The Lallantop
Advertisement

112 इंडिया: इमरजेंसी कोई हो, ये एक ऐप सारी मदद पहुंचाने के लिए काफी है, वो भी दो तरह से

सरकार ने हर तरह की इमरजेंसी से निपटने की व्यवस्था एक ही जगह कर दी है. सिर्फ एक ऐप डाउनलोड करने की देर है और हेल्प आपके पास पहुंच जाएगी. ऐप का नाम है 112 इंडिया. दुनिया भर के आपातकालीन नंबर याद रखने और सेव करने की जरूरत नहीं. सरकार के साथ एक और तरीके से आपकी मदद का इंतजाम है.

Advertisement
The 112 SOS Mobile App is a part of the Emergency Response Support System (ERSS), a Govt of India initiative. The application is functional in most of the states in India
ये ऐप आपके फोन में होना ही चाहिए (तस्वीर: कैनवा)
20 दिसंबर 2023
Updated: 20 दिसंबर 2023 19:03 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

एक शब्द है इमरजेंसी. नाम में ही कहीं ना कहीं मुसीबत या दिक्कत का आभास होता है. अब इमरजेंसी कई तरह की हो सकती है. मसलन मेडिकल इमरजेंसी, सफर के दौरान ऐसा हो सकता है. घर पर कोई दुर्घटना होने पर या राह चलते भी दिक्कत आ सकती है. अच्छी बात ये है कि ऐसी किसी भी दिक्कत से तुरंत निपटने के लिए कई सारी सरकारी सर्विस हैं. मसलन 100 डायल करने पर पुलिस और 100 पर 108 से एम्बुलेंस. लेकिन इनके लिए अलग-अलग नंबर डायल करने होते हैं. आगे से नहीं करने पड़ेंगे क्योंकि…

सरकार ने हर तरह की इमरजेंसी से निपटने की व्यवस्था एक ही जगह कर दी है. सिर्फ एक ऐप डाउनलोड करने की देर है और हेल्प आपके पास पहुंच जाएगी. ऐप का नाम है 112 इंडिया. दुनिया भर के आपातकालीन नंबर याद रखने और सेव करने की जरूरत नहीं. एक बात और. सरकार के साथ एक और तरीके से आपकी मदद का इंतजाम है.

एक क्लिक और मदद हाजिर

112 इंडिया ऐप गूगल प्ले और ऐप स्टोर पर डाउनलोड के लिए उपलब्ध है. ऐप की सबसे खास बात इसका यूजर इंटरफ़ेस है. डाउनलोड कीजिए और मोबाइल नंबर से लॉगिन कर लीजिए. इसके बाद कुछ बेसिक डिटेल्स, जैसे किस राज्य से हैं और जन्म की तारीख वगैरा. ऐप को आपकी लोकेशन की जरूरत रहेगी और हमारी पिछली सलाह से उलट, हम आपसे कहेंगे कि लोकेशन एक्सेस देने में कोई देरी ना करें.

आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि ऐप देश के सारे राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में उपलब्ध है. एक बार लॉगिन कर लीजिए, उसके बाद होम स्क्रीन पर ही कई सारे आइकन नजर आएंगे. मसलन पुलिस, रेलवे, फायर बिग्रेड और मेडिकल.

112 इंडिया ऐप

आइकन पर क्लिक करते ही कॉल कनेक्ट होगा. जो नहीं हुआ तो कुछ ही देर में वापस से कॉल आ जाता है.

ये तो हुई सरकारी मदद, लेकिन ऐप एक और तरीके से मदद करता है. होता ये है कि जब आप ऐप पर लॉगिन करते हैं तो ऐप आपसे वॉलंटियर करने को कहता है.

हमारी आपसे गुजारिश होगी कि अगर आप वॉलंटियर बन सकते हैं तो बिल्कुल बनें. इस फीचर की मदद से दुर्घटना होने पर आसपास के लोग भी मदद के लिए आ सकते हैं. बस आपका नाम वॉलंटियर के तौर पर रजिस्टर्ड होना चाहिए.

सूचना समाप्त. खुद ऐप डाउनलोड कीजिए और साथ में अपनों के फोन में भी डाउनलोड करवा दीजिए.  

thumbnail

Advertisement