The Lallantop
Advertisement

ATM में महिला का कार्ड फंसा, मदद के लिए दीवार पर लिखा नंबर डायल किया और अकाउंट साफ!

मामला आया है दिल्ली के मयूर विहार फेज 1 से. यहां के एक साउथ इंडियन बैंक ATM में लेनदेन के दौरान कार्ड फंस गया और फिर हुई ठगी. ठगी तो हुई मगर दूसरे केसों से इतर इस केस में संबंधित बैंक ने अपना पल्ला भी झाड़ लिया है. पूरा मामला जान लीजिए.

Advertisement
ATM fraud: Delhi woman lost money after calling mobile number print at wall
एटीएम इस्तेमाल के समय कुछ बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी.
1 अप्रैल 2024 (Updated: 1 अप्रैल 2024, 18:29 IST)
Updated: 1 अप्रैल 2024 18:29 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

साइबर फ्रॉड, ऑनलाइन क्राइम, बैंकिंग स्कैम और ATM धोखाधड़ी बहुत बड़ा सच है. लेकिन एक बड़ा सच ये भी है कि इसमें कहीं ना कहीं हमारी भी थोड़ी-बहुत लापरवाही होती है. लापरवाही भूल से हुई या लालच में, घबराहट में या फिर जानकारी के अभाव में, ये तय करना मुश्किल है. फिलहाल एक मामला बता देते हैं जिसमें हुए ATM फ्रॉड (Delhi ATM Fraud) की चर्चा है. हालांकि इसका मतलब ये कतई नहीं है कि इस में केस ठगों ने कोई चाल नहीं चली. उन्होंने अपना जाल बिछाया और बहुत पुराने तरीके से कांड किया. 

मामला आया है दिल्ली के मयूर विहार फेज 1 से. यहां के एक साउथ इंडियन बैंक ATM में लेनदेन के दौरान कार्ड फंस गया और फिर हुई ठगी. ठगी तो हुई, मगर दूसरे केसों से इतर इस केस में संबंधित बैंक ने कथित तौर पर अपना पल्ला भी झाड़ लिया है. पूरा मामला जान लीजिए.

कार्ड अटका, पैसा सटका

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर Apoorva Singh नाम की यूजर ने अपनी आपबीती बताई है. उनके पोस्ट के मुताबिक वो साउथ इंडियन बैंक के ATM में ICICI बैंक का कार्ड इस्तेमाल कर रही थीं, तभी उनका ATM कार्ड फंस गया.

# आगे क्या हुआ वो जानने से पहले ये जान लीजिए कि ऐसा होना बहुत आम है. लेकिन इसमें किसी को फोन घुमाने, किसी से हेल्प लेने की जरूरत नहीं है. इसको चेतावनी समझ लीजिए.

अपूर्वा के मुताबिक उन्होंने ATM की दीवार पर दिए गए एक मोबाइल नंबर पर कॉल किया. उनके मुताबिक बाहर घूम रहे एक व्यक्ति ने उनसे कहा कि ये एजेंट का नंबर है. ATM में कोई गार्ड नहीं था ऐसा भी उनके पोस्ट से समझ आता है.  

# आगे क्या हुआ वो बताने से पहले ये बता दें कि बैंक दीवार पर ऐसा कोई नंबर नहीं चिपकाते. आमतौर पर कुछ भी गड़बड़ होने पर टोल फ्री नंबर (1800 से शुरु होने वाले) पर या फिर ब्रांच में संपर्क करने को कहा जाता है.

अपूर्वा ने दीवार पर चिपके नंबर पर कॉल किया और दूसरी तरफ से उनको कार्ड निकालने की बात कही गई. लेकिन उसी दौरान मशीन पर आउट ऑफ सर्विस का मैसेज आ गया. ये मैसेज कैसे आया वो अभी जांच का विषय है. मतलब मशीन वाकई में खराब हो गई थी या उससे छेड़छाड़ की गई. अपूर्वा के मुताबिक फोन पर उनको भरोसा दिया गया कि एक इंजीनियर आकर उनका कार्ड निकाल देगा. वो घर चली जाती हैं और फिर उनके अकाउंट से पैसे निकल जाते हैं.

# आगे जाने से पहले एक बात और जान लीजिए. ऐसा कुछ भी होने पर आपने ATM कार्ड नहीं छोड़ना है.

अपूर्वा जब वापस ATM आईं तो वहां उनका कार्ड नहीं था. उन्होंने साउथ इंडियन बैंक में कॉल किया, लेकिन उनके मुताबिक बैंक ने उनसे पल्ला झाड़ लिया है और उनको अपने बैंक मतलब ICICI में बात करने को कहा. थक हार कर उन्होंने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करवा दी है. अब पुलिस जांच करेगी, लेकिन कुछ जरूरी बातें आप जरूर जान लीजिए.

ये भी पढ़ें: Uber से 113 रुपये वापस लेने के चक्कर में इस व्यक्ति ने 5 लाख का नुकसान करवा लिया

# किसी भी बैंक के ATM में अगर आपका कार्ड फंस जाता है और अगर वो ATM ब्रांच के आसपास है तो सीधे वहीं संपर्क करें.

# अगर ब्रांच पास में नहीं तो अपने बैंक के कस्टमर केयर पर कॉल करके ATM ब्लॉक करें. बैंक के ऐप से भी ऐसा किया जा सकता है. पूरा प्रोसेस महज कुछ मिनट में हो जाता है. कस्टमर केयर का नंबर बैंक के ऐप से ही निकालें.

# सुनसान इलाके में, कॉर्नर पर बने और आसानी से नजर नहीं आने वाले और बिना गार्ड वाले ATM से बचें. ऐसे ATM ठगों के लिए माकूल जगह होती है.

# कार्ड फंसने पर घबराएं नहीं क्योंकि उसी का फायदा ठग उठाते हैं. शायद ऐसा कुछ अपूर्वा के केस में हुआ होगा.  

ठगी नहीं रुकने वाली इसलिए हमें सतर्क होना होगा.       

वीडियो: सोशल लिस्ट: 'बीनूनाथ ऑफिसेल' ने यूट्यूब हैक होने के बाद फेसबुक पर फ्रॉड से बचने का जुगाड़ लगाया

thumbnail

Advertisement

election-iconचुनाव यात्रा
और देखे

Advertisement

Advertisement