Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

बोटॉक्स इलाज 800 रोगों का करता है, पर इसका 1 किलो पूरे इंडिया को मार देगा

किस्से-कहानियों से लेकर अपने दैनिक जीवन में हम हमेशा एक ऐसी दवाई खोजते हैं जो हर रोग में काम आये. ये एक अलग तरह का रोग है. तभी तो लोग पैरासिटामॉल और ब्रूफेन तक को रामबाण की तरह इस्तेमाल करने लगते हैं. उत्तराखंड सरकार ने तो बाकायदा 25 करोड़ रुपये लगा दिये संजीवनी बूटी की खोज करने में.

पर एक ऐसी दवा आई है जो लगभग 800 रोगों में काम कर रही है. ताज्जुब की बात है कि जिस चीज से ये दवा बनती है, वो जहर ही है इंसान के लिए. फिर इसका इस्तेमाल अभी तक चेहरे की झुर्रियों को मिटाने में होता था. बोटॉक्स कहते हैं इसको. दस साल से ये नाम हमेशा चर्चा में रहा है. क्योंकि अक्सर मीडिया में एक्टर-एक्ट्रेसों के बोटॉक्स कराने की खबर आती रहती है. कि उम्र से कम दिखने में ये दवा बड़ी हेल्प करती है. पर इसका नया वाला रूप तो जनता में कम ही आया है.

बोटॉक्स एक बैक्टीरिया क्लॉस्ट्रीडियम बॉटुलिनम से बनता है. अगर इस बैक्टीरिया को खा लिया जाए तो फूड पॉइजनिंग हो जाएगी. जब ये ड्रग शरीर में प्रवेश करता है तो मांसपेशियों और स्नायुओं के बीच का कम्युनिकेशन काट देता है. इसी वजह से बोटॉक्स कराने के बाद झुर्रियां खत्म हो जाती हैं, क्योंकि मांसपेशियों को आराम मिल जाता है. वो सिकुड़ती नहीं. पर अगर ये ज्यादा हो जाए तो इसके साइड इफेक्ट खतरनाक होते हैं.

टाइम मैगजीन के मुताबिक अमेरिका के एक साइकियाट्रिस्ट नॉर्मन रोजेनथल के पेशेंट ने कहा कि सुसाइड करने का मन कर रहा है. तो डॉक्टर ने बोटॉक्स कराने की सलाह दे दी. पेशेंट तो सरप्राइज्ड हो गया. पर बोटॉक्स कराने के बाद फायदा हुआ उसे. यहां डिप्रेशन में काम आई थी ये दवा.

70 के दशक में ऑप्थैल्मोलॉजिस्ट एलन ने इस बैक्टीरिया के बारे में पढ़ना शुरू किया था. वो क्रॉस-आइज के इलाज के बारे में रिसर्च कर रहे थे.

क्रॉस-आइज (Symbolic Image)
क्रॉस-आइज (Symbolic Image)

उन्होंने पाया कि ये तो बड़ा फायदा कर रहा है इस समस्या में. उन्होंने इस ड्रग को नाम दिया ऑकुलिनम. 1978 में इसी नाम से कंपनी बना ली. 1989 में उनको अनुमति मिल गई क्रॉस-आइज के इलाज के लिए. दो साल बाद कंपनी एलर्जन ने ऑकुलिनम को खरीद लिया. और ड्रग का नाम बदलकर बोटॉक्स कर दिया गया. एलर्जन उस वक्त कॉन्टैक्ट लेंस और ड्राय आइज की दवाइयां बनाती थीं.

Pfizer-Allergan
Allergan co.

1998 में एलर्जन का नया सीईओ आया. डेविड. बोटॉक्स की झुर्रियों को मिटाने वाली काबिलियत इसे बहुत पसंद आई. इस पर डेविड ने बहुत मेहनत की. 2001 में बोटॉक्स को इस इलाज में इस्तेमाल के लिए अनुमति मिल गई. फिर कुछ दिन बाद बोटॉक्स कराने वाले लोगों ने बताया कि इसके बाद माइग्रेन का दर्द भी कम हो जा रहा है. तो पता चला कि माइग्रेन का भी इलाज कर सकता है ये. धीरे-धीरे पता चलने लगा कि बैक पेन, प्रीमेचर इजैकुलेशन, डिप्रेशन, क्लेफ्ट लिप सबमें बोटॉक्स फायदा करता है.

एलर्जन बोटॉक्स से जुड़ी रिसर्च पर 90 हजार करोड़ रुपये सालाना खर्च करती है. 150 हजार करोड़ तो इनका सालाना फायदा है बोटॉक्स के बिजनेस में. बोटॉक्स से जुड़े 800 पेटेंट करा चुकी है ये कंपनी.

कमाल की बात ये है कि बोटॉक्स इतनी जहरीली चीज से बनता है कि उसके कुछ किलो से ही दुनिया के सारे लोगों को मारा जा सकता है. पर इसको डायल्यूट कर इंजेक्शन दे दिया जाता है लोगों को. तो ये अमृत बन जाता है. अगर ऐसी ही कुछ और चीजें मिल जाएं तो मजा आ जाए.


क्या आपको पता है कि नाखूनों पर सफेद आधा चांद कितनी जालिम चीज है?

 

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

राजेश खन्ना ने किस नेता के खिलाफ चुनाव लड़ा और जीता था?

राजेश खन्ना के कितने बड़े फैन हो, ये क्विज खेलो तो पता चलेगा.

गेम ऑफ थ्रोन्स खेलना है तो आ जाओ मैदान में

अगर ये शो देखा है तभी इस क्विज में कूदना. नहीं तो सिर्फ टाइम बरबाद होगा.

कोहिनूर वापस चाहते हो, लेकिन इसके बारे में जानते कितना हो?

पिच्चर आ रही है 'दी ब्लैक प्रिंस', जिसमें कोहिनूर की बात हो रही है. आओ, ज्ञान चेक करने वाला खेल लेते हैं.

कर लिया योगा? अब क्विज खेलने से होगा

आन्हां, ऐसे नहीं कि योग बस किए, दिखाना पड़ेगा कि बुद्धिबल कित्ता बढ़ा.

कौन है जो राहुल गांधी से जुड़े हर सवाल का जवाब जानता है?

क्विज है राहुल गांधी पर. आगे कुछ न बताएंगे. खेलो तो बताएं.

Quiz: संजय दत्त के कान उमेठने वाले सुनील दत्त के बारे में कितना जानते हो?

जिन्होंने अपनी फ़िल्मी मां से रियल लाइफ में शादी कर ली.

कांच की बोतल को नष्ट होने में कितना टाइम लगता है, पता है आपको?

पर्यावरण दिवस पर बात करने बस से न होगा, कुछ पता है इसके बारे में?

माधुरी से डायरेक्ट बोलो 'हम आपके हैं फैन'

आज जानते हो किसका हैप्पी बड्डे है? माधुरी दीक्षित का. अपन आपका फैन मीटर जांचेंगे. ये क्विज खेलो.

विजय, अमिताभ बच्चन नहीं, जितेंद्र थे. क्विज खेलो और जानो कैसे!

आज जितेंद्र का बड्डे है, 75 साल के हो गए.

पापा के सामने गलती से भी ये क्विज न खेलने लगना

बियर तो आप देखते ही गटक लेते हैं. लेकिन बियर के बारे में कुछ जानते भी हैं. बोलो बोलो टेल टेल.

न्यू मॉन्क

इस्लाम में नेलपॉलिश लगाने और टीवी देखने को हराम क्यों बताया गया?

और हराम होने के बावजूद भी खुद मौलाना क्यों टीवी पर दिखाई देते हैं?

सावन से जुड़े झूठ, जिन पर भरोसा किया तो भगवान शिव माफ नहीं करेंगे

भोलेनाथ की नजरों से कुछ भी नहीं छिपता.

हिन्दू धर्म में जन्म को शुभ और मौत को मनहूस क्यों माना जाता है?

दूसरे धर्म जयंती से ज़्यादा बरसी मनाते हैं.

जानिए जगन्नाथ पुरी के तीनों देवताओं के रथ एक दूसरे से कैसे-कैसे अलग हैं

ये तक तय होता है कि किस रथ में कितनी लकड़ियां लगेंगी.

सीक्रेट पन्नों में छुपा है पुरी के रथ बनने का फॉर्मूला, जो किसी के हाथ नहीं आता

जानिए जगन्नाथ पुरी रथ यात्रा के लिए कौन-कौन लोग रथ तैयार करते हैं.

श्री जगन्नाथ हर साल रथ यात्रा पर निकलने से पहले 15 दिन की 'सिक लीव' पर क्यों रहते हैं?

25 जून से जगन्नाथ पुरी की रथ यात्रा शुरू हो गई है.

भगवान जगन्नाथ की पूरी कहानी, कैसे वो लकड़ी के बन गए

राजा इंद्रद्युम्न की कहानी, जिसने जगन्नाथ रथ यात्रा की स्थापना की थी.

उपनिषद् का वो ज्ञान, जिसे हासिल करने में राहुल गांधी को भी टाइम लगेगा

जानिए उपनिषद् की पांच मजेदार बातें.

असली बाहुबली फिल्म वाला नहीं, ये है!

अगली बार जब आप बाहुबली सुनें तो सिर्फ प्रभाष के बारे में सोच कर ही ना रह जाएं.

द्रौपदी के स्वयंवर में दुर्योधन क्यों नहीं गए थे?

महाभारत के दस रोचक तथ्य.