The Lallantop
Advertisement

तारीख: सम्राट अशोक के आक्रमण का कलिंग ने बदला कैसे लिया?

श्रीलंका की लगभग 75 % आबादी खुद को सिंहल कहती है. और बौद्ध धर्म ग्रंथों के अनुसार इनका एक सम्बन्ध कलिंग से है. कलिंग का नाम सुनते ही हमें याद आते हैं सम्राट अशोक. कलिंग के युद्ध के बाद ही अशोक ने बौद्ध धर्म अपनाया था. लेकिन सवाल ये कि अशोक ने कलिंग पर आक्रमण किया क्यों?

Advertisement
font-size
Small
Medium
Large
3 अप्रैल 2024 (Updated: 3 अप्रैल 2024, 09:10 IST)
Updated: 3 अप्रैल 2024 09:10 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

बौद्ध धर्म के ग्रन्थ महावंश में एक कहानी का जिक्र मिलता है. बात ईसा पूर्व छठी शताब्दी की है. कलिंग देश की एक राजकुमारी के दो बेटे पैदा होते हैं. लेकिन एक शेर उन्हें जंगल में कैद कर लेता है. राजकुमारी का बेटा सिंहबाहु बड़ा होकर शेर को मार डालता है. बाद में सिंहबाहु का एक बेटा पैदा होता है. विजय. विजय सिंहपुर नाम के एक राज्य की नींव रखता है. लेकिन राज शुरू करने से पहले ही उसे देश निकाला दे दिया जाता है. विजय इसके बाद 700 लोगों की एक सेना बनाकर दक्षिण की तरफ जाता है. और स्थानीय कबीलों को हराकर राजा बन जाता है. राजा बनने के बाद विजय अपने पिता सिंहबाहु की उपाधि हासिल करते हैं. इसके बाद उनके वंशजों को सिंह नाम से जाना जाता है. बौद्ध ग्रंथों के अनुसार विजय जिस देश के राजा बने थे. उसका नाम था श्रीलंका. और उन्हीं के वंशज आगे जाकर सिंहल कहलाए. सिंहल जैसा हम जानते हैं. श्रींलका में रहने वाला सबसे बड़ा समुदाय है. श्रीलंका की लगभग 75 % आबादी खुद को सिंहल कहती है. और बौद्ध धर्म ग्रंथों के अनुसार इनका एक सम्बन्ध कलिंग से है. कलिंग का नाम सुनते ही हमें याद आते हैं सम्राट अशोक. कलिंग के युद्ध के बाद ही अशोक ने बौद्ध धर्म अपनाया था. लेकिन सवाल ये कि अशोक ने कलिंग पर आक्रमण किया क्यों? और अशोक के अलावा कलिंग का इतिहास क्या कहता है? इन सवालों के जवाब जानेंगे आज के एपिसोड में. 

thumbnail

Advertisement

election-iconचुनाव यात्रा
और देखे

Advertisement

Advertisement