The Lallantop
Advertisement

तारीख: कहानी नादिर शाह की, जो भारत से कोहिनूर लूटकर ले गया था.

Nadir Shah ने साल 1714 में अपनी ज़िंदगी की पहली जंग लड़ी. इस जंग में नादिर शाह ने वो बहादुरी दिखाई, कि उसे ईरान के बादशाह ने दरबार में बुलाया और सबके सामने इनाम दिया.

Advertisement
font-size
Small
Medium
Large
16 फ़रवरी 2024
Updated: 16 फ़रवरी 2024 09:20 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

नादिर शाह (Nadir Shah) ने जब दिल्ली पर हमला किया, तो कहते हैं, वो यहां से 100 करोड़ रुपए बराबर दौलत लेकर गया था. जिसमें कोहिनूर जैसा बहुमूल्य हीरा भी शामिल था. हालांकि नादिर शाह दिल्ली पर क़ब्ज़ा नहीं करना चाहता था. इसलिए समझौते के तौर पर उसने अपने बेटे नसरुल्लाह की शादी मुग़ल बादशाह मुहम्मद शाह की भतीजी यानी औरंगज़ेब की पड़पोती से कर दी. मुग़लों में परम्परा थी कि वो दूल्हे की सात पीढ़ियों का पता कराते थे. जब नादिर शाह के बेटे के बारे में पूछा गया, तो उसने जवाब भिजवाया कि कह दो जाकर कि वो नादिर शाह का बेटा है, जो तलवार इब्ने तलवार इब्ने तलवार है और सत्तर पीढ़ियों से ऐसा ही है. आज तारीख में कहानी उसी नादिर शाह की. पूरी कहानी जानने के लिए देखिए वीडियो.

thumbnail

Advertisement

election-iconचुनाव यात्रा
और देखे

Advertisement

Advertisement