The Lallantop
Advertisement

Airtel के 37.5 करोड़ यूजर्स के डेटा में किसने की सेंधमारी? कंपनी ने क्या कहा?

बात हो रही है टेलिकॉम कंपनी Airtel के डेटा में सेंधमारी की. सोशल मीडिया पर एक पोस्ट नजर आ रहा जिसमें दावा किया जा रहा है कि एयरटेल के 37.5 करोड़ यूजर्स का डेटा लीक हो गया है. मतलब उनका नाम, ईमेल, बैंक डिटेल्स, पता सब हैक हो चुका है.

Advertisement
Airtel India on Friday, July 5, categorically denied reports of a data breach after a hacker announced that they were putting up the personal details of over 37.5 crore Indian customers for sale on a popular hacking forum.
Airtel के 37.5 करोड़ यूजर्स का डेटा डार्क वेब पर बिक रहा?
5 जुलाई 2024
Updated: 5 जुलाई 2024 21:50 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

हम आपको आज जो बताने जा रहे हैं, मुमकिन है वो आपने पहले कई बार सुना और पढ़ा होगा. पहले नहीं तो गुजरे एक दिन में जरूर इसके बारे में कहीं ना कहीं से कुछ ना कुछ आप तक पहुंचा होगा. खबर ऐसी कि अगर हम पुरानी कॉपी को कट एंड पेस्ट मार कर चस्पा दें (Airtel 37.5 crore subscribers data breach) तो भी शायद कोई फर्क नहीं पड़ेगा. क्योंकि ऐसी खबर में जो होता है वो कभी साबित तो होता नहीं. अपराध करने वाला दावा करता है, शिकार होने वाला नकार देता है. फिर भी हम आपको इस नए अपराध के बारे में बताएंगे.

बात हो रही है टेलिकॉम कंपनी Airtel के डेटा में सेंधमारी की. सोशल मीडिया पर एक पोस्ट नजर आ रहा जिसमें दावा किया जा रहा है कि एयरटेल के 37.5 करोड़ यूजर्स का डेटा लीक हो गया है. मतलब उनका नाम, ईमेल, बैंक डिटेल्स, पता सब हैक हो चुका है. इतना ही नहीं, जून 2024 का अपडेटेड डेटा बिक्री के लिए भी उपलब्ध है. क्या हुआ, पढ़ कर लगा ना वही. अरे यार रोज ही कोई कंपनी के साथ ऐसा होता है. सही बात. आगे भी वही.

Image
सोशल मीडिया पोस्ट 

Airtel ने क्या कहा,

"ये एयरटेल की छवि बिगाड़ने का निराशाजनक प्रयास है. हमने अपने स्तर पर जांच की और एयरटेल के सिस्टम में कोई सेंधमारी नहीं हुई है."

सोशल मीडिया पोस्ट से इतर कंपनी का आधिकारिक बयान भी हमारे पास है. इसके मुताबिक, 

"कथित डेटा ब्रीच में जून 2024 तक अपडेट किए गए 375 मिलियन ग्राहक विवरण शामिल हैं. दावा किया गया कि ब्रीच में मोबाइल नंबर, नाम, जन्म तिथि, पिता का नाम, स्थानीय पता, स्थायी पता, वैकल्पिक नंबर, ईमेल आईडी, लिंग, राष्ट्रीयता, कनेक्शन प्रकार, सिम एक्टिवेशन तिथि, आधार, फोटो आईडी प्रमाण और एड्रेस प्रूफ से जुड़ा डेटा शामिल हैं. एक गैर-प्रमाणिक डेटा हैकर जिसका नाम ज़ेनज़ेन है, कथित तौर पर इस डेटा को डार्क वेब पर 50 हजार अमेरिकी डॉलर (41 लाख रुपये) में बेचने की बात कर रहा है. एयरटेल इंडिया डेटा उल्लंघन के दावों का खंडन करता है."

ये भी पढ़ें: गूगल ने आपको Dark Web से बचाने की पहल की है, ताकि प्राइवेसी बाजार में नीलाम ना हो

चलिए भई, आपने अपना पक्ष रखा तो हमने जनता को बता दिया. लेकिन ये भी सच है कि जब भी ऐसी खबरें आती हैं तो हर कंपनी इसी तरह का रटा हुआ जवाब चिपका देती है.

अब बात आपकी. यानी यूजर की. मान भी लेते हैं कि कछु डेटा उल्लंघन नहीं हुआ है. लेकिन तब भी आप अपने स्तर पर सावधानी रख लीजिए.

अगर एयरटेल यूजर हैं तो ऐप में जाकर उसको लॉगआउट करके लॉगिन कर लीजिए.

Airtel
Airtel 

और कर भी क्या सकते हैं.

ये भी पढ़ लीजिए: Jio, Airtel ने मोबाइल नंबर पोर्ट करना बंद कर दिया क्या?

वीडियो: मुंबई एयरपोर्ट से बाहर निकलते हार्दिक पंड्या का ये अंदाज वायरल हो गया

thumbnail

Advertisement

Advertisement