The Lallantop
Advertisement

मोरक्को भूकंप: क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने अपना होटल पीड़ितों के लिए खुलवा दिया, सच क्या है?

दावा है कि क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने मोरक्को भूकंप से प्रभावित हुए लोगों के लिए अपना होटल Pestana CR7 खोल दिया है.

Advertisement
cristiano ronaldo hotel refugee camp morocco earthquake victims fact check
क्रिस्टियानो रोनाल्डो की फोटो और साथ में हो रहा वायरल दावा. (तस्वीर: Reuters, तस्वीर: ट्विटर@mushtaque_)
14 सितंबर 2023 (Updated: 14 सितंबर 2023, 15:39 IST)
Updated: 14 सितंबर 2023 15:39 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share
दावा:

क्रिस्टियानो रोनाल्डो (Cristiano Ronaldo).पुर्तगाल की फुटबॉल टीम के कप्तान और दुनिया के सबसे अमीर खिलाड़ियों में से एक हैं. क्रिस्टियानो अपने खेल के अलावा चैरिटी के कारण भी चर्चा में रहते हैं. इसी बीच उत्तरी अफ्रीका के देश मोरक्को (Morocco) में आए भूकंप के बाद क्रिस्टियानो रोनाल्डो खबरों में हैं. उनको लेकर किया गया एक दावा सोशल मीडिया पर बहुत वायरल है. कहा जा रहा है कि क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने मोरक्को में शरणार्थियों की मदद की है. दावा है कि रोनाल्डो ने वहां भूकंप से प्रभावित हुए लोगों के लिए अपना होटल ‘Pestana CR7’ खोल दिया है.

कई मीडिया संस्थानों की वेबसाइट पर और ट्विटर (X), फेसबुक और यूट्यूब जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर यह दावा शेयर किया गया है.

मिसाल, के तौर पर स्पेन के खेल अखबार Marca, नाइजेरिया की मीडिया वेबसाइट Punch News और सऊदी अरब का मीडिया आउटलेट Gulf News ने रोनाल्डो द्वारा शरणार्थियों के मदद की बात छापी है.

Marca और Gulf News पर छपी  खबर का स्क्रीनश़ॉट


इसके अलावा कई सोशल मीडिया यूजर्स ने भी ये दावा किया है, जिनके ट्वीट आप नीचे देख सकते हैं.


पड़ताल

‘दी लल्लनटॉप’ की पड़ताल में यह दावा भ्रामक साबित हुआ. क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने मोरक्को को अपने होटल को शरणार्थियों के लिए नहीं खोला है.

दावे की सच्चाई जानने के लिए हमने क्रिस्टियानो रोनाल्डो के आधिकारिक सोशल मीडिया हैंडल्स और उनकी वेबसाइट खंगाले, लेकिन हमें वहां ऐसी कोई जानकारी नहीं मिली, जिससे वायरल दावे की पुष्टि होती हो.

इसके बाद हमने गूगल पर कुछ कीवर्ड सर्च किए. फुटबॉल की खबरों से जुड़ी वेबसाइट ‘Goal’ ने वायरल दावे का खंडन किया है. उसने अपनी रिपोर्ट में फ्रांस की मीडिया वेबसाइट ‘लिबरेशन’ के हवाले से बताया है कि क्रिस्टियानो के होटल को किसी भी तरह से भूकंप पीड़ितों के लिए रिसेप्शन सेंटर में तब्दील नहीं किया गया है.

Goal की रिपोर्ट का स्क्रीनशॉट.

‘लिबरेशन’ से बातचीत में ‘Pestana CR7’ होटल के मैनेजर ने वायरल दावे का खंडन किया है. उन्होंने बताया, “होटल को लेकर ग़लत जानकारी वायरल हो रही है. इस समय हमारे पास जितने भी ग्राहक हैं, उन सबने नॉर्मल बुकिंग कराई है.”

फ्रांस की मीडिया वेबसाइट Liberation का स्क्रीनशॉट.


इसके अलावा हमें मीडिया वेबसाइट ‘मोरक्को वर्ल्ड’ की एक रिपोर्ट मिली. इसमें बताया गया है कि यह खबर‘मार्का’ जैसे अखबार में प्रकाशित होने के बाद से वायरल हो गई थी. 8 सितंबर को मोरक्को में आए भयानक भूकंप से ‘पेस्टाना सीआर7’ होटल प्रभावित नहीं हुआ था. विभिन्न मीडिया आउटलेट में वायरल दावा छपने के बाद होटल मैनेजमेंट को रूम के लिए कई लोगों की अचानक से रिक्वेस्ट आनी शुरू हो गईं. रिपोर्ट के मुताबिक, होटल ने अपने पक्ष में कहा, “यह कहना सही नहीं है कि हम भूकंप पीड़ितों की आधिकारिक रूप से मदद कर रहे हैं. हां, ये बात हो सकता है कि होटल की लॉबी में कुछ बेघर लोग फौरी तौर पर शरण लिए हों.”

इसके अलावा ‘दी लल्लनटॉप’ ने भी ‘पेस्टाना सीआर7’ होटल से भी संपर्क किया है. उनका जवाब आने पर लेख को अपडेट किया जाएगा.

बता दें, मोरक्को में बीते 8 सितंबर को पिछले छह दशक से भी अधिक समय का सबसे घातक भूकंप आया था. इसकी तीव्रता रिक्टर स्केल पर 6.8 मापी गई थी. इस दौरान करीब 2800 से अधिक लोगों की मौत हो गई हैं, वहीं 2500 से अधिक लोग घायल हैं.

नतीजा

कुलमिलाकर, हमारी पड़ताल में वायरल दावा भ्रामक निकला. क्रिस्टियानों रोनाल्डो के होटल ने मोरक्को भूकंप से पीड़ित शरणार्थियों के लिए अपने रूम नहीं खोले हैं. 

पड़ताल की वॉट्सऐप हेल्पलाइन से जुड़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.
ट्विटर और फेसबुक पर फॉलो करने के लिए ट्विटर लिंक और फेसबुक लिंक पर क्लिक करें.
 

वीडियो: पड़ताल: मोहम्मद बिन सलमान के साउदी अरब ने पीएम मोदी की सोने की मूर्ति बनाई? पूरा सच ये है

thumbnail

Advertisement