ओलंपिक्स में  भारत के मेडल

टोक्यो में ओलंपिक का आगाज़ हो गया है. एक बार फिर से देश की उम्मीदें हैं कि हमारे खिलाड़ी ढेर सारे मेडल्स लेकर लौटेंगे.

आइए ओलंपिक्स में अब तक की भारत की मेडल टैली पर एक नज़र डालते हैं और जानते हैं किस-किस ने जीते हैं मेडल.

भारत के लिए पहला मेडल 1900 पेरिस गेम्स में नॉर्मन प्रिचर्ड ने जीता था. उन्होंने 200 मीटर रेस और 200 मीटर हर्डल रेस में सिल्वर मेडल जीते थे.

हॉकी में भारत ने कुल 11 मेडल जीते हैं, जिनमें आठ गोल्ड, एक सिल्वर और दो ब्रॉन्ज़ हैं. ये तमाम मेडल भारत ने 1928 से 1980 के बीच जीते.

बॉक्सिंग में भारत के लिए विजेंदर सिंह ने 2008 में ब्रॉन्ज़ मेडल जीता. वहीं मैरी कॉम ने 2012 ओलंपिक में ब्रॉन्ज़ मेडल जीता था.

बैडमिंटन में भारत के लिए साइना नेहवाल ने 2012 लंदन ओलंपिक में ब्रॉन्ज़ जीता. वहीं सिंधु ने 2016 रियो ओलंपिक में सिल्वर मेडल जीता.

शूटिंग में अभिनव बिंद्रा ने 2008 में गोल्ड, राज्यवर्धन राठौड़ ने 2004, जबकि विजय कुमार ने 2012 में सिल्वर जीता. गगन नारंग ने ब्रॉन्ज़ जीता है. 

रेसलिंग में दादासाहेब जाधव (1952), योगेश्वर दत्त (2012) और साक्षी मलिक (2016) ने ब्रॉन्ज़ मेडल जीते. जबकि सुशील कुमार ने 2012 में सिल्वर, 2008 में ब्रॉन्ज़ जीता है.

वेटलिफ्टिंग में कर्णम मल्लेश्वरी ने 2000 सिडनी ओलंपिक में 54 किग्रा वर्ग में ब्रॉन्ज़ मेडल जीता था. वो भारत के लिए मेडल जीतने वाली पहली महिला थीं.

टेनिस में भारत के लिए इकलौता मेडल 1996 एटलांटा ओलंपिक में लिएंडर पेस ने जीता था. उन्होंने ब्रॉन्ज मेडल पर कब्ज़ा जमाया था.

रोचक ख़बरों का एक
मात्र ठिकाना