Submit your post

Subscribe

Follow Us

इस गांव में द्रौपदी ने की थी छठ पूजा

नॉर्थ इंडिया इमोशनल हुआ पड़ा है. दिवाली के बाद छठ पूजा पर जोर है. रांची में इसका अलग ही भौकाल है. यहां का नगड़ी गांव अलग टाइप की पूजा के लिए फेमस है. यहां व्रती नदी या तालाब में अर्घ्य नहीं देते. बल्कि गड्ढे में पूजा होती है. चुआ कहते हैं उसको.

इसके पीछे एक वजह है. कहते हैं पांडव जब जंगल की खाक छान रहे थे तो झारखंड के इसी हिस्से में रहे थे. उन लोगों को प्यास लगी. तो द्रौपदी ने अर्जुन से कहा कि जुगाड़ करो. अर्जुन ने तीर मारकर जमीन से पानी निकाला. इसी पानी के सोर्स के पास द्रौपदी सूरज को अर्घ्य देती थीं. कहते हैं कि महाभारत में जो एकचक्रा नगरी की बात कही गई है वो यही नगरी थी.

इस गांव से थोड़ी दूर हरही गांव है. इसको भीम का ससुराल कहा जाता है.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

ये क्विज खेलोगे तो मोगैम्बो खुश होगा

आंख फैलाकर, नाक फुलाकर हीरो-हीरोइन को डराने वाला ये एक्टर आज के दिन दुनिया से रुखसत हो गया था.

मस्तानी के मस्तानों के लिए बर्थडे गर्ल दीपिका पर क्विज

दीपिका के 31 होने की खुशी में उनके फैन्स के लिए लल्लनटॉप क्विज.

बाबू मोशाय जिंदगी और मौत ऊपर वाले के हाथ है, ये क्विज तुम्हारे हाथ

राजेश खन्ना के फैन हो, नहीं हो तो भी ये क्विज खेल डालो. क्योंकि आज बड्डे है उनका.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.

QUIZ: देश के सबसे महान स्पोर्टसमैन को कितना जानते हैं आप?

अगर जवाब है, तो आओ खेलो. आज ध्यानचंद की बरसी है.

लल्लन ख़ास

पानी अब जल नहीं रहा...

विश्व पुस्तक मेले के सातवें दिन का आंखों देखा हाल.

ये गांव इतना ठंडा है कि कब्र खोदने में तीन दिन लगते हैं

चश्मा चेहरे पर चिपक जाता है यहां ठंड में. और कारें कभी बंद नहीं की जातीं.

कश्मीर से दिल खुश करने वाली खबर आई है

सबको इस आदमी की हिम्मत की तारीफ करनी चाहिए.

एक-दूसरे को छूने-चूमने-भोगने के अलावा इनके पास कोई विषय नहीं है

एक कहानी रोज़ में पढ़िए आज कवि उस्मान खान की कहानी.

एक कविता रोज़: वही शमशेर मुज़फ़्फ़रनगरी है शायद

कल थी शमशेर बहादुर सिंह की जन्मतिथि, आज पढ़िए उनके कुछ शे'र.