The Lallantop
Advertisement

'अयोध्या में जामवंत दर्शन करने आए' भालुओं के झुंड का वीडियो वायरल, सच्चाई क्या है?

यूजर ने वायरल वीडियो शेयर करते हुए लिखा, 'कोई चमत्कार अथवा प्रभु दर्शन के लिए. भालुओं का झुंड पहुंचा अयोध्या भालू अपने 4 शावकों के साथ आए अयोध्या'

Advertisement
Bear Viral Video Ayodhya Fact Check
अयोध्या का नहीं है ये वीडियो (तस्वीर:सोशल मीडिया)
13 जनवरी 2024 (Updated: 13 जनवरी 2024, 17:28 IST)
Updated: 13 जनवरी 2024 17:28 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

दावा:

अयोध्या में राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा होने में लगभग 10 दिन बाकी है. उससे पहले सोशल मीडिया पर राम मंदिर और अयोध्या में होने वाले कार्यक्रम को लेकर कई वीडियो और फोटो शेयर किए जा रहे हैं. इसी कड़ी में एक वीडियो वायरल है जिसमें भालुओं का झुंड देखा जा सकता है. यूजर्स इसे शेयर करके दावा कर रहे हैं कि वीडियो अयोध्या का है. रामायण में भालुओं का विशेष स्थान है. लंका पर चढ़ाई करने के दौरान भगवान राम के सेनापति जामवंत नाम के एक भालू थे.

सोशल मीडिया प्लेटफार्म 'एक्स' पर एक यूजर ने वायरल वीडियो शेयर करते हुए लिखा, 'कोई चमत्कार अथवा प्रभु दर्शन के लिए. भालुओं का झुंड पहुंचा अयोध्या भालू अपने 4 शावकों के साथ आए अयोध्या'

 सोशल मीडिया पर वायरल तस्वीर

इसी तरह कई अन्य यूजर्स ने भी वायरल वीडियो को अयोध्या का बताकर शेयर किया है जिसे आप यहां देख सकते हैं.

 

पड़ताल:

क्या भालुओं के झुंड का वीडियो अयोध्या का है? इसकी सच्चाई जानने के लिए हमने गूगल पर कुछ कीवर्ड सर्च किए.

हमें दैनिक भास्कर की वेबसाइट पर 3 जनवरी, 2024 को पब्लिश की गयी एक रिपोर्ट मिली. इसमें वायरल हो रहे भालुओं के झुंड का वीडियो देखा जा सकता है. रिपोर्ट के अनुसार, यह मध्यप्रदेश के शहडोल इलाके का वीडियो है. जहां के अमझोर वनपरिक्षेत्र के वनसुकली गांव के आसपास भालुओं का कुनबा गांव में घुस आया था. स्थानीय लोगों ने किसी तरह भालुओं के झुंड को गांव से बाहर खदेड़ा.

भालुओं के इस झुंड में एक मादा भालू के अलावा उसके चार बच्चे भी थे.

इसके अलावा पत्रिका की वेबसाइट पर एक सप्ताह पहले छपी रिपोर्ट में भी इस घटना का जिक्र है. जहां शहडोल के गांव में दिखे भालुओं के झुंड का वीडियो मॉर्निंग वॉक पर निकले कुछ लोगों ने बनाकर वायरल कर दिया था.

हमने मामले की पुष्टि के लिए इंडिया टुडे के मध्य प्रदेश ब्यूरो हेड रवीश पाल से संपर्क किया. उन्होंने भी बताया वीडियो शहडोल का है जब कुछ दिन पहले भालुओं का एक झुंड वहां के वनसुकली गांव में आ पहुंचा था.

हमने शहडोल के वनविभाग से भी संपर्क करने का प्रयास किया है. उनका जवाब आने पर लेख अपडेट किया जाएगा.

निष्कर्ष

कुल मिलाकर, हमारी पड़ताल में ये स्पष्ट है कि मध्यप्रदेश के शहडोल में दिखे भालुओं के झुंड का वीडियो अयोध्या का बताकर भ्रामक दावे के साथ वायरल किया गया है.

पड़ताल की वॉट्सऐप हेल्पलाइन से जुड़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.
ट्विटर और फेसबुक पर फॉलो करने के लिए ट्विटर लिंक और फेसबुक लिंक पर क्लिक करें.

thumbnail

Advertisement