Submit your post

Subscribe

Follow Us

केजरीवाल ने कहा पंजाब का सीएम पंजाबी होगा, लेकिन एक लूपहोल है

पंजाब के मोहाली में दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ओवर एक्साइटेड हो गए. कह दिया कि अरविंद केजरीवाल को मुख्यमंत्री बनाने के लिए वोट दीजिए. बवाल मच गया भाइयों बहनों. केजरीवाल ने आज यानी बुधवार को सब शुद्ध कर दिया. पटियाला में स्पीच दी जिसमें कहा कि वो दिल्ली के मुख्यमंत्री रहेंगे. पंजाब का मुख्यमंत्री पंजाब से होगा. हां पंजाब से जो वादे किए हैं, वो निभाने की मेरी जिम्मेदारी है.

लेकिन कदरदान साहिबान इस मसले में एक पेंच है. वो हैं स्वयं अरविंद केजरीवाल और उनकी कसमें. इतिहास साक्षी है (ये लाइन बड़ी मारक है, बात में वजन लाती है मामला भले दो महीने पुराना हो) कि केजरीवाल की कसमें टूटने के लिए ही होती हैं. अब फ्री वाई फाई वाले भिखारी गाना न गाएं कि “वादे पे तेरे मारा गया बंदा मैं सीधा सादा.” प्लीज यार ये चिरकुटई बंद करो. हम बड़े लेवल की बात बता रहे हैं और तुम सनी लियोनी के भक्त फोकट नेट के पीछे पड़े हो.

बात वादों की. ऑफिसियली देखा जाए तो ये केजरीवाल की तीसरी कसम है. पहली कसम उन्होंने अपने बच्चों की खाई थी. कि धरती फट जाए चाहे या आसमान में ग्रीस पोत जाए. कांग्रेस का समर्थन नहीं लेंगे. मौका था पहली बार दिल्ली में जीत का. ‘आप’ ने 28 सीटें जीती थीं. मेजोरिटी थी नहीं. तो कांग्रेस ने बिना शर्त समर्थन पेश किया. ‘आपने’ लपक लिया और सरकार बना ली. हालांकि बाद में इस्तीफा दे दिया. ये सब कुछ हुआ था “जनता से पूछकर.”

Arvind_Kejriwal_resignation_announcement

दूसरी कसम थी कि दिल्ली छोड़कर नहीं जाएंगे. फिर 2014 में लोकसभा चुनाव हुए और वादा टूट गया. वाराणसी से नरेंद्र मोदी के खिलाफ लड़ने के लिए कूद गए. जनता से पूछने का टाइम नहीं था. जल्दी जल्दी में सब हो गया. खैर वहां गंगा मैया ने सिर्फ मोदी जी को बुलाया था. तो इनको वापस कर दिया.

ArvindKejriwal_Varansi_PTI

फिर ये चुनाव आ गए हैं. विधानसभा वाले. इसमें गोवा और पंजाब ने केजरीवाल को बुला लिया है. जनता से पूछकर गए हैं. वैसी कोई बात नहीं है.

पेंच ये है कि मनीष सिसोदिया ने जो बात कही वो बिना सिर पैर की तो होगी नहीं. हो सकता है पब्लिक का मन लेने के लिए कही हो. लेकिन पब्लिक से पहले विपक्षी टिंचर देने लगते हैं इसके लिए केजरीवाल ने कटती पतंग को लपेट लिया. अब बात पेंच की. सोचो अगर पंजाब का मुख्यमंत्री बनने के लिए जनता से राय मांग ली तो क्या होगा? पंजाब की जनता कहेगी “आइए आइए.” दिल्ली की जनता कहेगी “जाइए जाइए.” फिर तो मजबूरन वहां पदभार लेना ही पड़ेगा न.


ये भी पढ़ें:

राहुल गांधी ने आज मंच पर जो किया, वो कोई और नेता करने की सोच भी नहीं सकता

पंजाब में AAP जीती, तो CM होंगे केजरीवाल और शुरू हो गई भसड़!

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

शिवराज सिंह चौहान के राज में टीचर मुर्गा बने घूम रहे, पढ़ाई में व्यापम हो रहा

एक साथ 60 टीचर मुर्गा बने. मुर्गा बनना और बनाना भारत की शिक्षा व्यवस्था का हिस्सा रहा है.

पूरी दुनिया कुत्तों पर भरोसा करे, यूपी पुलिस लंगूर पर

जिस देश में जानवरों को पीट-पीटकर मार डाला जाता है, वहां इस लंगूर ने धमाल मचा रखा है.

इस लड़के को पहचान लिया, तो मान लेंगे कि आप फिल्में देखते हैं!

10 साल पहले आई इसकी एक फिल्म ने रुला दिया था. अब ये लौट रहा है.

पुलिस को पांच महीने पहले से पता था, नाभा जेल के कैदी भागने वाले हैं!

27 नवंबर 2016 में पंजाब की नाभा जेल से भागे थे 5 गैंगस्टर.

अपने वॉल्वरीन का कैंसर उभर आया है, रील नहीं रियल लाइफ में

पर मुझे भरोसा है कि उसे कुछ नहीं होगा

पाकी टॉकी

पाकिस्तान में बन रहा नया उसूल, रसूल के नाम पर किसी को जान से ना मारो

पाकिस्तानी सरकार ईशनिंदा कानून पर दोबारा सोच रही है पर हजारों लोग एक हत्यारे की मजार पर शीश नवाने जा रहे हैं.

इससे अच्छी लव स्टोरी इस वैलेंटाइन्स वीक नहीं मिलेगी

सनोबर और उनके पति संघर्ष और जिंदगी की मिसाल हैं.

रिश्तेदार को नहीं पसंद थी परिवार का पेट भरती लड़की, तो गोली मार दी

वहां कसाब जैसा कोई घर से निकलता है तो बुरा नहीं लगता, नौकरी करती लड़की इज्जत में दाग लगाती है.

हाफिज सईद ने बदला अपने ग्रुप का नाम, इशारा सीधा कश्मीर की ओर

पाकिस्तान बेहद खतरनाक तरीके से खुद के साथ भारत को भी फंसा रहा है.

भौंचक

वैलेंटाइन्स डे पर भगवान कृष्ण को मिल रहा है सरप्राइज गिफ्ट

इंसान जो है, वो हर चीज को अपने जरूरत के हिसाब से देखता है, भगवान भी उन्हीं में से एक हैं.

एक लड्डू खाने से डेढ़ महीने तक देशभक्ति बढ़ी रहती है

दिल्ली एमसीडी के जो फैसले हैं न दोस्त, सुन लो, लॉजिक छितरा जाएंगे.

स्मगलिंग के लिए सबसे भरोसेमंद है भारत की सरकारी डाक

डाकिया डाक लाया, मगर ये क्या लाया? आइला ये तो जानवर है.

वैलेंटाइन्स डे पर छिंदवाड़ा कलेक्टर का आदेश पढ़ने के बाद पत्थर खोज रहा हूं

उनको मारने के लिए नहीं बल्कि वो पत्थर अपना सिर फोड़ लेने के लिए चाहिए.

राहुल द्रविड़ और उनकी टीम को हर शाम खाने का जुगाड़ करना पड़ रहा है

मोदीजी और कोर्ट के फैसले के कॉकटेल का कमाल है.