The Lallantop
Advertisement

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021: जानिए मंगलकोट सीट से किसकी हुई जीत

जानिए मंगलकोट सीट से जुड़ी हर खास बात.

Advertisement
Img The Lallantop
टीएमसी उम्मीदवार अपूर्बा चौधरी प्रचार के दौरान. फोटो. फेसबुक
font-size
Small
Medium
Large
2 मई 2021 (Updated: 2 मई 2021, 04:38 IST)
Updated: 2 मई 2021 04:38 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share
सीट का नाम: मंगलकोट (पूर्व बर्धमान) कौन जीता?नाम- अपूर्बा चौधरी (TMC) कितने वोट मिले- 107596कौन हारा?नाम- राणा प्रताप गोस्वामी (BJP) कितने वोट मिले- 85259पिछले चुनावों के नतीजे: - साल 2016 में हुए विधानसभा चुनाव में यहां से तृणमूल कांग्रेस के सिद्दीकुल्लाह चौधरी (Siddiqullah Chowdhury) जीते थे. उनको 89,812 वोट मिले थे. दूसरे स्थान पर सीपीआई (एम) के शाहजहां चौधरी रहे थे जिनको 77,938 वोट मिले थे. - साल 2011 में सीपीआई (एम) के शाहजहां चौधरी यहां से जीते थे. उनको 81,316 वोट मिले थे. दूसरे स्थान पर तृणमूल कांग्रेस के अपूर्बा चौधरी रहे जिनको 81,190 वोट मिले थे. 126 वोटों से शाहजहां चौधरी जीत गए थे. ये चुनाव काफी कांटे की टक्कर का रहा. सीट ट्रिविया # पश्चिम बंगाल की 294 विधानसभा सीटों में से एक है मंगलकोट विधानसभा सीट. 2021 विधानसभा चुनावों में यहां 22 अप्रैल को वोट डाले गए थे. साल 2016 में यहां 2,27,826 मतदाता थे. जिनमें से 1,18,457 पुरुष और 1,09,367 महिला मतदाता थीं. # मंगलकोट विधानसभा सीट पर राजनीतिक हिंसा का लंबा इतिहास रहा है. ऐसा माना जाता है कि यहां जो भी पार्टी सत्ता में आई, उसने यहां के बाहुबलियों को पार्टी में शामिल किया. वैसे तो यहां मुस्लिम आबादी अधिक है लेकिन इस बार बीजेपी भी मजबूत स्थिति में है. स्थानीय मीडिया में छपी खबरों के मुताबिक लेफ्ट से जुड़े नेताओं ने टीएमसी को हराने के लिए बीजेपी को सपोर्ट किया है. # यहां अधिकतर आबादी खेती-किसानी करती है और इस बार स्थानीय मुद्दों के ज्यादा ममता-मोदी चर्चा में हैं. टीएमसी के सिद्दीकुल्लाह चौधरी ने इस बार यहां से चुनाव लड़ने से इंकार कर दिया था जिसके बाद पार्टी ने अपूर्बा चौधरी को टिकट दिया था. जिनसे टक्कर लेने के लिए बीजेपी ने राणा प्रताप गोस्वामी को मैदान में उतारा.

thumbnail

Advertisement

election-iconचुनाव यात्रा
और देखे

Advertisement

Advertisement