The Lallantop
Advertisement

किताबी बातें: भगत सिंह के गुरू इंदिरा के विरोधी को कंधे पर लादकर दौड़े, नेहरू बोले दिल्ली आ जाओ

चम्बल के डाकुओं के लिए क्यों रो पड़े थे जेपी?

Advertisement
font-size
Small
Medium
Large
10 अगस्त 2023 (Updated: 10 अगस्त 2023, 17:00 IST)
Updated: 10 अगस्त 2023 17:00 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

आज कहानी, प्रवीण झा की लिखी किताब, “जेपी, नायक से लोकनायक’ में से जयप्रकाश नारायण की. जब उन्होंने नेहरू का ऑफ़र ठुकरा दिया. इंदिरा ने कहा राष्ट्रपति बनो तो क्या जवाब मिला? किस्सा वो भी, जब इंदिरा की गिरफ्तारी के विरोध में उनके समर्थकों ने प्लेन हाईजैक कर लिया था. चम्बल के डाकुओं के लिए क्यों रो पड़े थे जेपी? इन सभी सवालों के जवाब जानने के लिए देखें वीडियो. 

thumbnail

Advertisement