The Lallantop
Advertisement

PickMyWork: अपने हिसाब से काम करके पैसा कमाने का अनोखा जुगाड़

स्टार्ट अप 'PickMyWork' जो अकाउंट ओपन करने से लेकर, क्रेडिट कार्ड, इन्श्योरेन्स करवाने पर पैसे कमाने का जुगाड़ देता है. अच्छी बात ये कि ऐप इसके लिए कोई कमीशन नहीं लेता. काम कैसे करना है उसकी ट्रेनिंग और पहचान पत्र का भी जुगाड़ है.

Advertisement
PickMyWork is a Gurugram, Haryana-based gig platform that helps digital companies acquire end customers including shops for their products through a Pay-per-task model at a very low CAC. Incepted by two friends who are now its co-founders, Kajal Malik and Vidyarthi Badireddy, PickMyWork was founded in 2019. PickMyWork has worked with 50+ clients to date and helped them acquire 7 lakh plus end customers and the work has been completed by 50k Earning agents.
पार्ट टाइम काम करके पैसे कमाने का जुगाड़.
8 मार्च 2024 (Updated: 8 मार्च 2024, 21:33 IST)
Updated: 8 मार्च 2024 21:33 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

युवा होने से ठीक पहले तक अपने पिता के साथ सफर, जो हमेशा सुखद ही रहे, करते हुए मैंने एक बात नोटिस की थी. होटल लेने के लिए पप्पा जी हमेशा उस आदमी के पास जाते जो बस स्टैंड या रेलवे स्टेशन पर मिलता था. ये आदमी गजब का धैर्य वाला. कभी गुस्सा नहीं करता और दसियों होटल दिखाता. पता चला कि उसको रूम दिलाने के लिए होटल से कुछ पैसा मिलता था. आम भाषा में इसे कमीशन कहते हैं. तब ये शब्द अजीब लगा. मगर जब समझ बढ़ी तो पता चला कि ये उसकी मेहनत की कमाई है.

आपको ये किस्सा इसलिए सुनाया क्योंकि आजकल कुछ ऐसे ही तरीके के कई काम दुनिया-जहान में हो रहे. मेहनत तो इनमें भी है मगर काम के घंटे और दिन आप खुद तय कर सकते हैं. बोले तो एक क्यूआर कोड लगाकर या एक बैंक अकाउंट ओपन करवाकर ठीक-ठाक पैसा कमाया जा सकता है. काम खोजने के लिए भी कहीं जाने की जरूरत नहीं क्योंकि इसके लिए एक इंडियन स्टार्ट-अप 'PickMyWork ' भी मौजूद है.

PickMyWork अकाउंट ओपन करने से लेकर, लोन दिलवाने, क्रेडिट कार्ड, इन्श्योरेन्स करवाने तक पर पैसे कमाने का जुगाड़ देता है. अच्छी बात ये कि ऐप इसके लिए कोई का कमीशन नहीं लेता. कैसे वो आगे बताते, मगर पहले जरा 'पिक माय वर्क' से एक काम उठाते हैं. माने समझते हैं कि काम कैसे करता है.

पीक माय वर्क

ऐप एंड्रॉयड और iOS पर डाउनलोड के लिए उपलब्ध है और इसमें रजिस्ट्रेशन का कोई चार्ज नहीं. ऐप देश के वित्तीय संस्थानों मसलन बैंक और दूसरे सर्विस प्रोवाइडर से बल्क में काम लेता है और फिर अपने प्लेटफॉर्म पर पोस्ट करता है. यूजर रजिस्टर करके अपने हिसाब से काम चुन सकते हैं. अब शायद आपके मन में सवाल होगा कि ऐसे कैसे. कोई भी आकर काम उठा लिया और उसको ढंग से करना नहीं आया तो क्या होगा. जरा ठहरिए तो सही जनाब, रुकिए तो सही. हम करते हैं प्रबंध. 

दरअसल ऐप पर ट्रेनिंग का उत्तम प्रबंध है. ऑनलाइन ट्रेनिंग वाले कई प्रोग्राम ऐप पर और यूट्यूब चैनल पर लगातार चलते हैं. इसके साथ काम करने वालों को ऐप की तरफ से पहचान पत्र भी दिया जाता है. ऐसा करने से संबंधित संस्थान की ओर से बात करने में दिक्कत नहीं होती. ‘PickMyWork’ की अपनी कम्युनिटी और रिफ़रल प्रोग्राम भी है.

मतलब आप काम कर रहे और दोस्त अलसिया रहा तो उसको भी कह सकते हो. ओ भइयो चलो थोड़ा काम करते और कुछ नहीं तो पॉकेट मनी ही जुगाड़ लेते. ऐप हमें बड़ा दिलचस्प लगा तो हमने थोड़ा और खंगाला. पता चला कि ऐप बनाया है गुरुग्राम बेस्ड काजल मलिक और विद्यार्थी ने. हमने घुमा दिया फोन और काजल से पता चला कि पेमेंट और काम से जुड़ी कोई भी दिक्कत होने पर कस्टमर केयर को फोन खड़खड़ाया जा सकता है. काजल के मुताबिक,

काम के लिए घर और शहर छोड़ने की जरूरत नहीं. जिधर हो वहीं का काम पकड़ लो. बड़ी साफगोई से उन्होंने बताया कि काम का ये तरीका कोई नया नहीं हैं. बस हमने इसको इंडियन स्टाइल में डेवलप किया है. ऐप का सबसे बड़ा फायदा उन महिलाओं को मिलता है जो घर से बहुत दूर नहीं जा सकतीं या शहर नहीं छोड़ सकतीं. PickMyWork से काम चुनिए और अपनी सहूलियत से खत्म कीजिए.

अब असल और जरूरी बात. कमीशन कितना कटता है. कुछ भी नहीं, क्योंकि ऐप ने अपना प्रॉफ़िट काट कर ही टास्क लिस्ट किया होता है. मतलब ऐप पर टास्क का जितना पैसा दिख रहा उतना मिलेगा. कोई कटौती नहीं. शार्क टैंक की वजह से आजकल ऐप की फंडिंग बात खूब होती है तो जान लीजिए कि पिक माय वर्क ने भी मोटी फंडिंग उठा रखी है. और जल्द ही प्रॉफ़िट में आने की दहलीज भी लांघने वाला है.

Happy Women's Day!

वीडियो: गूगल प्ले स्टोर ने मनमानी करने वाले लोन ऐप्स को निकाल बाहर किया?

thumbnail

Advertisement

election-iconचुनाव यात्रा
और देखे

Advertisement

Advertisement