कहीं आप केमिकल लगी सब्जी तो नहीं खरीद रहें?

बाजार से खरीदी हुई "ताजी, हरी सब्जियां" मिलावटी हैं या नहीं, ये पता करना बेहद मुश्किल है.

मिलावटी सब्जियों के सेवन से कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं. इसलिए ये पता होना बेहद ज़रूरी होता है.

भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण (FSSAI) ने इस संबंध में कुछ आसान तरीके बताए हैं.

कुछ व्यापारी सब्जियों को जल्दी पकाने के लिए कीटनाशकों का इंजेक्शन लगाते हैं, तो कुछ सिंथेटिक रंग या मैलाकाइट का प्रयोग करते हैं.

मैलाकाइट एक केमिकल होता है. जिससे सब्जियां अधिक चमकदार और हरी दिखने लगती हैं. 

सब्ज़ियों पर मैलाकाइट ग्रीन का प्रयोग हुआ है या नहीं, ये पता करने के लिए रुई को लिक्विड पैराफिन में भिगोकर कुछ देर तक सब्जियों की बाहरी सतह पर रगड़ें.

अगर रुई के रंग में कोई बदलाव नहीं होता है तो सब्ज़ियां शुद्ध हैं और अगर रूई का रंग बदल जाता है तो आप समझ सकते हैं.

मैलाकाइट का सेवन करने से व्यक्ति को सांस से संबंधित बीमारी हो सकती है.

रोचक ख़बरों का एक
मात्र ठिकाना