The Lallantop
Advertisement

Microsoft ने अपने कर्मचारियों से कहा Android नहीं सिर्फ iPhone इस्तेमाल करो

टेक जगत की दिग्गज कंपनी Microsoft ने अपने कर्मचारियों को एंड्रॉयड फोन इस्तेमाल करने से मना (Microsoft Orders China Staff to Use iPhones) किया है. कंपनी के कर्मचारियों को अब सिर्फ आईफोन इस्तेमाल करने की अनुमति होगी. कंपनी के चीन के ऑफिसों में सितंबर 2024 से सिर्फ आईफोन चलेगा. मगर क्यों?

Advertisement
Microsoft in China has announced a significant security change for its staff, requiring all employees to switch to iPhones by September 2024. This move comes amidst conflicting reports about China’s stance on iPhones, but Microsoft is taking a clear direction opposite to any potential ban.
माइक्रोसॉफ्ट में एंड्रॉयड बैन
9 जुलाई 2024 (Updated: 19 जुलाई 2024, 13:14 IST)
Updated: 19 जुलाई 2024 13:14 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

आप Android स्मार्टफोन इस्तेमाल करते हैं या iPhone चलाते हैं. ये पूरी तरह से आपकी पसंद, बजट, इकोसिस्टम, फीचर्स की उपलब्धता पर निर्भर करता है. मगर सोच कर देखिए कि एक रोज आपको पता चले कि अब आप एंड्रॉयड स्मार्टफोन इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे. पता है-पता है आप ऐसा सोचना भी पसंद नहीं करेंगे. उल्टा सवाल करेंगे कि तुम कौन होते हो भईया हमको बताने वाले कि हम कौन सा फोन चलाएंगे. ठीक बात हम कोई नहीं होते लेकिन एक कंपनी (Microsoft Orders China Staff to Use iPhones) है जिसने ऐसा किया है. अपने कर्मचारियों से कहा कि अब आप सिर्फ आईफोन ही इस्तेमाल करेंगे.

दरअसल टेक जगत की दिग्गज कंपनी Microsoft ने अपने कर्मचारियों को एंड्रॉयड फोन इस्तेमाल करने से मना किया है. कंपनी के कर्मचारियों को अब सिर्फ आईफोन इस्तेमाल करने की अनुमति होगी. कंपनी के चीन के ऑफिसों में सितंबर 2024 से सिर्फ आईफोन चलेगा. मगर क्यों?

Microsoft Orders China Staff to Use iPhones
सांकेतिक तस्वीर
सिक्योरिटी का चक्कर बाबू भईया

वैसे तो ये एंड्रॉयड इस्तेमाल करने वालों के लिए दुखी करने वाली बात है. मगर थोड़े सुख का इंतजाम भी कंपनी ने किया है. माइक्रोसॉफ्ट अपने कर्मचारियों को iPhone 15 मुहैया करवाएगी. हालांकि कंपनी का आईफोन से कोई विशेष प्रेम नहीं है. मगर इसके इस्तेमाल का कारण चीन की पॉलिसी है. दरअसल चीन में गूगल और उसकी सर्विसेस जैसे गूगल सर्च, क्रोम और एंड्रॉयड फोन की धड़कन गूगल प्ले स्टोर पर बैन है. एंड्रॉयड स्मार्टफोन मेकर्स को चीन के ऐप्स जैसे गूगल की जगह Baidu और WhatsApp की जगह Wechat का इस्तेमाल करना पड़ता है. सारी सर्विसेस पर चीन की एजेंसियों का नियंत्रण है. एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम चलाने के लिए कोई सीधा रास्ता नहीं. VPN वगैरा से ऐसा किया जा सकता है. मगर वो आम यूजर के बस की बात नहीं.

ये भी पढ़ें: Google-Microsoft की जंग का मजा लेकर Apple ने साल भर में कमाए 13,32,00,00,00,000 रुपये

यही बात माइक्रोसॉफ्ट खटक रही क्योंकि भले एंड्रॉयड प्लेटफॉर्म ओपन सोर्स है. लेकिन उसका असल कंट्रोल तो गूगल के पास ही होता है. वहीं चीन में अपनी ढपली अपना राग वाला मामला. मतलब शाओमी का अपना ऐप स्टोर या Huawei का अपना. Huawei पर तो अमेरिका में बैन भी लगा हुआ है.

इसके उलट iOS मतलब ऐप्पल स्टोर के साथ ऐसा कुछ नहीं. मजे से चलता है. सारे ऐप्स iOS से सीधे डाउनलोड होते हैं. ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक माइक्रोसॉफ्ट ने अपने कर्मचारियों को एंड्रॉयड फोन से बाहर निकलने के लिए सितंबर 2024 तक का समय दिया है. हालांकि कर्मचारी अपने घर पर एंड्रॉयड फोन इस्तेमाल कर सकते हैं. 

इसके बाद सिर्फ आईफोन…. 
  

वीडियो: क्या ED वाले खोल ही लेंगे अरविंद केजरीवाल का iPhone?

thumbnail

Advertisement

Advertisement