कान 2021 में दिखाई गईं 8 धांसू फिल्में

‘द फ्रेंच डिस्पैच’ इस साल कान फेस्टिवल में स्क्रीन हुई. कहानी 20वीं सदी में स्थित एक काल्पनिक मैगज़ीन के पत्रकारों के नाम है. 

द फ्रेंच डिस्पैच

‘अ हीरो’ की कहानी को पूरी तरह सीक्रेट रखा गया है. बस इतना बताया गया है कि ये फिल्म ऑडियंस पर ‘अ सेपरेशन’ जैसा इम्पैक्ट डालेगी.

अ हीरो

कहानी है इस्राइली शहर की एक बिल्डिंग में रहने वाले तीन अलग-अलग परिवारों की. जिन्हें फ्रॉइड के तीन पर्सनैलिटी टाइप्स से दर्शाया गया है. 

थ्री फ्लोर्स

फिल्म ‘बैनेदेता’ एक नन की बायोपिक है. नाम था बैनेदेता कार्लिनी. बैनेदेता एक लेस्बियन नन थीं. फिल्म की कहानी 17वीं शताब्दी में सेट है.

बैनेदेता

इंग्लिश टाइटल है – Paris, 13th District. कहानी को लेकर ज्यादा डिटेल रिलीज़ नहीं की गई है. एड्रियन टॉमिन के ग्राफिक नॉवल ‘किलिंग एंड डायिंग’ पर बेस्ड है. 

लेज़ ओलंपियाड

इसी नाम से लिखे नॉवल पर बेस्ड है ये फिल्म. सोवियत संघ खत्म होने को है. इस सारे हंगामे के बीच कहानी खुलती है एक औरत से. 

कम्पार्टमेंट नंबर 6

जेनिफर वोगल ने एक किताब लिखी थी. अपने पिता पर. नाम था ‘फ्लिम फ्लैम मैन’. ये फिल्म उसी बुक पर आधारित है. 

फ्लैग डे

ये फिल्म अकैडमी अवॉर्ड के लिए भी नॉमिनेट हुई. ‘द स्टोरी ऑफ माइ वाइफ’ इसी नाम से लिखी 1942 में छपी किताब पर आधारित है. 

द स्टोरी ऑफ माइ वाइफ

रोचक ख़बरों का एक
मात्र ठिकाना