IPL के अनकैप्ड ‘शतकवीर’

साल 2008 में आईपीएल की शुरूआत एक शतक के साथ हुई थी. आईपीएल हिस्ट्री का पहला शतक पहले मैच में ही KKR के बल्लेबाज़ ब्रैंडन मैक्कलम के बल्ले से आया था.

उसके बाद से सीज़न दर सीज़न हमने कई शतक देखे. फिर चाहे वो सचिन के बल्ले से हो माइकल हसी के बल्ले से या फिर हालिया सालों में विराट कोहली के बल्ले से.

इस स्टोरी में हम बात करेंगे उन चार अनकैप्ड खिलाड़ियों की जिन्हें कभी भी नेशनल टीम में तो मौका नहीं मिला. लेकिन उन्होंने आाईपीएल में बल्ले से शतक ज़रूर बनाया है.

अनकैप्ड प्लेयर्स की बात करें तो आईपीएल के 14 सालों के इतिहास में सिर्फ चार ऐसे बैट्समेन हुए जिन्होंने नेशनल टीम से पहले अपनी आईपीएल टीम के लिए शतक बना दिया.

सबसे पहले अनकैप्ड शतकवीर ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज़ शॉन मार्श है. साल 2008 के पहले सीज़न में ही मार्श ने राजस्थान के खिलाफ 69 गेंदों में 115 रन बना दिए थे. 

2009 में एक और अनकैप्ड प्लेयर मनीष पांडे ने शतक बना दिया. मनीष ने RCB के लिए डेक्कन चार्जर्स के खिलाफ महज़ 73 गेंदों में 114 रन बनाए थे.

2010 में किसी भी अनकैप्ड प्लेयर ने ये कमाल नहीं किया. लेकिन इसके बाद 2011 में CSK के खिलाफ पंजाब के बल्लेबाज़ पॉल वलथाटी ने 63 गेंदों में 120 रन ठोक दिए.

2011 के 10 साल बाद अब जाकर अनकैप्ड प्लेयर देवदत्त पड्डीकल ने आईपीएल में शतक लगाया है.पड्डीकल ने बैंगलोर के लिए खेलते हुए महज़ 52 गेंदों में 101 रन ठोक दिए.

IPL का यही मज़ा है कि यहां पर जानें पहचाने चेहरों के अलावा हर साल युवा खिलाड़ी आकर गेंद और बल्ले से बेहतरीन प्रदर्शन कर नेशनल टीम में अपनी जगह बनाते हैं.

रोचक ख़बरों  का एक
मात्र ठिकाना