The Lallantop
Advertisement

आचार संहिता के उल्लंघन पर मोदी-शाह से जुड़ा सवाल आया तो CEC ने जवाब नहीं दिया?

लोकसभा चुनाव 2024 की घोषणा वाली प्रेस कॉन्फ्रेंस का एक वीडियो क्लिप शेयर करके दावा किया जा रहा है कि मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने पीएम नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह से जुड़े आचार संहिता के उल्लंघन वाले सवाल का जवाब नहीं दिया. सच क्या है?

Advertisement
did Election Commissione not answer the journalist question on the election code of conduct
पत्रकारों के सवालों का जवाब देते मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार. (तस्वीर:Youtube/ECI)
19 मार्च 2024 (Updated: 19 मार्च 2024, 21:46 IST)
Updated: 19 मार्च 2024 21:46 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share
दावा:

चुनाव आयोग (ECI) ने लोकसभा चुनाव, 2024 की तारीखों का एलान 16 मार्च को कर दिया. देश में 19 अप्रैल से 1 जून तक सात चरणों में आम चुनाव होंगे. इस संबंध में मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी जिसमें उन्होंने चुनाव की तैयारियों को लेकर पत्रकारों के कई सवालों के जवाब दिए. अब इसी कॉन्फ्रेंस का एक छोटा वीडियो क्लिप वायरल है. इसमें एक महिला पत्रकार चुनाव आयुक्त से सवाल पूछ रही है. वीडियो को शेयर करके कहा जा रहा है कि चुनाव आयुक्त ने पत्रकार के उस ‘कठिन’ सवाल का जवाब नहीं दिया.

मामले की पूरी सच्चाई जानने से पहले ये देख लेते हैं कि पत्रकार ने चुनाव आयुक्त से पूछा क्या था. पत्रकार ने चुनाव आयुक्त से सवाल किया,

“आपने अपने भाषण में कहा था कि हेट स्पीच को जगह नहीं देनी चाहिए. आचार संहिता का उल्लंघन करने पर एक समान दृष्टिकोण अपनाएंगे. लेकिन प्रधानमंत्री और अमित शाह के खिलाफ कई शिकायतें सामने आई हैं, जिस पर चुनाव आयोग ने कोई एक्शन नहीं लिया है जबकि आपने विपक्ष के नेताओं पर कार्रवाई की है. ऐसे में अगर आपने समान दृष्टिकोण भी अपनाया, तो क्या विपक्षी नेताओं को अधिक निशाना नहीं बनाया जाएगा, जिन्हें सत्तारूढ़ दल के नेताओं की तुलना में आपकी ओर से अधिक नोटिस मिलेगा?”

पत्रकार का सवाल अब वीडियो की शक्ल में शेयर किया जा रहा है. सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर छत्तीसगढ़ कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव चंदन यादव ने वायरल वीडियो को शेयर करते हुए लिखा,

“मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार की प्रेस कॉन्फ्रेंस में एक पत्रकार ने सवाल पूछा कि चुनाव आयुक्त मोदी-शाह के नफरती बयानों पर कोई कार्रवाई नहीं करता जबकि विपक्षी नेताओं को बात-बात पर नोटिस पकड़ाई जाती है? क्या सबको समान माना जाएगा? वीडियो में जो दिखता है वह यह कि इस सवाल का जवाब नहीं दिया गया और अगले पत्रकार को आवाज़ दी गई. यह शर्मनाक है और आयुक्त की भाजपा के प्रति पक्षधरता का प्रमाण भी.”

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने भी वायरल वीडियो को अपने फेसबुक हैंडल से शेयर करते हुए लिखा, “रीढ़ की हड्डी वाले पत्रकार का सवाल डरपोक चुनाव आयुक्त ने छोड़ दिया.”

पड़ताल

क्या चुनावी आचार संहिता उल्लंघन पर पत्रकार के पूछे गए सवाल का चुनाव आयुक्त ने जवाब नहीं दिया? इसकी सच्चाई जानने के लिए हमने गूगल पर कुछ कीवर्ड सर्च किए. हमें ‘BBC Hindi’ की वेबसाइट पर दो दिन पहले छपी एक रिपोर्ट मिली. रिपोर्ट में चुनाव आयुक्त से पूछे गए सवाल और उनके जवाब छपे हैं. इसमें आचार संहिता के उल्लंघन पर भी किए गए सवाल का जिक्र है. रिपोर्ट से पता चलता है कि CEC राजीव कुमार ने सवाल का जवाब दिया था.

इसके बाद हमने ECI के Youtube चैनल को भी खंगाला. यहां हमें 16 मार्च, 2024 को अपलोड किया गया प्रेस कॉन्फ्रेंस का एक वीडियो मिला. इस वीडियो में पत्रकार मुख्य चुनाव आयुक्त से सवाल कर रहे हैं. करीब 1:00:54 टाइमलाइन पर वायरल वीडियो में दिखाई दे रहीं पत्रकार को चुनाव आचार संहिता पर सवाल पूछते हुए देखा जा सकता है. पत्रकार ने सवाल पूछने से पहले अपने परिचय में बताया कि वे नेशनल हेराल्ड अखबार की पत्रकार Ashlin Mathew हैं.

ECI की प्रेस कॉन्फ्रेंस का पूरा वीडियो देखने पर समझ आता है कि Ashlin Mathew से पहले और उनके बाद भी कई पत्रकारों ने सवाल पूछे. चुनाव आयुक्त ने एकसाथ लगभग सभी सवालों के जवाब दिए.


चुनाव आचार संहिता को लेकर किए गए सवाल का जवाब 1:10:26 टाइमफ्रेम से देखा जा सकता है. राजीव कुमार ने अपने जवाब में कहा,

“MCC (Model Code of Conduct) को लेकर आपने सवाल किया, जिसका जवाब मुझे देना चाहिए. आपने अपने सवाल में हम पर पक्षपात करने का आरोप लगाया. ये सवाल पूछा जाना चाहिए. आपका अधिकार है.”

राजीव कुमार ने आगे कहा,

“आप पिछले 11 चुनावों के जितने आरोप हमारे पास आए हैं उन सबको एक बार पढ़िए. सबको पढ़ने के बाद, सबके नोटिस को देखिए जो हमने दिए हैं. उसमें जहां-जहां कहीं भी उल्लंघन होता दिखे, उस नोटिस के बाद भी, जवाब आने पर भी हमने सब में कार्रवाई की है. जिस किसी के खिलाफ में अगर कोई केस बनेगा, अगर कोई क्यों कितना ही बड़ा स्टार कैंपेनर ही क्यों न हो, हम उसके खिलाफ कार्रवाई करेंगे.”

इससे साफ है कि राजीव कुमार ने चुनाव आचार संहिता को लेकर लगे पक्षपात के आरोपों का जवाब दिया है.

हमें ‘National Herald’ की वेबसाइट पर इस मामले के संबंध में पत्रकार Ashlin Mathew की 16 मार्च को छपी रिपोर्ट मिली. इसमें भी बताया गया है कि मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने आचार संहिता के उल्लंघन पर पूछे गए सवाल का जवाब दिया है.

निष्कर्ष

कुल मिलाकर, चुनाव आयुक्त ने बिना किसी नेता का नाम लिए चुनावी आचार संहिता पर पूछे गए सवालों के जवाब दिए थे. ECI की प्रेस कॉन्फ्रेंस का अधूरा वीडियो भ्रामक दावे के साथ शेयर किया जा रहा है. 

पड़ताल की वॉट्सऐप हेल्पलाइन से जुड़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें. 
ट्विटर और फेसबुक पर फॉलो करने के लिए ट्विटर लिंक और फेसबुक लिंक पर क्लिक करें. 

thumbnail

Advertisement