The Lallantop
Advertisement

Rolls-Royce ने तो साउंड प्रूफ कार बनाई, लेकिन इतना शोर हुआ कि फीचर बदलना पड़ गया

Rolls-Royce कार के सूम-सन्नाटे वाले फीचर ने गजब गदर काटा हुआ है. कंपनी ने अपने यूजर्स को सुकून का 'अल्ट्रा प्रो मैक्स' वर्जन (बोले तो पिन ड्रॉप सन्नाटा) देने के लिए एक मॉडल को पूरी तरह आवाज रहित कर दिया. मगर साउंड खत्म करने के चक्कर में इतनी जोर से आवाज आई कि कंपनी को फीचर डाउनग्रेड करना पड़ा.

Advertisement
Designers and engineers wanted the new Ghost to be a relaxing and quiet space. But Rolls-Royce engineers realized they’d initially made the car too quiet inside.
Rolls-Royce ने आवाज कम की मगर शोर ज्यादा हो गया
11 मार्च 2024 (Updated: 11 मार्च 2024, 14:12 IST)
Updated: 11 मार्च 2024 14:12 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

Rolls-Royce... नाम के आगे जानकर तीन फुल स्टॉप इसलिए लगाए क्योंकि इसके आगे कुछ बोलने की जरूरत ही नहीं. जितना हमें इस कार के बारे में पता है, उससे ज्यादा तो आपको खुद से पता होगा. इंटरनेट पर तमाम वीडियो मिलेंगे जो इस कार के फीचर्स के बारे में बता रहे होते हैं. कार का एक्सटीरियर ऐसा है तो इंटीरियर वैसा है. एक शब्द में कहें तो शायद ही ऐसा कोई फीचर होगा जो इस कार में नहीं होगा. आराम-तलबी का हर साधन मौजूद है इस कार में. मगर आपको जानकर हैरानी होगी कि ऐसा ही एक सुकून देने वाला फीचर कंपनी पर भारी पड़ गया था.

बात हो रही है Rolls-Royce कार के सूम-सन्नाटे वाले फीचर की. कंपनी ने अपने यूजर्स को सुकून का 'अल्ट्रा प्रो मैक्स' वर्जन (बोले तो पिन ड्रॉप सन्नाटा) देने के लिए एक मॉडल को पूरी तरह आवाज रहित कर दिया. मगर साउंड खत्म करने के चक्कर में इतनी जोर से आवाज आई कि कंपनी को फीचर ही डाउनग्रेड करना पड़ा. पूरा किस्सा बताते हैं...

साउंड खत्म करने के चक्कर में शोर हो गया 

Rolls-Royce मतलब पहले से विलासिता के टॉप लेवल की गड्डी. सब कुछ कार में पहले से मौजूद… मगर कंपनी ने अपने ग्राहकों को थोड़ा और रॉयल ट्रीटमेंट देने का सोचा. ध्यान गया कार के अंदर आने वाली आवाज पर. मतलब वैसे तो हर कार में आवाज आती ही है. किसी में कम किसी में ज्यादा. लेकिन Rolls-Royce ने इसको एकदम खत्म करने का सोचा. मतलब अंदर बैठे आदमी को बाहर से कोई आवाज नहीं आनी चाहिए. ऐसा noise Cancelling करो की खुद की सांसों की आवाज सुनाई दे.

Free Brown Leather  Rolls Royce Car Seats Stock Photo
Rolls-Royce

कंपनी तकनीक में पहले से जबर तो उसके लिए ऐसा करना कोई मुश्किल नहीं था. इंजीनियर्स ने साल 2020 के घोस्ट (Ghost) मॉडल में 220 pounds (लगभग 100 किलो) एक्स्ट्रा साउंड इंसुलेटिंग मटेरियल भर दिया. इतना ही नहीं विंडशील्ड वाइपर्स और छोटे से छोटे होल्स को भी इस तरह से डिजाइन किया गया कि बाहर से कोई सी भी आवाज अंदर नहीं आ सके. हुआ भी ऐसा ही. घोस्ट वाकई में भूतिया कार बन गई. खुद CEO Torsten Müller-Ötvös ने इसके बारे में बताया,

कार इतनी साउंड प्रूफ हो गई थी कि साथ बैठने वाले आपस में एक दूसरी की सांसों को सुन पर रहे थे तो इधर से उधर सरकने पर पेंट की आवाज भी सुनाई दे रही थी.

Sound of silence हो रहा था. मतलब जिसे कहावत माना जाता था वो असल में हो रहा था. कंपनी ने जब इस फीचर के बारे में अपने यूजर्स के अनुभव लिए तो वो निगेटिव निकले. लोगों को पता भी नहीं चल रहा था कि बाहर कार चल भी रही है या नहीं. ये अजीब था.  

ये भी पढ़ें: बाइक लेने से पहले HP-BHP का फर्क समझ लें, बड़े-बड़े एक्सपर्ट के बीच रौला काट देंगे

नतीजतन कंपनी को फीचर में बदलाव करना पड़ा और थोड़ी बहुत बाहर की आवाज का जुगाड़ करना पड़ा. अब इतना पढ़कर आपको लगेगा कि भइया हमें काहे बता रहे. आवाज आए या बहुत तेज आए या बिल्कुल नहीं आए. नॉलेज के लिए बता रहे बाबू भइया. क्योंकि सोशल मीडिया पर जब तब ऐसे वीडियो वायरल होते हैं जिसमें दावा किया जाता है कि Rolls-Royce 100 फीसदी साउंड प्रूफ होती है. इसमें सांसों की आवाज सुनाई देती है. वगैरा-वगैरा.

जो आपको कोई ऐसे ज्ञान दे तो उसको पहले बोलना. ये थोड़ा ज्यादा हो गया. इतने पर भी नहीं माने तो उसको ये स्टोरी पढ़ा देना. 
 

वीडियो: अमिताभ बच्चन ने बाइक वाली घटना पर कहा कि कहीं गए नहीं, सिर्फ फोटो खिंचाई

thumbnail

Advertisement