The Lallantop
Advertisement

घर पर चला बुलडोजर तो रोने लगी महिला, वीडियो 'अयोध्या में BJP की हार' के नाम पर शेयर, सच ये है

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल है जिसमें महिला अपने बच्चे को गोद में लेकर रोते हुए नज़र आ रही हैं. वीडियो को अयोध्या का बताया जा रहा है. हालांकि ये सच नहीं है.

Advertisement
after lok sabha result viral video of maharashtra woman crying is shared as of ayodhya
वीडियो को लोकसभा चुनाव के बाद अयोध्या का बताकर शेयर किया गया है. (तस्वीर:सोशल मीडिया)
6 जून 2024 (Updated: 6 जून 2024, 16:43 IST)
Updated: 6 जून 2024 16:43 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

लोकसभा चुनाव 2024 के घोषित नतीजों में बीजेपी की सीटें कम हुई हैं. सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है उत्तर प्रदेश में. बीजेपी यहां ऐसी सीटों पर भी हारी है जहां इसकी कल्पना भी नहीं की जा रही थी. फैजाबाद में मिली BJP की हार को लेकर कई तरह के विश्लेषण सामने आ रहे हैं, क्योंकि अयोध्या इसी जिले में आती है. जहां कुछ महीने पहले ही भव्य राम मंदिर का निर्माण हुआ है. ‘द लल्लनटॉप’ ने भी अयोध्या में BJP को मिली हार की वजहें बताई हैं, जिन्हें आप यहां देख सकते हैं और यहां पढ़ सकते हैं.

इधर सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल है जिसमें कुछ महिलाएं अपने बच्चे को गोद में लेकर रोते हुए नज़र आ रही हैं. वीडियो में बुलडोजर से अतिक्रमण हटाने का काम चल रहा है. ये फुटेज सोशल मीडिया पर खूब वायरल है और इसे ‘अयोध्या’ का बताया जा रहा है. एक्स पर एक यूजर ने वीडियो को शेयर करते हुए लिखा, “आखिर क्यों न अयोध्या हारे BJP, अत्याचार (पर) गरीबों की हाय लगेगी ही न.”

वीडियो को एक्स पर कई अन्य यूजर्स ने शेयर किया है जिसे आप यहां और यहां देख सकते हैं. इसके अलावा वीडियो इंस्टाग्राम पर भी अयोध्या का बताकर वायरल है.

अयोध्या का बताकर शेयर किए गए वीडियो का स्क्रीनशॉट.

पड़ताल

क्या रोती हुई महिला का वीडियो अयोध्या का है? कुछ यूजर्स ने कमेंट करके इसे महाराष्ट्र के संभाजीनगर का बताया है. वायरल वीडियो को ध्यान से देखने पर हमें ‘jaihindshakeel.khan98’ का वाटरमार्क नज़र आया. इसे इंस्टाग्राम पर खोजने पर हमें ‘Lokmat Times’ के फोटो पत्रकार शकील खान की प्रोफाइल मिली. यहां वायरल वीडियो मौजूद है जिसे 22 फरवरी, 2024 को अपलोड किया गया है. वीडियो के साथ औरंगाबाद के हैशटैग लिखे गए हैं.

पत्रकार शकील खान के इंस्टाग्राम पर अपलोड किया गया वीडियो. 

हमें पत्रकार शकील खान की फेसबुक प्रोफाइल पर 22 फरवरी को लोकमत अखबार में छपी खबर का स्क्रीनशॉट मिला. इसमें संभाजीनगर में अतिक्रमण हटाने को लेकर हुई कार्रवाई को लेकर खबर छपी है. खबर के साथ कई फोटो मौजूद हैं. इनमें से एक फोटो में रेलवे लाइन के पास बुलडोजर दिखाई दे रहा है. और यही दृश्य वायरल वीडियो में भी मौजूद है.

अखबार में छपी खबर का स्क्रीनश़ॉटय

फोटो के साथ कैप्शन में दी गई जानकारी के अनुसार, छत्रपति संभाजीनगर के विश्रांति नगर में जेसीबी के सहारे मकान ढहाए गए. फोटो का क्रेडिट शकील खान और फिरोज़ खान को दिया गया है.

हमने शकील खान से संपर्क किया जिन्होंने बताया कि वीडियो महाराष्ट्र का है. उन्होंने बताया, “यह वीडियो संभाजीनगर का है जहां की रेलवे कॉलोनी के पास से अतिक्रमण को हटाया गया था. इससे जुड़ी खबर लोकमत अखबार में भी छपी थी.”

नतीजा

कुल मिलाकर, महाराष्ट्र के संभाजीनगर का 4 महीने पुराना वीडियो यूपी के अयोध्या का बताकर वायरल किया गया है. हालांकि, पिछले कुछ सालों में अयोध्या में बुलडोजर चलाकर अवैध निर्माण को ध्वस्त किया गया है, लेकिन वायरल हो रहा यह वीडियो महाराष्ट्र का है. 

पड़ताल की वॉट्सऐप हेल्पलाइन से जुड़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.
ट्विटर और फेसबुक पर फॉलो करने के लिए ट्विटर लिंक और फेसबुक लिंक पर क्लिक करें.

वीडियो: Ayodhya Ram Mandir के पास इतनी महंगी क्यों मिल रही चाय?

thumbnail

Advertisement

Advertisement