6 अगस्त को एडमिट कार्ड जारी करने की बात हुई. लेकिन परीक्षा पूरी नहीं हो पाई.

आयोग ने साल 2017-18 में होने वाली परीक्षाओं का कैलेंडर जारी किया. CGL परीक्षा फरवरी-मार्च 2018 में कराने की बात हुई. पर परीक्षा नहीं हुई. फिर कहा गया परीक्षा नवंबर-दिसंबर 2019 में होगी. इस बार भी नहीं हो पाई. साल 2020 में प्रदेश में सरकार बदली. JMM की अगुआई में हेमंत सोरेन की सरकार बनी. नई सरकार ने नए सिरे से परीक्षा कराने की बात कही. 5 मई 2021 को परीक्षा नोटिफिकेशन जारी किया गया. मई 2022 में परीक्षा होनी थी. फिर कहा गया 21 अगस्त 2022 को परीक्षा होगी. 28 जुलाई 2022 को आयोग ने नोटिस जारी किया. कहा CGL परीक्षा 2021 अपरिहार्य कारणों से स्थगित कर दी गई है.

14 नवंबर 2022 को आयोग ने नोटिस जारी कर कहा कि CGL परीक्षा 21, 22, 28 और 29 जनवरी 2023 को आयोजित की जाएगी. लेकिन परीक्षा का वही हाल रहा. फिर लटक गई. इसके बाद सितंबर 2023 में परीक्षा कराने की बात कही गई. इस तारीख पर भी परीक्षा नहीं हो पाई. आयोग ने नया नोटिफिकेशन निकाला. विज्ञापन संख्या-10/2023 के तहत कुल 2017 पदों पर भर्ती कराने की बात हुई. 28 जनवरी और 4 फरवरी 2024 को परीक्षा होना सुनिश्चित किया गया. पर इतनी बार पेपर कैंसिल होने के बाद अंत में जब इस साल परीक्षा हुई तो पेपर ही लीक हो गया.

वीडियो: Paper Leak और Scam का पर्याय बने NTA के पीछे के चेहरे कौन?

thumbnail

Advertisement

Advertisement