The Lallantop
Advertisement

जिन्होंने शाहरुख को पहली फिल्म दी, शाहरुख ने उनसे चार साल से बात नहीं की

Vivek Vaswani ने Shahrukh Khan को अपने घर में रखा. उनकी पहली फिल्म प्रोड्यूस की. विवेक ने हालिया इंटरव्यू में बताया कि शाहरुख को उन्होंने फोन किया था. मगर बात नहीं हो पाई.

Advertisement
Vivek Vaswani, Shah Rukh Khan
विवेक ने शाहरुख खान के साथ अपने संबंधों पर बात की.
22 फ़रवरी 2024 (Updated: 22 फ़रवरी 2024, 18:36 IST)
Updated: 22 फ़रवरी 2024 18:36 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

एक्टर और फिल्ममेकर Vivek Vaswani ने Shah Rukh Khan के करियर की पहली फिल्म Raju Ban Gaya Gentleman प्रोड्यूस की थी. शाहरुख जब बंबई आए, तो इन्हीं के घर रहे. हालिया इंटरव्यू में विवेक ने शाहरुख खान के बारे में बातचीत की है. उन्होंने बताया कि उनके और शाहरुख के संबंध अब कैसे हैं. विवेक ने ये भी बताया कि चार साल से शाहरुख से उनकी बात नहीं हुई है. उन्हें दो बार कैंसर हुआ. फिर भी शाहरुख ने कभी उनका हालचाल नहीं लिया. क्योंकि उन्होंने शाहरुख को ये बात बताई ही नहीं. हालांकि जब भी मुलाकात होती है, तो दोनों ऐसे मिलते हैं, जैसे कभी बिछड़े ही न हों.   

विवेक वासवानी ने सिद्धार्थ कनन से बातचीत के दौरान बताया कि उन्हें 2 बार कैंसर हुआ था. विवेक कहते हैं-

"साल 2015 में मुझे गॉल ब्लैडर कैंसर हुआ. जल्दी पकड़ा और निकाल दिया. एक साल पहले दोबारा कैंसर हुआ. मेरी आवाज़ में बदलाव हुए. मैंने ENT डॉक्टर को दिखाया, तो पता लगा कि वोकल कोर्ड में ट्यूमर है. इसके बाद स्पेशिलिस्ट को दिखाया. एक साल हुआ है इसके इलाज को. मैं बोल सकता हूं. लेकिन अब गा नहीं सकता. मुझे रेडिएशन के 42 साइकिल लेने पड़े थे. हिन्दुजा हॉस्पिटल के बाहर एक पानी पुरी वाला था, जिससे मैं रेडिएशन से पहले दो प्लेट तीखी पानी पुरी खाता था. जिससे रेडिएशन का असर कम लगता था. अब पता लगता है कि रेडिएशन के वजह से मेरा थायरॉड बढ़ गया है. मगर ठीक है." 

इसी इंटरव्यू में विवेक ने शाहरुख खान के साथ पहली मुलाकात और रिश्ते पर बात की. विवेक ने कहा-

"होटल बांद्रा इंटरनेशनल में मेरी और शाहरुख की पहली मुलाकत हुई थी. (कांटे फेम) संजय गुप्ता उस वक्त कुछ बता रहे थे. किसी शो या फिल्म की बात हो रही थी. उस वक्त संजय ने कहा कि वो लड़का देख रहे हो, मुझे कुछ वैसा लुक चाहिए. वो जो लड़का बैठा था. वो शाहरुख खान था. संजय और मैंने शाहरुख से बात की. बाद में मैं शाहरुख से दोबारा मिला और हम कार में बैठकर एक फिल्म देखने गए साउथ बॉम्बे में. मैंने ब्लैक में टिकट खरीदी. पॉपकॉर्न खरीदे. हमने फिल्म देखी. फिल्म देखने के बाद शाहरुख ने कहा कि मुझे 100 रुपये चाहिए, बांद्रा वापस जाने के लिए. लेकिन मेरे पास नहीं थे. मैंने कहा कि चलो गाड़ी में बैठो, मैं छोड़ दूंगा. लेकिन गाड़ी में उतना पेट्रोल नहीं था. तो मैंने सोचा कि घर पास में है और घर पर मम्मी से पैसे लेकर दे दूंगा. रात के करीब डेढ़ बज रहे थे. जब घर पहुंचे तो मम्मी सो रही थीं. तो मैंने कहा कि यहीं रुक जाओ. सुबह मम्मी से लेकर पैसे दे दूंगा. तुम निकल जाना फिर. हमने रात में बातें की. उस दिन से करीब 2 साल तक शाहरुख खान मेरे घर रहे. इसके बाद वो अजीज़ मिर्ज़ा के घर पर दो साल रहे. इसके बाद वन रूम किचन के फ्लैट में रहा. ये सब तक तक हुआ, जब तक शादी नहीं हुई थी. शाहरुख-गौरी की शादी में मैं मौजूद था."

शाहरुख और उनके स्टारडम पर बात करते हुए विवेक ने आगे कहा-

“मैं इस बात का क्रेडिट नहीं ले सकता है कि मैंने शाहरुख को अपने घर पर रखा. क्योंकि घर तो मेरे पापा-मम्मी का था. उन्होंने रहने दिया. मैं क्रेडिट नहीं ले सकता कि मैंने उसे स्टार बनाया. मैं क्रेडिट ले सकता हूं कि मैंने 'राजू बन गया जेंटलमैन' बनाई. मगर मैं उसके हिट होने का क्रेडिट नहीं ले सकता. शाहरुख ने जो किया, वो उसकी मेहनत रही. मैं बस सही समय पर सही जगह था. 
 

जिस रात शाहरुख मेरे घर पर रुका था उसके अगले दिन हम एक रेस्टॉरेंट में गए. बटर चिकन ऑर्डर किया. वहां शाहरुख ने मुझसे कहा, ‘मेरी मां मर रही हैं’. वो खाना भूल गए. दिल खोलकर बातें कीं. हमने चिकन पैक करवा लिया कि रात को भूख लगेगी, उस वक्त खाएंगे. फिर हम मरीन ड्राइव चले गए. वहां उन्होंने मां के ऑर्गन फेलियर्स के बारे में बताया. मैं दिल्ली में उनकी मां के लिए यहां से महंगी दवाइयां भेजता था. (जब उनकी मां गुज़रीं) तब मैं दिल्ली गया. उनके घर पर रहा. वहां गौरी से मिला. रमन से मिला, जो कि पायलट थे. उनसे ही मैं शाहरुख की मां के लिए दवाइयां भिजवाता था.”

इंटरव्यू में विवेक से पूछा गया कि शाहरुख खान के साथ अपने रिश्ते को कैसे परिभाषित करेंगे. विवेक ने कहा-

"नहीं है रिलेशनशिप. हम मिलते नहीं. हम बात नहीं करते. लेकिन जब हम मिलते हैं, तो ऐसे मिलते हैं जैसे कभी अलग ही नहीं हुए. मैं शाहरुख खान की बेटी के साथ फिल्म डायरेक्ट या प्रोड्यूस करना चाहूंगा. मेरा मानना है कि सुहाना में बहुत पोटेंशियल है. मुझे नहीं लगता कि शाहरुख इसके लिए मना करेंगे. शाहरुख खान सुपरस्टार हैं. मैं आज भी लोकल या बस से ट्रैवल करता हूं. मगर शाहरुख के लिए मेरे घर और दिल के दरवाज़े हमेशा खुले हैं. शाहरुख खान से मैं चार साल पहले पार्टी में मिला था. जब उनका कॉल आया था कि आ जाओ, बच्चों से मिलवाना चाहता हूं. मुझे पार्टी में बहुत मज़ा आया. शाहरुख खान ने मेरे लिए फिल्म 'दूल्हा मिल गया' की और उसके लिए एक भी रुपये फीस नहीं ली. हमारा रिलेशन खास है. शाहरुख को मेरे कैंसर के बारे में नहीं पता था. क्योंकि मैंने बताया नहीं. शाहरुख के पास जिम्मेदारियां हैं. वो पूरा साम्राज्य चला रहे हैं. मुझे उससे कोई शिकायत नहीं है."

विवेक ने बताया कि ‘जवान’ के बाद उन्होंने शाहरुख खान को फोन किया था. मगर उन्होंने फोन नहीं उठाया. जब कॉल बैक आया तो वो नहा रहे थे. फिर ऐसे ही बात नहीं हो पाई. विवेक ने बताया कि इस इंटरव्यू की रिकॉर्डिंग से पहले भी उन्होंने शाहरुख को फोन मिलाया था. मगर बात नहीं हो पाई. विवेक अब फिल्मों से दूर हो गए हैं. वो एक स्कूल में डीन के तौर पर काम करते हैं.

thumbnail

Advertisement

election-iconचुनाव यात्रा
और देखे

Advertisement

Advertisement