The Lallantop
Advertisement

पड़ताल: क्या चंद्रशेखर आजाद बिना सीट लिए अखिलेश संग गठबंधन करने जा रहे हैं?

भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद यूपी की नगीना लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने का ऐलान कर चुके हैं. उन्हें केंद्र सरकार ने Y प्लस सुरक्षा मुहैया कराई है. इस बीच उनका एक वीडियो वायरल हो रहा है. इस दावे के साथ कि वो अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी के साथ जा सकते हैं. आइए पड़ताल करें. सच जानें.

Advertisement
chandra shekhar azad two year old video on akhilesh yadav shared as recent
चंद्रशेखर का अखिलेश को लेकर दिया गया एक बयान सोशल मीडिया पर अभी वायरल. (तस्वीर:PTI)
3 अप्रैल 2024 (Updated: 3 अप्रैल 2024, 20:36 IST)
Updated: 3 अप्रैल 2024 20:36 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share
दावा:

लोकसभा चुनाव 2024 की शुरुआत हो चुकी है. सारे राजनैतिक दल टिकट बंटवारे और चुनाव प्रचार में जुट गए हैं. इस दौरान भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद यूपी की नगीना लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने का दावा ठोक चुके हैं. इसी बीच उनका एक वीडियो वायरल है जिसमें वे कह रहे हैं,

“आज अखिलेश भैया कहें कि उत्तर प्रदेश में भाजपा को रोकने के लिए हमें छोटे भाई की जरूरत है. मैं उसको कुछ नहीं दूंगा. वो आ जाए और इस गठबंधन को चुनाव लड़ाए तो आज चंद्रशेखर बहुजन समाज के हित के लिए सबकुछ त्याग कर अपने लोगों को समझा कर आ जाएगा.”  

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर समाजवादी पार्टी के युवजन सभा के प्रदेश सचिव बिरेंद्र कुमार यादव ने चंद्रशेखर के वीडियो को शेयर करते हुए लिखा,

“अखिलेश यादव जी मुझे शामिल कर ले मैं एक भी सीट नहीं मांगूंगा चंद्रशेखर आजाद रावण जी."

इसके अलावा एक्स पर ‘बीएसपी सोशल मीडिया’ नाम से बने अकाउंट से भी वायरल वीडियो को शेयर किया गया है.

पड़ताल

क्या चंद्रशेखर आजाद का अखिलेश यादव को लेकर दिए गया बयान हालिया चुनाव के संदर्भ में है? कुछ कीवर्ड सर्च करने पर हमें ‘BBC Hindi’ की वेबसाइट पर 17 फरवरी, 2022 को छपा एक इंटरव्यू मिला. इस इंटरव्यू में चंद्रशेखर ने कहा कि यदि अखिलेश ये कहेंगे कि यूपी में बीजेपी को रोकने के लिए उन्हे चंद्रशेखर की ज़रूरत है तो वे बिना एक सीट लिए भी उनके साथ जाने को तैयार हैं.

इससे एक हिंट मिला कि चंद्रशेखर का अभी वायरल हो रहा बयान संभवत: दो साल पुराना है. कुछ कीवर्ड सर्च करने पर हमें ‘TV9 BharatVarsh’ के Youtube प्लेटफॉर्म पर 16 जनवरी, 2022 को अपलोड किया गया एक वीडियो मिला. वीडियो में चंद्रशेखर के उस बयान को देखा जा सकता है जिसे अभी बताकर शेयर किया जा रहा है. उस वक्त यूपी में विधानसभा चुनाव को लेकर भीम आर्मी और सपा में गठबंधन होने की चर्चा चल रही थी. लग रहा था कि चंद्रशेखर और अखिलेश यादव दोनों साथ में चुनाव लड़ेंगे. लेकिन उस दौरान चंद्रशेखर ने एक प्रेस वार्ता कर अखिलेश को दलित विरोधी बता दिया. इसके बाद दोनों के बीच बात नहीं बन सकी.  

दिसंबर 2022 में यूपी की खतौली और रामपुर विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में दोनों की सियासी दोस्ती बन गई. दोनों ने एक दूसरे का साथ दिया और बीजेपी को खतौली सीट पर पटखनी देने में निर्णायक भूमिका निभाई. ऐसा माना जा रहा था कि लोकसभा चुनाव में फिर से दोनों एक साथ आएंगे. लेकिन मीडिया रिपोर्ट के अनुसार,  अखिलेश यादव ने नगीना लोकसभा सीट से मनोज कुमार को उम्मीदवार बनाकर चंद्रशेखर को झटका दे दिया है.

गौरतलब है कि बीते दिनों चंद्रशेखर आजाद को केंद्र सरकार ने Y प्लस कैटगरी की सुरक्षा मुहैया कराई है. उन्हें यह सुरक्षा IB की रिपोर्ट के आधार पर दी गई है. चंद्रेशेखर ने नगीना सीट से अपना नामांकन दाखिल कर दिया है और ‘आजतक’ की रिपोर्ट के अनुसार, उन्हें उसके बाद से धमकियां मिल रही थीं.

निष्कर्ष

कुल मिलाकर, भीम आर्मी के मुखिया चंद्रशेखर आजाद द्वारा अखिलेश यादव के साथ गठबंधन करने वाली बात दो साल पुरानी है. उन्होंने हाल-फिलहाल ऐसा कोई बयान नहीं दिया है.

पड़ताल की वॉट्सऐप हेल्पलाइन से जुड़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें. 
ट्विटर और फेसबुक पर फॉलो करने के लिए ट्विटर लिंक और फेसबुक लिंक पर क्लिक करें. 

वीडियो: Ram Mandir का निर्माण Babri Masjid के गुंबद वाली जगह नहीं हो रहा?

thumbnail

Advertisement