The Lallantop
Advertisement

बोर्ड परीक्षा में खुलेआम नकल, पैसे लेकर खुद स्टाफ करता है मदद, वीडियो भी सामने आया

परीक्षा केंद्र में जाने से पहले स्टूडेंट्स से पैसे लिए जाते हैं. पैसे देने वाले स्टूडेंट्स अपने साथ सेंटर में मोबाइल, चिट और किताबें ले जाते हैं. और परीक्षा देते हैं.

Advertisement
chhattisgarh board exam open cheating by management and teachers on pretext of money
परीक्षा के सुपरवाइजर, टीचर और सेंटर हेड पेपर सॉल्व कराने के लिए पैसे लेते हैं. (फोटो- ट्विटर)
19 मार्च 2024 (Updated: 19 मार्च 2024, 23:23 IST)
Updated: 19 मार्च 2024 23:23 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, राजस्थान के बाद अब छत्तीसगढ़ से परीक्षा में धांधली की खबर सामने आई है. छत्तीसगढ़ के ओपन स्कूल बोर्ड परीक्षा में खुलेआम नकल कराई गई (Chhattisgarh board exam cheating). चिट, किताब से लेकर मोबाइल फोन का इस्तेमाल पेपर सॉल्व करने के लिए किया जा रहा है. नकल कराने के लिए स्कूल के टीचर्स और अन्य कर्मचारी पैसे की उगाही कर रहे हैं.

दरअसल, छत्तीसगढ़ में 10वीं की बोर्ड परीक्षा चल रही है. परीक्षा के दौरान राज्य के सक्ति जिले के छापोरा इलाके स्थित उच्चतर माध्यमिक स्कूल का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ. इसमें देखा जा सकता है कि स्टूडेंट्स मोबाइल रखे हुए पेपर सॉल्व कर रहे हैं. इंडिया टुडे से जुड़ीं सुमी राजप्पन की रिपोर्ट के मुताबिक परीक्षा के सुपरवाइजर, टीचर और सेंटर हेड पेपर सॉल्व कराने के लिए पैसे लेते हैं. जिसके बाद उन्हें चीटिंग मटेरियल दिया जाता है.

रिपोर्ट के मुताबिक परीक्षा केंद्र में जाने से पहले स्टूडेंट्स से पैसे लिए जाते हैं. पैसे देने वाले स्टूडेंट्स अपने साथ सेंटर में मोबाइल, चिट और किताबें ले जाते हैं. और परीक्षा देते हैं. इतना ही नहीं, इतने सारे इंतजाम के बाद भी अगर स्टूडेंट पेपर में आए सवालों को हल नहीं कर पाते तो वो सवाल की फोटो खींचते हैं. बाहर बैठे अपने दोस्त और परिचितों को भेजते हैं. फिर वो सवाल का जवाब ढूंढते हैं और उन्हें चिट या मोबाइल से फोटो लेकर भेज देते हैं.

पत्रकार को पीटा

छत्तीसगढ़ राज्य ओपन बोर्ड की 10वीं की साइंस की परीक्षा 14 मार्च के दिन थी. एक स्थानीय वेब पोर्टल के पत्रकार को परीक्षा में हो रही नकल की जानकारी मिली. इस पर वह रिपोर्टिंग करने के लिए पहुंच गए. दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के मुताबिक पत्रकार ने आरोप लगाए कि जब उन्होंने नकल को लेकर सवाल उठाए तो केंद्र में मौजूद टीचर्स ने उन्हें जमकर पीटा. इतना ही नहीं जिस मोबाइल से वो वीडियो बना रहा थे, उसे भी तोड़ दिया गया.

छत्तीसगढ़ राज्य ओपन स्कूल की सचिव पुष्पा साहू से जब सामूहिक नकल को लेकर पूछा गया तो उन्होंने अखबार को बताया कि आयोग मामले की जांच करेगा. अगर कुछ भी ऐसा पाया जाता है तो आरोपी लोगों पर कार्रवाई की जाएगी.

वीडियो: झारखंड में सिविल सेवा का पेपर लीक, झुंड में बैठकर पेपर सॉल्व करते दिखे अभ्यर्थी

thumbnail

Advertisement

election-iconचुनाव यात्रा
और देखे

Advertisement

Advertisement