The Lallantop
Advertisement

एकलव्य मॉडल स्कूल भर्ती के हजारों अभ्यर्थियों की जॉइनिंग कब होगी? पोस्टिंग मेल के बाद भी पता नहीं

अभ्यर्थियों का दावा है कि 10 हजार 391 में से '7700' अभ्यर्थियों को पोस्टिंग का मेल आया है. बाकी की पोस्टिंग अभी लटकी है. इनमें से कई अभ्यर्थियों के पास NESTS से ये मेल भी आया है कि वो इस नौकरी के लिए एलिजिबल नहीं हैं.

Advertisement
Eklavya Model Residential Schools EMRS Staff Selection Recruitment students on joining letter nests
3 जनवरी 2024 को NESTS ने परीक्षा की आंसर-की जारी की. 13 जनवरी को फाइनल रिजल्ट आया. (फोटो- सोर्स)
21 जून 2024
Updated: 21 जून 2024 23:19 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

NEET 2024 और UGC NET परीक्षा में हुई कथित गड़बड़ी का मामला कई दिनों से खबरों में छाया हुआ है. अब एकलव्य मॉडल रेसिडेंशियल स्कूल (EMRS) स्टाफ सेलेक्शन भर्ती (NESTS EMRS Recruitment) से जुड़े अभ्यर्थियों ने सरकार पर जॉइनिंग ना देने और देरी करने के आरोप लगाए हैं. परीक्षा में पास हजारों अभ्यर्थियों को जॉइनिंग लेटर मिलने के बाद भी अब तक प्लेस ऑफ पोस्टिंग नहीं बताई गई है. इतना ही नहीं, जॉइनिंग लेटर मिलने के बाद भी कई अभ्यर्थियों को ये सूचना दी गई है कि वो पोस्ट के लिए एलिजिबल नहीं हैं.

एकलव्य मॉडल रेसिडेंशियल स्कूल (EMRS) स्टाफ सेलेक्शन भर्ती का पूरा मामला क्या है, डिटेल में समझते हैं.

10 हजार 391 वेकेंसी निकाली थीं

सरकार ने आदिवासी मामलों के मंत्रालय (MoTA) के तहत एकलव्य मॉडल रेजिडेंशियल स्कूल (EMRS) स्कूल स्थापित किए थे. ये स्कूल अनुसूचित जनजाति (ST) कैटेगरी के छात्रों को क्लास 6वीं से 8वीं तक की पढ़ाई की सुविधा देने के लिए स्थापित किए गए थे. मंत्रालय के अंतर्गत आने वाले नेशनल एजुकेशन सोसाइटी ऑफ ट्राइबल स्टूडेंट्स (NESTS) ने EMRS में अलग-अलग पदों पर भर्ती के लिए वेकेंसी निकाली थी. 18 अगस्त 2023 तक फॉर्म भरे गए.

NESTS ने एकलव्य स्कूलों में TGT, PGT, लैब अटेंडेंट, अकाउंटेंट, हॉस्टल वार्डन और प्रिंसिपल के पदों के लिए कुल 10 हजार 391 वेकेंसी निकाली थीं. 16, 17 दिसंबर और 23 व 24 दिसंबर को दो-दो पालियों में परीक्षा कराई गई. 3 जनवरी 2024 को NESTS ने परीक्षा की आंसर-की जारी की. 13 जनवरी को फाइनल रिजल्ट आया. इसके बाद बारी आई डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन (DV) की. छात्रों को पोस्ट के हिसाब से अलग-अलग जगह DV के लिए बुलाया गया. 5 और 13 फरवरी को DV आयोजित किया गया. परीक्षा से जुड़े अभ्यर्थी आशीष ने लल्लनटॉप से बताया,

“DV के लिए एक दिन पहले मेल कर मुझे बताया गया कि मुझे तेलंगाना रिपोर्ट करना है. आनन-फानन में मैंने सारे डॉक्यूमेंट्स अरेंज किए और फ्लाइट से अगले दिन तेलंगाना पहुंचा. 45 मिनट से ज्यादा मेरा DV हुआ. एक-एक डॉक्यूमेंट बारीकी से चेक किया गया. जिसके बाद हमसे वहां से जाने को कहा गया. इसके अलावा कोई भी जानकारी नहीं दी गई.”

अपॉइंटमेंट लेटर मिले

EMRS की परीक्षा देने वाले अभ्यर्थियों के मुताबिक DV होने के बाद उनके पास अपॉइंटमेंट लेटर का मेल आने लगा. मार्च में कई अभ्यर्थियों के पास अपॉइंटमेंट लेटर पहुंचे. जिसमें ये जानकारी थी कि उन्हें जॉइनिंग के वक्त कौन-कौन से डॉक्यूमेंट की जरूरत है. साथ ही पोस्ट में मिलने वाली सैलरी की जानकारी भी अपॉइंटमेंट लेटर में मौजूद थी.

7700 अभ्यर्थियों को पोस्टिंग का मेल आया, बाकी का क्या?

भर्ती से जुड़े अभ्यर्थियों का कहना है कि 1 जून से कई अभ्यर्थियों के पास पोस्टिंग के मेल आने लगे. अभ्यर्थियों का दावा है कि 10 हजार 391 में से 7700 अभ्यर्थियों को पोस्टिंग का मेल आया है. बाकी की पोस्टिंग अभी लटकी है. इनमें से कई अभ्यर्थियों के पास NESTS से ये मेल भी आया है कि वो इस नौकरी के लिए एलिजिबल नहीं हैं. NESTS का कहना है कि कई अभ्यर्थियों के पास पूरे डॉक्यूमेंट नहीं थे. अपॉइंटमेंट लेटर मिलने के बाद भी जिन अभ्यर्थियों के पास पोस्टिंग का मेल नहीं आया वो सरकार से सवाल पूछ रहे हैं कि ऐसा क्यों किया जा रहा है. 

लल्लनटॉप से एक अभ्यर्थी ने नाम ना छापने की शर्त पर बताया,

“हमने परीक्षा पास की. उसके बाद DV के लिए भी गए. वहां हमें कुछ नहीं बताया गया. अगर डॉक्यूमेंट में कुछ गड़बड़ी थी तो वो हमें पहले ही बता दी जानी चाहिए थे. लास्ट स्टेज में आकर हमसे नौकरी ही छीनी जा रही है. हम NESTS के ऑफिस भी गए. अधिकारियों से मिलने की कोशिश की. वहां हमारी कोई भी बात नहीं सुन रहा है. हमसे कहा जा रहा है कि जो भी जानकारी होगी वो हमें मेल के द्वारा दे दी जाएगी.”

परीक्षा से जुड़े अभ्यर्थियों का कहना है कि उन्हें NESTS की तरफ से 30 जून तक का समय दिया गया है. लेकिन अभ्यर्थी इस बात को लेकर सुनिश्चित नहीं हैं कि उनको पोस्टिंग दी जाएगी या नहीं. पिछले कई दिनों से अभ्यर्थी दिल्ली स्थित NESTS के ऑफिस का चक्कर लगा रहे हैं. लेकिन अधिकारियों की तरफ से उन्हें कोई ठोस जवाब नहीं मिला है. लल्लनटॉप ने NESTS के अधिकारियों से संपर्क साधने की कोशिश की, लेकिन उनकी तरफ से अभी कोई जवाब नहीं है. जवाब आते ही खबर अपडेट की जाएगी.

वीडियो: 'मुझसे गलती हुई…' NEET में गड़बड़ी पर शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने क्या गलती मानी?

thumbnail

Advertisement

Advertisement