देसी किचन के किफायती 'सुपरफूड्स'

By Shweta Singh
Publish Date: 27-05-2022

लगभग हर कोई चाहता है कि उनकी बॉडी फिट हो. इसके लिए उन्हें तलाश रहती है एक 'मैजिक पिल' की, जो कम मेहनत में अच्छे रिजल्ट्स दें.

Image: Pexels

इसी चक्कर में कई बार लोग फैंसी फूड्स का सहारा लेने लगते हैं. और बेहिसाब पैसे खर्च करते हैं. 

Image: Pexels

जबकि, उसी तरह की फायदे वाली कई चीजें हमारे देसी किचन में पहले से ही मौजूद होती है. आज हम ऐसी ही कुछ 'देसी' सूपर फूड्स के बारे में जानेंगे.

Image: Pexels

ये वो फूड्स हैं, जिन्हें आप महंगे मिलने वाली सब्जियों या फलों के रिप्लेसमेंट के तौर पर यूज कर सकते हैं.

Image: Pexels

इस लिस्ट में पहला नाम आता है नारियल का. जिसके वही हेल्थ बेनिफिट्स होते हैं जो आपको एवोकाडो से मिलता है.

Image: Pexels

नारियल में भी फाइबर, लॉरिक एसिड होता है, जो मेटाबॉलिज्म और बालों के हेल्थ को बेहतर बनाने में मदद करता है. इसके साथ ही मौसमी बीमारियों से भी बचाता है.

Image: Pexels

इसी तरह अमरंथ या रामदाना का इस्तेमाल भी Quinoa की जगह किया जा सकता है. अमरंथ प्रोटीन का अच्छा सोर्स माना जाता है. जिससे एनर्जी मिलती है. 

Image: Pexels

शिया सिड्स की जगह सब्जा या स्वीट बेसिल सीड को उपयोग में लाना आपकी जेब पर कम भारी पड़ेगा. इससे ब्लड शुगर लेवल सही होता है.

Image: Pexels

इसके अलावा सब्जा सीड गट के लिए अच्छी मानी जाती है. दरअसल, भिगोए हुए सब्जा प्रोबायोटिक की तरह काम करते हैं. इससे कोलेस्ट्रोल भी कंट्रोल होता है.

Image: Pexels

कांजी को कोम्बुचा की जगह इस्तेमाल किया जा सकता है. इसे भारत में पारंपरिक तौर पर डाइजेशन सही रखने के लिए पिया जाता है. इसमें कई सारे न्यूट्रिएंट्स होते हैं. 

Image: Pexels

मोरिंगा अब पश्चिम के कई देशों में इस्तेमाल किया जा रहा है. इसे केल की जगह इस्तेमाल किया जा सकता है. इस ड्रमस्टिक पौधे का लगभग हर हिस्सा उपयोग में लाया जा सकता है.

Image: Pexels

मोरिंगा में केल के मुकाबले दोगुना प्रोटीन, तीन गुना ज्यादा आयरन होता है. इसके अलावा इनमें कई एंटी-इंफ्लामेट्री कंपाउंड, एंटीऑक्सीडेंट कंपाउंड भी पाए जाते हैं.

Image: Pexels

रोचक ख़बरों का एक
मात्र ठिकाना