The Lallantop
Advertisement

क्लास में लड़कियों को गंदी गालियां बकने वाला प्रोफेसर अब तक बर्खास्त क्यों नहीं हुआ है?

धूप से लेकर तेज बारिश तक, हाथों में तख्ती लिए प्रदर्शन कर रहीं लड़कियां.

Advertisement
Img The Lallantop
प्रदर्शन करते स्टूडेंट्स. (फोटो- सुरेंद्र सिंह)
font-size
Small
Medium
Large
22 सितंबर 2021 (Updated: 22 सितंबर 2021, 18:50 IST)
Updated: 22 सितंबर 2021 18:50 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

हरियाणा का सोनीपत ज़िला. यहां के गोहाना के खानपुर में एक मेडिकल कॉलेज है- भगत फूल सिंह महिला मेडिकल कॉलेज. इस वक्त इस कॉलेज में MBBS कर रही स्टूडेंट्स विरोध प्रदर्शन कर रही हैं. कल यानी 21 सितंबर को धूप में खड़े होकर प्रोटस्ट किया, आज यानी 22 सितंबर को गिरते पानी में खड़ी रहीं. सवाल उठता है कि ये प्रदर्शन क्यों? दरअसल, ये महिला स्टूडेंट्स, एक प्रोफेसर को बर्खास्त करने की मांग कर रही हैं. उस प्रोफेसर पर महिला स्टूडेंट्स को गाली देने का और अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने का आरोप लगा है. प्रोफेसर का नाम है सुमित कुमार.

क्या है मामला?

'इंडिया टुडे' से जुड़े पत्रकार सुरेंद्र सिंह की रिपोर्ट के मुताबिक, मामले की शुरुआत 16 सितंबर से हुई थी. प्रोफेसर सुमित कुमार माइक्रो बायोलॉजी की क्लास ले रहे थे. उन्होंने स्टूडेंट्स को पढ़ाने से पहले कहा था कि पढ़ाई गई चीज़ों को बाद में वो उनसे पूछेंगे भी. सब कुछ पढ़ाने के बाद उन्होंने बारी-बारी से स्टूडेंट्स से रिवाइज़ करने के कहा. जब ये प्रोसेस चल रही थी, उसी दौरान कुछ स्टूडेंट्स ने ताली बजाना शुरू कर दिया. इस पर प्रोफेसर पहले क्लास से बाहर चले गए. फिर कुछ देर बाद लौटे और गंदी-गंदी गाली देने लगे. अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने लगे. ये सारे आरोप स्टूडेंट्स ने प्रोफेसर पर लगाए हैं. इस घटना का एक कथित वीडियो भी सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है, जिसमें एक प्रोफेसर बहुत ही बुरी गालियां देते सुनाई आ रहे हैं. गालियां इतनी गंदी हैं और ऐसी-ऐसी बातें कही गई हैं, जिसे हम न तो आपको सुना सकते हैं और न ही बता सकते हैं.

इसी घटना को लेकर अब जमकर विरोध प्रदर्शन हो रहा है. छात्राओं का कहना है कि वो नहीं चाहतीं कि अब ये प्रोफेसर उनके आस-पास भी दिखाई दें. उन्हें बर्खास्त करने की मांग की जा रही है.

कॉलेज वाले क्या कहते हैं?

अब बताते हैं कि कॉलेज प्रशासन ने इस मामले पर अब तक क्या कार्रवाई की है. स्टूडेंट्स द्वारा शिकायत मिलने के बाद एक जांच बैठाई गई. आरोपी प्रोफेसर से पूछताछ की गई, जहां प्रोफेसर ने क्लास में अभद्र भाषा के इस्तेमाल की बात कुबूल कर ली. बताया कि गुस्से में उनसे वो सारी बातें निकल गईं. कॉलेज के डायरेक्टर राजीव महेंद्रू ने बताया कि प्रोफेसर सुमित कुमार को कुछ दिनों के लिए फोर्स्ड लीव पर भेज दिया गया है.

स्टूडेंट्स की डिमांड है कि प्रोफेसर सुमित कुमार को बर्खास्त किया जाए, लेकिन कॉलेज की तरफ से अभी तक ये कदम नहीं उठाया गया है. ऐसा क्यों? ये जानने के लिए हमारे साथी नीरज ने डायरेक्टर डॉक्टर राजीव महेंद्रू से बात की. कहा-

"मामले के सामने आते ही प्रोफेसर सुमित कुमार को प्रशासन ने 6 दिन की फोर्स्ड लीव पर भेज दिया है साथ ही जांच में प्रोफेसर सुमित कुमार ने क्लास में अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने वाली बात भी कुबूल कर ली है. जांच कमिटी की रिपोर्ट प्रशासन को भेज दी गई है, अब आगे की कार्रवाई का फैसला वहीं से होगा."

माने अभी प्रोफेसर को बर्खास्त नहीं किया गया है. केवल फोर्स्ड लीव पर भेजा गया है. और स्टूडेंट्स चाहते हैं कि उन्हें बर्खास्त किया जाए. स्टूडेंट्स अपने प्रोटेस्ट में जिन तख्तियों का इस्तेमाल कर रहे हैं, उनमें बड़े-बड़े अक्षरों में लिखा है- TERMINATE. वहीं ट्विटर पर भी #terminate_sumitkumar के साथ विरोध जताया जा रहा है. स्टूडेंट्स का कहना है कि जब तक उनकी बात नहीं मानी जाएगी, वो प्रदर्शन जारी रखेंगे.

thumbnail

Advertisement