The Lallantop
Advertisement

कॉल रिकॉर्डिंग पर नए कानून का डर दिखानेवाले जो वीडियो वायरल हो रहे हैं, उनकी सच्चाई कुछ और निकली

आजकल सोशल मीडिया पर ऐसे कई वीडियो वायरल हैं, जिनमें कॉल रिकॉर्डिंग (call recording laws in india) ) और उससे जुड़ी सजा के बारे में आगाह किया जा रहा है. हालांकि ऐसे वीडियो में कुछ सच्चाई भी है लेकिन उसका आपसे, मेरे से, हमारे यार, मित्र, सखा, दोस्त, बंधु मतलब आम जनता से कोई लेना-देना नहीं है. जानिए पूरा सच...

Advertisement
call recording laws Punishment penalty in India: truth of viral videos
कॉल रिकॉर्डिंग का काला सच वायरल वीडियो में नहीं पता चलेगा
13 फ़रवरी 2024 (Updated: 13 फ़रवरी 2024, 16:46 IST)
Updated: 13 फ़रवरी 2024 16:46 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

क्या आपको भी सोशल मीडिया पर अपने वीडियो वायरल करवाने हैं. चिंता नक्को. हम आपको एक महा-भयंकर जुगाड़ बताते हैं. कोई जबर एडिटिंग नहीं करनी, कोई असली कॉन्टेन्ट भी नहीं डालना. हैश टैग और एल्गोरिदम का टेंशन भी नहीं लेने का. अब आपको लग रहा होगा कि हम कोई मजाक कर रहे. नहीं जनाब! आपको बस अपने वीडियो में इतना कहना है कि सरकार नया कानून लाई है. आपका वीडियो रॉकेट. हम ये खुद से नहीं कह रहे. बल्कि आजकल ऐसा ही हो रहा. पूरी बेशर्मी से ऐसा कह दो और डर का धंधा चलने दो. असल मामला बताते हैं.

आजकल सोशल मीडिया पर ऐसे कई वीडियो वायरल हैं, जिनमें कॉल रिकॉर्डिंग (call recording laws in india) और उससे जुड़ी सजा के बारे में आगाह किया जा रहा है. दावा है कि सरकार का नया कानून आया है. ऐसा बिल्कुल नहीं है मगर कानून का डर दिखाकर महफ़िल लूटी जा रही है. हालांकि ऐसे वीडियो में कुछ सच्चाई भी है लेकिन उसका आपसे, मेरे से, हमारे यार, मित्र, सखा, दोस्त, बंधु मतलब आम जनता से कोई लेना-देना नहीं.

ये भी पढें: हर पांच साल में फोन बदलना पड़ेगा, सरकार की नई पॉलिसी, सच हमसे जान लीजिए

क्या है ऐसे वीडियोज में?

आईपीसी की धारा 72 A जो इनफॉर्मेशन और टेक्नोलॉजी से संबंधित है, उसका हवाला दिया जा रहा है. कहा जाता है कि अगर कोई आपकी कॉल रिकॉर्ड करता है, तो आप उसकी रिपोर्ट कर सकते हैं. सामने वाले को 3 साल तक की सजा और 5 लाख का जुर्माना या दोनों करवा सकते हैं. इसके साथ एकदम जांची परखी लाइन चस्पा की जाती है. बोले तो सरकार नया कानून लाई है. अब आम आदमी कानून, पुलिस, लीगल सब से वैसे ही कोसों दूर रहना चाहता है, तो ये लाइन काम कर जाती है. नतीजा वीडियो पर भरपल्ले व्यू.

अब आप भी ऐसे वायरल होना चाहते हैं तो ट्रिक आजमाने में कोई दिक्कत नहीं. मगर सनद रहे कि जिस दिन कानून की नजर आप पर पड़ गई तो! फिर क्या होगा, वो हम क्यों बताएं! इस मीम से समझ लीजिए और साथ में हकीकत जान लीजिए.

दो दशक से नया कानून

ऐसा हमने जान-बूझकर कहा क्योंकि जिसे नया कानून कहा जा रहा वो 23-24 साल (आईटी ऐक्ट 2000) पुराना है. मगर जैसे होम लोन या दूसरे लोन में टर्म्स एण्ड कंडीशन वाले छोटे-छोटे सितारे लगे होते हैं. वैसे ही यहां भी बहुत कुछ ऐसा है जो वीडियो में बताया नहीं जाता. नियम, सजा, जुर्माना सब सही लेकिन जिम्मेदार लोगों के लिए. मतलब ऐसे लोग जिनके पास आपके इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस को एक्सेस करने का आधिकार होता है. माने कि सरकार के लोग वो भी उच्च स्तर वाले. अगर वो आपकी निजी जानकारी/कॉल्स को लीक करते हैं, तो फिर आप उनको कोर्ट में घसीट सकते हैं. आम जनता वाली रिकॉर्डिंग का इससे कौनो लेना देना नहीं है. रही बात आधिकारिक लेवल पर कॉल रिकॉर्डिंग की, तो वो अलग मसला है. सरकार और सुरक्षा एजेंसियां कई वजह से ऐसा करती हैं. आपके और हमारे घर में शाम को खाने में क्या बनेगा, कुत्ता पड़ोसी के घर के बाहर मूत्र विसर्जन करेगा या नहीं, इससे उनका कोई सरोकार नहीं.

इसलिए ऐसे वीडियो से सावधान रहें. 'डर का धंधा चलाए जाओ और वीडियो बनाये जाओ' से दूर ही रहें. ऐसे ही कई वीडियो पुराने मोबाइल को लेकर भी वायरल हुए थे. वो भी सब बोगस जानकारी थी. रही बात कॉल रिकॉर्डिंग की तो वो निजता का विषय है. अगर जरूरत नहीं तो क्यों करना और अगर करना है तो बता के करना. सामने वाले को बिना बताए आपने रिकॉर्डिंग की तो उसका कोई मतलब नहीं. बस सुनकर खुश हो लीजिए. कस्टमर केयर में सुना होगा 'this call may be recorded' मतलब बता दिया भियो.  

वीडियो: क्या है ये प्रॉक्सी सर्वर जिससे बिना इंटरनेट के वॉट्सऐप चल रहा है?

thumbnail

Advertisement