लक्षणों के बावजूद RT-PCR टेस्ट है नेगेटिव, तो...

कोरोना वायरस की दूसरी लहर में कई लोगों की शिकायत है कि बुखार, खांसी, गला दर्द जैसे लक्षणों के बावजूद उनकी रिपोर्ट कोरोना नेगेटिव आयी है.

मेडिकल टर्म में इसे ‘फॉल्स नेगेटिव’ कहा जाता है, बड़ी बात ये है कि कोरोना के सबसे सटीक टेस्ट RT-PCR में भी ये पॉसिबल है.

अगर किसी को लक्षणों के बावजूद नेगेटिव रिपोर्ट मिल रही है, तो ऐसे हालात में इसे इग्नोर न करें बल्कि डॉक्टर से कंस्लट करें.

नेगेटिव रिपोर्ट आने पर आप खुद को न सिर्फ आइसोलेट करें बल्कि सारी सावधानियां रखने के साथ-साथ अपने लक्षण और ऑक्सीजन लेवल पर नजर रखें.

नेगेटिव रिपोर्ट मिलने के 2-3 दिन बाद दोबारा टेस्ट कराएं, अगर दोबारा भी टेस्ट नेगेटिव आए, तो डॉक्टर की सलाह से सीटी स्कैन कराएं.

सीटी स्कैन में काफी चीजें क्लियर हो जाती है, जिसके आधार पर डॉक्टर बता देते हैं कि आप कोरोना पॉजिटिव हैं या नहीं.

स्वाद न आना, गंध का पता न चलना, बुखार , थकान , गले में खारिश, दस्त लगना कोरोना के कुछ लक्षण ऐसे होते हैं जिन्हें भूलकर भी इग्नोर न करें.

ध्यान रहे जितनी जल्दी आप कोरोना डिटेक्ट कर लेंगे , रिकवरी के चांसेज उतने बढ़ जाते हैं.

रोचक ख़बरों का एक
मात्र ठिकाना