The Lallantop
Advertisement

BJP MLA ने कहा, 'हिंदू को छुआ तो हाथ उखाड़ देंगे, दाढ़ी नोचकर चुटिया बना देंगे'

अमेठी की तिलोई विधानसभा सीट से BJP के मौजूदा विधायक हैं मयंकेश्वर शरण सिंह.

Advertisement
Img The Lallantop
Mayankeshwar Sharan Singh अमेठी की तिलोई विधानसभा सीट से बीजेपी के विधायक हैं. (फोटो: फेसबुक/ट्विटर)
font-size
Small
Medium
Large
17 फ़रवरी 2022 (Updated: 17 फ़रवरी 2022, 15:58 IST)
Updated: 17 फ़रवरी 2022 15:58 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share
यूपी का अमेठी जिला कभी कांग्रेस का गढ़ माना जाता था. अब यहां बीजेपी का प्रभुत्व है. केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी अमेठी से सांसद हैं तो यहां की तिलाई विधानसभा सीट पर बीजेपी का कब्जा है. मौजूदा विधायक मयंकेश्वर शरण सिंह को पिछले विधानसभा चुनाव में यहां के 96 हजार से भी ज्यादा वोट मिले थे. तब उन्होंने बीएसपी के मोहम्मद सऊद को 44 हजार वोटों के मार्जिन से हराया था. इन्हीं मयंकेश्वर शरण सिंह का एक वीडियो सोशल मीडिया पर तैर रहा है. इसमें विधायक जी सांप्रदायिक भाषा का इस्तेमाल करते हुए भड़काऊ भाषण देते नजर आ रहे हैं.

'हाथ उखाड़ देंगे, दाढ़ी नोच कर चुटिया बना देंगे'

वीडियो में बीजेपी विधायक मयंकेश्वर शरण सिंह एक चुनावी जनसभा को संबोधित कर रहे हैं. इसमें उन्होंने मुस्लिम समुदाय पर हिंसा करने के आरोप लगाते हुए उन्हें सबक सिखाने की बात कही है. बोले हैं,
तिलोई में हमेशा शांति से चुनाव होता है. लेकिन इस बार कुछ गुंडे चुनाव लड़ने आ गए हैं. सपा का एक गुंडा मोहम्म नईम चुनाव लड़ रहा है. वो पहले भी यहां से चुनाव लड़ चुका है. तब आप लोगों ने उसे करारा जवाब दिया था. चौथे नंबर पर रहकर वो यहां से भाग गया था.
मयंकेश्वर शरण सिंह ने जनसभा को बताया कि विधानसभा क्षेत्र के दो इलाकों में बीजेपी के लोग प्रचार के लिए गए थे, जहां उनकी गाड़ी पर पथराव किया गया. उन्होंने आरोप लगाया कि ये पथराव उन इलाकों में बड़ी संख्या में रह रहे मुस्लिमों द्वारा किया गया था. बीजेपी विधायक कहते हैं,
मैं पूछना चाहता हूं, क्या तिलोई पर गुंडे राज करेंगे? हिंदुस्तान में 18 पर्सेंट मुसलमान हैं, और 82 पर्सेंट हिंदू हैं. ये 18 पर्सेंट एक हो जाते हैं, हम 82 पर्सेंट एक नहीं हो पाते. कोई यादव है, कोई गरड़िया है, कोई मौर्य है, कोई ठाकुर है, कोई ब्राह्मण है, कोई पारसी है... भाइयो ये जात-बिरादरी शादी-ब्याह के लिए है. राजनीति के लिए नहीं है. मेरा आप सबसे आग्रह है, जाकर देखिए उन दो घरों की क्या दुर्दशा है. कोई हिंदू का गांव देख लीजिए. वहां अगर दो घर मुसलमानों के हों तो हम चच्चा-चच्ची कहते थकते नहीं हैं. आराम से रह रहे हैं वहां मुसलमान.
इसके बाद विधायक मयंकेश्वर सिंह कहते हैं,
आप सबके आशीर्वाद से, आप सबकी ताकत से इतनी ताकत मेरे अंदर है कि इनकी ईंट का जवाब पत्थरों से दिया जाएगा. मैं इनको चेतावनी देता हूं कि अगर हमारे एक हिंदू भाई को भी छू लिया तो हम सबने चूड़ी नहीं पहनी है. हाथ तोड़कर, उखाड़कर फेंक देंगे. हिंदुस्तान का हिंदू अगर जाग गया ना तो ये दाढ़ी यहां से नोचकर यहां पीछे चुटिया बना देगा. और हिंदुस्तान में रहना है तो राधे-राधे कहना होगा. वर्ना बंटवारे के समय जो सब पाकिस्तान गए थे, आप भी चले जाइए. यहां कोई जरूरत नहीं है.

कांग्रेस ने घेरा

कांग्रेस पार्टी ने मयंकेश्वर सिंह के इस बयान की आलोचना की है. अमेठी जिला कांग्रेस कमेटी के एक नेता ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा,
"अमेठी जिला कांग्रेस कमेटी तिलोई विधानसभा के लोगों से अपील करती है कि बीजेपी के प्रत्याशी मयंकेश्वर शरण सिंह के बयान पर ध्यान ना देते हुए कांग्रेस प्रत्याशी को वोट देते हुए राजा के अभिमान को खत्म कर दें. सभी हिंदू और मुस्लिम साथियों से अपील है कि आप सभी संयम से रहें और राजा के बिगड़े बोल पर ना जाएं. इन्होंने कोई काम नहीं किया है, इसलिए जनता को भ्रमित करना चाहते हैं. हिंदू मुस्लिम का बड़ा विवाद खड़ा करना चाहते हैं. बीजेपी के प्रत्याशी मयंकेश्वर शरण सिंह मानसिक रूप से बीमार चल रहे हैं."
पुलिस ने क्या कहा? इस भड़काऊ बयानबाजी पर मयंकेश्वर शरण सिंह की प्रतिक्रिया जानने के लिए हमने उन्हें फोन किया. जैसे ही उन्हें बताया गया कि उनकी बात एक पत्रकार से हो रही है, उन्होंने फोन काट दिया. दोबारा मिलाने पर भी उन्होंने जवाब नहीं दिया. हमारी बात अमेठी SP के PRO से भी हुई. उन्होंने बताया कि इस बयान को अमेठी पुलिस ने संज्ञान में ले लिया है और थानाध्यक्ष को जरूरी कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं. इधर अमेठी बीजेपी नाम के एक ट्विटर हैंडल से एक वीडियो ट्वीट किया गया है. इसमें दावा किया गया है कि तिलोई में 16 फरवरी को बीजेपी के चुनाव प्रचार की एक गाड़ी पर समुदाय विशेष ने पथराव किया. साथ ही साथ गाड़ी में मौजूद लोगों से अभद्रता की गई. दावा किया गया कि इस कथित हमले के बाद मयंकेश्वर शरण सिंह घटनास्थल पर पहुंचे और उनके आते ही समर्थकों का जनसैलाब उमड़ पड़ा. बीजेपी के आरोप को लेकर पहले हमने हमारे स्थानीय रिपोर्टर से बात की. उन्होंने ऐसी किसी घटना से इन्कार किया. आधिकारिक जानकारी के लिए हमने अमेठी SP के PRO से भी इस कथित हमले के बारे में जानने की कोशिश की. उन्होंने हमें बताया कि इस तरह की कोई भी घटना पुलिस के संज्ञान में नहीं आई है.

thumbnail

Advertisement

election-iconचुनाव यात्रा
और देखे

Advertisement

Advertisement