बच्चों में बढ़ रहे हैं सूखा रोग के मामले

कोरोना महामारी के बीच दिल्ली में पिछले साल से ही रिकेट्स यानी सूखा रोग (Sukha Rog) के मरीजों की संख्या बढ़ रही है.

ये कहना है दिल्ली स्थित इंडियन स्पाइनल इंजरी सेंटर का. इनका दावा है कि हर महीने लगभग 12 मामले सूखा रोग के आ रहे हैं.

सूखा रोग या रिकेट्स हड्डियों से जुड़ी एक गंभीर बीमारी है जो मुख्यतः शरीर में विटामिन डी की कमी से होती है.

रिकेट्स या सूखा रोग की समस्या में बच्चों की हड्डियां कमजोर हो जाती हैं और इसकी वजह से हड्डियों या जोड़ों में दर्द समेत कई गंभीर समस्याएं हो सकती हैं.

शरीर में विटामिन डी की कमी, कुपोषण के अलावा रिकेट्स डिजीज किडनी से जुड़ी समस्याओं के कारण भी हो सकता है.

सूखा रोग से ग्रसित बच्चों के इलाज के लिए चिकित्सक शरीर में कैल्शियम, फॉस्फोरस और विटामिन डी की मात्रा बढ़ाने की सलाह देते हैं.

इसके साथ हर दिन 15-20 मिनट सूरज की रोशनी में रहने की सलाह भी दी जाती है.

इस बीमारी को कुछ दवाओं के सेवन और डाइट से ठीक किया जा सकता है. जिन बच्चों में गंभीर समस्याएं होती हैं, उन्हें इलाज के साथ सर्जरी की भी आवश्यकता पड़ सकती है.

रोचक ख़बरों का एक
मात्र ठिकाना