The Lallantop
Advertisement

"संभालकर रखना होगा, BJP कुछ भी कर सकती है"- हिमाचल में जीते कांग्रेस उम्मीदवार कहां जाएंगे?

विधायकों की खरीद-फरोख्त न हो सके, इसके लिए कांग्रेस ने क्या प्लानिंग की है?

Advertisement
Himachal Pradesh Assembly elections result
हिमाचल प्रदेश के कुल्लू में जीत का जश्न मनाते कांग्रेस कार्यकर्ता. (फोटो: PTI)
8 दिसंबर 2022 (Updated: 8 दिसंबर 2022, 19:42 IST)
Updated: 8 दिसंबर 2022 19:42 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh Result) विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी ने 40 सीटें जीतकर बहुमत पा लिया है. इस बीच कांग्रेस विधायकों की खरीद-फरोख्त की अटकलें भी लगाई जाने लगीं. हालांकि, कांग्रेस ने पहले से तैयारी कर रखी है. खबर है कि हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव में जीतने वाले कांग्रेस प्रत्याशियों को चंडीगढ़ में इकट्ठा किया जाएगा.

अपने विधायकों को शिफ्ट करेगी कांग्रेस!

कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक, हिमाचल चुनाव में जीत दर्ज करने वाले प्रत्याशियों की चंडीगढ़ में मीटिंग होगी. इसके बाद आगे की रणनीति तय की जाएगी. ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि जीतने वाले कांग्रेस प्रत्याशियों को राजस्थान या छत्तीसगढ़ में भी शिफ्ट किया जा सकता है. आजतक की रिपोर्ट के मुताबिक, कांग्रेस ने विधायकों को लाने-ले जाने की जिम्मेदारी हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा को सौंपी है.  

इस बीच छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल (Chhattisgarh CM Bhupesh Baghel) का बयान सामने आया है. हिमाचल चुनाव नतीजे पर मीडिया से बात करते हुए छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने कहा,

अपने साथियों को संभालकर रखना पड़ेगा क्योंकि भाजपा कुछ भी कर सकती है. किसी भी स्तर पर जा सकती है.

CM बघेल ने कहा कि वो हिमाचल प्रदेश जाएंगे क्योंकि वो वहां के पर्यवेक्षक थे. उन्होंने कांग्रेस के जीते हुए प्रत्याशियों को छत्तीसगढ़ लाए जाने की बात से इनकार किया है.

‘मेघालय और गोवा नहीं बनने देंगे’

आजतक के मनजीत सहगल की रिपोर्ट के मुताबिक, हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के बेटे विक्रमादित्य ने पहले ही कहा था कि हिमाचल में मेघालय और गोवा जैसे हालात नहीं बनने देंगे. उन्होंने कहा था कि चुनावी नतीजों के तुरंत बाद विधायकों को सुरक्षित जगह पर ले जाया जाएगा. कांग्रेस नेता विक्रमादित्य ने कहा था,

हिमाचल की भूमि पर हॉर्स ट्रेडिंग नहीं होने दी जाएगी. चाहे BJP कोई भी प्लान बना ले, एजेंसियों का इस्तेमाल कर ले, या फिर खरीद-फरोख्त की कोशिश कर ले. हम हर हाल में अपने विधायकों को सुरक्षित रखेंगे.

रिपोर्ट के मुताबिक, कांग्रेस नेता राजीव शुक्ला चंडीगढ़ में हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा और छत्तीसगढ़ के CM भूपेश बघेल के साथ मीटिंग करेंगे. उसके बाद हिमाचल में जीते हुए कांग्रेस प्रत्याशियों के साथ चंडीगढ़ या शिमला में मीटिंग करने के बारे में फ़ैसला लिया जाएगा. सूत्रों के मुताबिक, हिमाचल में जीतने वाले विधायकों को चंडीगढ़ पहुंचने के लिये तैयार रहने को कह दिया गया है. 

वीडियो- हिमाचल चुनाव 2022: कांग्रेसियों ने राहुल गांधी के हिमाचल चुनाव में नहीं आने की क्या वजह बताई?

thumbnail

Advertisement

Advertisement